विज्ञापन के लिए संपर्क करें - 8462072516
विज्ञापन के लिए संपर्क करें - 8462072516
September 25, 2022

विश्व आत्महत्या रोकथाम दिवस के अवसर पर शिविर सम्पन्न

विश्व आत्महत्या रोकथाम दिवस के अवसर पर शनिवार को जिला चिकित्सालय खंडवा में मानसिक स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. शरद हरणे एवं सिविल सर्जन डॉ. ओ.पी. जुगतावत द्वारा आत्महत्या के कारण एवं उससे बचाव के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई। सीएमएचओ डॉ. हरणे ने कहा गया कि आत्महत्या के विचार बार बार आना मानसिक बीमारी के लक्षण हो सकते हैं। आत्महत्या कभी भी कोई समस्या का समाधान नहीं है। इसके लिए जिला चिकित्सालय के मन कक्ष में आकर मनोरोग चिकित्सक से इलाज करवाए, समाज का हर व्यक्ति किसी न किसी समस्या से जूझ रहा है, समस्या का डटकर सामना करें।

         सी.एम.एच.ओ. डॉ. हरणे ने कहा कि आत्महत्या करना स्वयं को नुकसान पहुंचाने वाले व्यवहार का एक प्रकार है, जो मानसिक स्वास्थ्य की एक बड़ी समस्या के रूप में उभर रही है। आत्महत्या के कारण जैसे व्यक्तित्व विकास की समस्याएं, बेरोजगारी ,व्यापार में नुकसान, अत्यधिक उधारी, डिप्रेशन, नशा और कई अन्य कारण हो सकते हैं, इसीलिए आत्महत्या से घिरे लोगों या जिनके मन में आत्महत्या के विचार आने लगे तो ऐसे लोगों को पहचाने, पारिवारिक सदस्य या मित्रों को यदि यह पता लगता है कि व्यक्ति को आत्महत्या के विचार आ रहे है, तो उसको अकेला नहीं छोड़े। उसकी बात को ध्यान से सुने, जिससे उसके मन की बात पता चले। व्यक्ति को एहसास दिलाने की कोशिश करें कि जीवन हमेशा उनके व उनसे जुड़े अन्य लोगों के लिए बहुत उपयोगी है। उसे असफलता से निराश ना होकर नए प्रयास करने हेतु प्रेरित करना चाहिए। व्यक्ति के प्रति परिवार के सदस्यों का कुशल व्यवहार निर्मित करें, व्यक्ति का अकेलापन दूर हो, इसलिए प्रयास करें कि हम सामाजिक धार्मिक एवं मनोरंजन जैसे कार्यों से जुड़े और नई-नई रुचियां विकसित करें। छोटे बच्चों को बचपन से ही जीवन कौशल एवं अच्छी शिक्षा प्रदान करें, मोबाइल गेम्स और सोशल मीडिया से दूर रखने हेतु एवं उनमें मैदानी खेलो और कला संबंधी कई तरह की रुचियां विकसित करने में अभिभावकों को अपनी अहम भूमिका निभाने हेतु अपील की गई।

          डॉ. निशा कैथवास मनोरोग विशेषज्ञ मेडिकल कॉलेज खंडवा द्वारा कार्यक्रम का संचालन कर मानसिक रोग एवं आत्महत्या रोकथाम हेतु विस्तार से जानकारी दी गई। डॉ संजय इंगले मनोरोग विशेषज्ञ द्वारा 85 लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण कर उन्हें आवश्यक दवाइयां वितरण की गई। इस अवसर पर डॉ. अतुल माने पैथोलॉजिस्ट, डॉ. साकेत ठाकुर मेडिकल ऑफिसर, डॉ. अनिल तंतवार जिला टीकाकरण अधिकारी, डॉ. भूषण बांडे शिशु रोग विशेषज्ञ सहित अन्य अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे