दतिया मध्यप्रदेश शिक्षा

निजी विद्यालयों द्वारा स्कूल यूनिफॉर्म, किताब एवं ट्यूशन फीस के नाम पर की जा रही लूट को लेकर अ.भा.ग्राहक पंचायत ने सौंपा ज्ञापन।

निजी विद्यालयों द्वारा स्कूल यूनिफॉर्म, किताब एवं ट्यूशन फीस के नाम पर की जा रही लूट को लेकर अ.भा.ग्राहक पंचायत ने सौंपा ज्ञापन।

दतिया से विकास वर्मा की रिपोर्ट।

दतिया आज दिनांक 05/07/2024 को अ.भा. ग्राहक पंचायत संगठन ने निजी विद्यालयों द्वारा स्कूल यूनिफॉर्म, किताब एवं ट्यूशन फीस के नाम पर की जा रही। लूट को लेकर पंचायत ने ज्ञापन सौंपा संगठन के जिलाध्यक्ष देवेन्द्र भार्गव बताया कि अभिभावकों से इस आशय की शिकायतें प्राप्त हुई है कि जिले के निजी विद्यालयों द्वारा प्रकाशकों से सांठगांठ करके खुलेआम विद्यार्थियों और अभिभावकों का शोषण किया जा रहा है।

विद्यालयों द्वारा अभिभावकों को नियम विरुद्ध रूप से, NCERT की पुस्तकों के स्थान पर निजी प्रकाशकों की पुस्तकें क्रय करने के लिए बाध्य किया जा रहा है, जिसके कारण अभिभावकों को छोटी-छोटी कक्षाओं के बच्चों के पाठ्यक्रम की पुस्तकें हजारों रुपयों में क्रय करना पड़ रही है। विद्यालयों द्वारा अभिभावकों को अत्यधिक संख्या में पुस्तकें क्रय करने के लिए बाध्य किया जा रहा है, जिसके कारण छोटे-छोटे विद्यार्थियों के बस्तों का वजन शासन द्वारा निर्धारित वजन से बहुत अधिक हो गया है। इसके कारण अभिभावकों के मानसिक एवं आर्थिक शोषण के साथ-साथ बच्चों का मानसिक और शारीरिक शोषण हो रहा है और बच्चों का मानसिक व शारीरिक विकास बाधित हो रहा है।

निजी विद्यालयों द्वारा अभिभावकों को विद्यार्थियों की ड्रेस सामग्री निश्चित दुकान से ही खरीदने का दबाव बनाया जाता है जिससे इन तय दुकान द्वारा बाजार में एकाधिकार होने से मनमाने रेट पर ड्रेस का विक्रय किया जा रहा है! निजी विद्यालयों द्वारा प्रत्येक वर्ष छात्रों की फीस को नियम विरुद्ध रूप से बढ़ाया जा रहा है, जिससे अभिभावकों की जेब पर अतिरिक्त आर्थिक बोझ बढ़ रहा है! जिला अध्यक्ष ने बताया कि उपरोक्त शिकायतों से स्पष्ट होता है कि शिक्षा विभाग द्वारा केवल खानापूर्ति के लिए इस सम्बन्ध में जाँच दल बनाये गये है जो सारी वास्तविकता जानते हुए भी किसी भी विद्यालय के विरुद्ध कोई कार्यवाही नहीं कर रही है।

अतः अ.भा.ग्राहक पंचायत इस ज्ञापन के माध्यम से आपसे माँग करती है कि विद्यालयों द्वारा किये जा रहे इस शोषण को रोकने के लिए सच्चाई सामने लाने हेतु शिक्षा विभाग द्वारा बनाये गये जाँच दलों में ग्राहक पंचायत के कार्यकर्ताओं को भी सम्मिलित किया जाए और शोषण करने वाले विद्यालयों, प्रकाशकों और विक्रेताओं के विरुद्ध कठोरतम कार्यवाही की जावे l ज्ञापन सौंपने वालों में प्रमुख रूप से जिला अध्यक्ष देवेन्द्र भार्गव, जिला कोषाध्यक्ष यशदीप सिंह राजपूत, नगर अध्यक्ष रामकुमार मोर, स्वर्ण जयंती वर्ष समिति सदस्य रामजीशरण राय, हेमंत नामदेव, कौशल पाठक, रामजीशरण शर्मा, आदि उपस्थित रहे l

About The Author

Related posts