नीमच मंदसौर मध्यप्रदेश

मल्हारगढ़ थाना प्रभारी की आंख में चोली का खेल।

मल्हारगढ़ थाना प्रभारी की आंख में चोली का खेल।

कबीर मिशन समाचार।

मंदसौर। मल्हारगढ़ थाने पर पदस्थ आरक्षक गुलाम अलोक की कहानी बहुत ही पुरानी है कई सालों से यह मल्हारगढ़ थाने पर अपना कर्तव्य दिखा रहे हैं सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार एक जनाब का तो मल्हारगढ़ से मंदसौर ट्रांसफर होने के बावजूद भी मल्हारगढ़ से मोह नहीं छूट रहा है पूर्व में इनका ट्रांसफर गरोठ डिवीजन में कर दिया गया था। लेकिन इक्का-दुक्का नेता की सिफारिश से वापस मल्हारगढ़ थाने पर अपना ट्रांसफर करवा लिया गया लेकिन सबसे बड़ी बात यह है कि वापस वर्तमान में मंदसौर एसपी द्वारा ट्रांसफर लिस्ट जारी कर जनाब का ट्रांसफर मंदसौर कर दिया गया है लेकिन सबसे बड़ी बात तो यह है कि मल्हारगढ़ थाने से इन जनाब का मोह क्यों नहीं छूट रहा। आखिरकार मल्हारगढ़ थाने में इतनी दिलचस्पी क्यों है तो हम आपको बताते हैं कि इन जनाब के तो डेरो में अवैध वसूली करते हुए पूर्व में फोटो वायरल हुए थे जिससे पूर्व एसपी द्वारा जमकर फटकार लगाई थी अब सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार जानकारी मिली हैं कि मल्हारगढ़ के बांडा खाली चौराहे पर हंड्रेड डायल का दुरुपयोग कर जमकर गो वंश की गाड़ियों से अवैध वसूली की जा रही है वह बिना कार्रवाई कर गाड़ियां निकलवाई जा रही है। व ईमानदार थाना प्रभारी की आंख में चोली का खेल खेला जा रहा है जिससे बेखबर थाना प्रभारी को दाग लगाने में कसर नहीं छोड़ रहे हैं यह आरक्षक इतना ही नहीं बल्कि अवैध रूप राजस्थान से आ रहे रेत के डंपरों से भी साठ गांठ कर रेत के डम्परो को निकाला जा रहा हे। खैर यह तो जांच का विषय है अब देखना यह होगा कि पुलिस अधीक्षक किस तरह की जांच कर इन आरक्षकों के ऊपर किस तरह की कार्यवाही करते हैं या फिर ट्रांसफर होने के बाद भी इनके कारनामे जारी रहेंगे
अगली खबर बहुत जल्द

About The Author

Related posts