मंदसौर मध्यप्रदेश रोजगार

आंगनवाडी सहायिकाओं ने अपने मानदेय विसंगति को लेकर, महिला एवं बाल विकास विभाग अधिकारी श्रीमती रीना जिझोरिया को ज्ञापन सौंपा

आंगनवाडी सहायिकाओं ने अपने मानदेय विसंगति को लेकर, महिला एवं बाल विकास विभाग अधिकारी श्रीमती रीना जिझोरिया को ज्ञापन सौंपा

कबीर मिशन समाचार पत्र सुरेश मैहर संवाददाता गरोठ जिला मंदसौर

वेतन बढ़ाये जाने कि मांग

गरोठ–महिला बाल विकास विभाग अंतर्गत कार्यरत आंगनवाडी सहायिकाओं ने मानदेय विसंगति दूर करने और वेतन बढ़ाये जाने को लेकर महिला बाल विकास विभाग अधिकारी श्रीमती रीना जिझोरिया एवं लेखापाल रामनारायण जाटव को ज्ञापन सौंपा गया। ज्ञापन में कहा गया कि सरकार द्वारा सहायिकाओं के साथ मानदेय संबंधी भेदभाव किया गया है, सरकार द्वारा कोई भी योजना आती है, तो सभी सहायिकाएं घर घर तक जाकर योजना का प्रचार प्रसार करती है, तथा बच्चो केन्द्र पर बुलाना एवं किसी भी कार्यक्रम में महिलाओ एकत्रित करना, तथा सभी हितग्राहियों तक योजनाओ का लाभ पहुंचाना, सभी कार्यों में आंगनवाड़ी सहायिकाएं अपनी अहम भूमिका का निर्वहन करती है।

फीर भी इस बार जो वेतन शासन द्वारा बढ़ाया गया, उससे सभी सहायिकाएं संतुष्ट नही है। अत: हमारे मानदेय से बढ़ोत्तरी की जाये। हर बार आधा मानदेय सहायिकाओं को मिलता है ।जो इस बार आंगनवाडी कार्यकर्ताओ के 3000 रुपए बढ़े ,और सहायिकाओं के मात्र 750 रुपए ही बढे, जो कि वर्तमान महंगाई के दौर में ऊंट के मुंह में जीरे के समान है। इस विसंगति को दूर किया जाये।

हर विभाग का कार्य भी वार्ड मे आता है। वह सब कार्य भी सहायिकाओं के सहयोग से ही पूर्ण होता है। सरकार से निवेदन है कि हमारी मांगों पर सुनवाई करते हुए मानदेय बढ़ाया जाए।

ज्ञापन देते समय ज्योति मालवीय, सुशीला ग्वाला, लक्ष्मी लिमझा, रेखा मालवीय, मधु मालवीय, ममता सनवानिया, ममता सौलकी, मधु मुहारकर, सुनीता गुप्ता, भावना चौहान, मंजु सांकला, किरण रेठोदिया, सुनिता रागोठा, रेखा माली, मालती सेन आदि आंगनवाडी कार्यकर्ता उपस्थित रहीं।

About The Author

Related posts