आगर-मालवा किसान- खेतीबाड़ी देश-विदेश मध्यप्रदेश राजगढ़ रोजगार समाज स्वास्थ

जैविक खेती के प्रति किसानों को जागरूकता बैठक संपन्न

जैविक खेती के प्रति किसानों को जागरूकता बैठक संपन्न

आगर। जिले की कानड़ के समीप ग्राम चौमा में नव भारत फर्टिलाइजर द्वारा जैविक खेती के लिए किसान गोष्ठी का आयोजन किया गया। कंपनी के कृषि अधिकारी रविन्द्र कोहले द्वारा किसानों को जैविक खेती के लाभ के बारे में जानकारी दी उन्होनें बताया। जिस तरह हम रासायनिक खादों और दवाइयों का उपयोग लगातार कर रहें हैं उससे हम अपनी जमीन की उपजाऊ शक्ति को नुकसान पहुंचा रहे हैं तथा इनसे बचने के लिए हमें जैविक खादों और गोबर की खाद का उपयोग करना चाहिए। उन्होंने किसानों को रासायनिक खेती से होने वाले नुकसानों के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

कहा कि आज हमारे शरीर में अनगिनत बिमारी हो रही है और उस जिस फसल को पैदा करते हैं और उसका ही सेवन करते हैं जिससे उस कैमिकल का अंश हमारे शरीर में प्रवेश कर मानव शरीर में अनगिनत लाइलाज बिमारी देखने को मिल रही है। साथ ही रासायनिक खेती से जमीन खराब होती जा रही है यदि समय रहते हमने जैविक खेती नहीं किया तो जमीन बंजर होती चली जाएगी और एक दिन खेती करना मुश्किल हो सकता है। इससे हमारे बजट पर भी असर पड़ता है। वहीं जैविक से एक नहीं तीन-तीन फायदा होगा पहला हमारी जमीन स्वास्थ्यवर्धक होगी और फिर फसल, जिससे हमें कैमिकल मुक्त भोजन मिलेगा और खेती का बजट भी कम होता जाता है।

कृषि अधिकारी रविन्द्र कोहले ने नवभारत फर्टिलाइजर कंपनी के जैविक प्रोडक्ट जैसे विजया ग्रोमिन, दोस्त, विजेता और वि प्रोम -5, जैम्स बांड आदि जैविक खाद व दवाई के बारे में जानकारी दी। किसान गोष्ठी में उपस्थित किसान जगदीश शामगी, रूपसिंह, राधेश्याम, उमराव सिंह, प्रभू लाल, कैलाश चंद्र मौर्य, गोकुल सिंह चौहान, मदनलाल मालवीय, गंगाराम साहेब, उमराव सिंह मथूराखेडी, बलराम चौहान, मुरलीधर मालवीय, कमल मालवीय, रामेश्वर मालवीय, रोड़मल मौर्य आदि किसान मौजूद रहे।

About The Author

Related posts