दतिया

जिला आपदा प्रबंधन द्वारा जनहित में जारी

जिला आपदा प्रबंधन द्वारा जनहित में जारी


दतिया से विकास वर्मा की रिपोर्ट
दतिया मानसून के सीजन में आकाशीय बिजली गिरने से कई लोगों की मौत हो जाती है। अतः इस संबंध में अनुराग पचौरी जिला सलाहकार आपदा प्रबंधन (मध्यप्रदेश राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण, गृह विभाग भोपाल) द्वारा आकाशीय बिजली से बचाव हेतु कुछ उपाए बताए गए है। क्या करें, आकाशीय बिजली के समय पक्की छत के नीचे चले जाएं। खिड़की के कांच, टिन की छत, गीले सामान और लोहे के हैंडलों से दूर रहे। आकाशीय बिजली के समय अगर आप पानी में है तुरंत वाहर आ जाएं। खुली जगह पर हो, तो कान पर हाथ रखकर एडियों को आपस में मिलाकर जमीन पर बैठ जाएं। सफर के दौरान वाहन के शीशे चढ़ा कर बैठे रहे। मजबूत छत वाले वाहन में रहे, खुली छत वाले वाहन की सवारी न करें।क्या न करें आकाशीय बिजली के समय पेड़ के नीचे न खड़े हो।आकाशीय बिजली के समय झोपड़ी एवं कच्चों मकान में शरण न ले। बिजली उपकरणों, स्विचों, तारों और टेलीफोन का प्रयोग न करें। दीवार के सहारे टेक लगा के खड़े हो। किसी बिजली के खम्बे के पास खड़े न हो। स्नान करना तुरंत रोक दें। याद रखें आंधी बिजली की स्थित में बाहर खुले में कोई भी स्थान सुरक्षित नहीं होता है। टेलीफोन व पानी की लाईन में विद्युत प्रवाह हो सकता है। आकाशीय बिजली के कारण घायल व्यक्ति को छूना पूर्णतः सुरक्षित है इससे झटका नहीं लगता है। आकाशीय बिजली चेतावनी के लिए अपने मोबाईल में एप डाउनलोड़ करें।

About The Author

Related posts