आदिवासी वर्ग के युवक-युवतियों से स्वरोजगार के लिए आवेदन आमंत्रित

मध्यप्रदेश शासन आदिम जाति कल्याण विभाग के तत्वाधान में जिले के आदिवासी वर्ग के बेरोजगार युवक-युवतियों से भगवान बिरसा मुण्डा स्वरोजगार योजना विनिर्माण के लिए 01 लाख से 50 लाख तक सेवा/व्यवसाय 01 लाख से 25 लाख तक परियोजना के लिए योजनांतर्गत रोजगार उपलब्ध कराने के लिये आवेदन-पत्र आमंत्रित किये गये है। जनजातीय कार्य विभाग जिला संयोजक श्रीमती मीना मंडलोई ने बताया कि योजनांतर्गत लगने वाले सहपत्र-जाति प्रमाण, मूल निवास प्रमाण पत्र, आधार कार्ड, मतदाता परिचय पत्र, पेन कार्ड शैक्षणिक योग्यता आठवी उत्तीर्ण आयु 18 से 45 वर्ष दो पासपोर्ट फोटो, समस्त दस्तावेज होना आवश्यक है।

योजनांतर्गत 01 लाख से 50 लाख तक सेवा/व्यवसाय 01 लाख से 25 लाख तक बैंको के माध्यम से हितग्राहियों को बैंक वितरित/शेष ऋण पर 5 प्रतिशत प्रति वर्ष की दर से ब्याज अनुदान की पात्रता होगी। हितग्राही किसी भी राष्ट्रीयकृत बैंक, वित्तीय संस्था/सहकारी योजना बैंक का चूककर्ता/अशोधी नही होना चाहिये।

मध्यप्रदेश शासन आदिम जाति कल्याण विभाग के तत्वाधान में जिले के आदिवासी वर्ग के बेरोजगार युवक-युवतियों को टंटया मामा आर्थिक कल्याण 10 हजार से 01 लाख तक परियोजना के लिए योजनांतर्गत रोजगार उपलब्ध कराने के लिये आवेदन-पत्र आमंत्रित किये गये है।

योजनांतर्गत लगने वाले सहपत्र-जाति प्रमाण पत्र, मूल निवासी प्रमाण पत्र, आधार कार्ड, मतदाता परिचय पत्र गरीबी रेखा के नीचे हेतु खा़द्य सुरक्षा प्रमाण, शैक्षणिक योग्यता आठवी उत्तीर्ण, आयु 18 से 55 वर्ष, पासपोर्ट साईज फोटो, समस्त दस्तावेज आवश्यक होंगे। योजनांतर्गत 10 हजार से 01 लाख तक का बैंको के माध्यम से ऋण वितरित/शेष ऋण पर 7 प्रतिशत प्रति वर्ष की दर से ब्याज अनुदान की पात्रता होगी।

हितग्राही किसी भी राष्ट्रीयकृत बैंक, वित्तीय संस्था/सहकारी योजना बैंक का चूककर्ता/अशोधी नही होना चाहिये। इच्छुक उम्मीदवार उक्त योजनाओं के आवेदन-पत्र एम.पी.ऑनलाईन के माध्यम से कर सकते है। अधिक जानकारी के लिये कार्यालयीन समय में आदिवासी वित्त एवं विकास निगम शाखा शाजापुर (जनजातीय कार्य तथा अनुसूचित जाति कल्याण विभाग जिला शाजापुर) कलेक्टोरेट परिसर कक्ष क्रमांक 71, 72, 73 में संपर्क कर सकते हैं।