विज्ञापन के लिए संपर्क करें - 8462072516
विज्ञापन के लिए संपर्क करें - 8462072516
September 25, 2022

भोपाल। पत्रकारिता विश्वविद्यालय में धूमधाम से मनाया गया स्वतंत्रता दिवस, एकता एवं देश प्रेम की भावना जगाता है तिरंगा – कुलपति प्रो. केजी सुरेश

कुलपति प्रो. केजी सुरेश ने किया ध्वाजारोहण

लघुफिल्म ‘तिरंगा’ एवं ‘भारत’ का हुआ प्रदर्शन, विकल्प के विशेषांक का किया गया विमोचन, फ्लेग एरिया, ड्रिल एरिया (कर्मभूमि बोर्ड) का हुआ अनावरण

भोपाल। माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय में स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर बिशनखेड़ी स्थित नवीन परिसर में विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.केजी सुरेश ने ध्वाजारोहण किया ।

इस अवसर एनसीसी के विद्यार्थियों द्वारा परेड की गई, इसके पश्चात कुलपति प्रो. सुरेश द्वारा एनसीसी फ्लेग एरिया, ड्रिल एरिया (कर्मभूमि बोर्ड) का अनावरण किया गया। सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन विश्वविद्यालय के गणेश शंकर विद्यार्थी सभागार में आयोजित किया गया। जहां विद्यार्थियों एवं विश्वविद्यालय परिवार के सदस्यों के बच्चों ने अपने शानदार सांस्कृतिक कार्यक्रमों से सबका मन मोह लिया ।

काव्या यादव, आशी सोनकर, वाणी चौरासे, याना सुरेश ने अपनी प्रस्तुतियों एवं नृत्यों से जमकर तालियां बटोरीं । संबद्ध अध्ययन केंद्र की सुगम इंफोमेटिव की छात्रा श्रुति भोले ने भी समधुर गीत प्रस्तुत किया।

इलेक्ट्रॉनिक मीडिया विभाग द्वारा बनाई गई दो लघुफिल्म ‘तिरंगा’ एवं ‘भारत’ का प्रदर्शन भी इस इस अवसर पर किया गया। राष्ट्रीय सेवा योजना (एनएसएस) के विद्यार्थियों की टोली “युवाज” द्वारा इस अवसर पर एक नुक्कड़ नाटक भी किया गया ।

स्वतंत्रता दिवस के शुभ अवसर पर अपने उद्बोधन में कुलपति प्रो. केजी सुरेश ने हर-घर तिरंगा, घर-घर तिरंगा के बारे में बताते हुए कहा कि इसके पीछे एक सकारात्मक सोच है। उन्होंने कहा कि तिरंगा हमें यह संदेश देता है कि संकुचित विचारधारा, धर्म, मजहब, जाति से ऊपर उठकर हम सब एक हैं एवं देशप्रेम की भावना जगाता है।

प्रो. सुरेश ने कहा कि कुछ चुनौतियां हैं लेकिन हम प्रतिबध्द हैं कि हम इनका समाधान कर लेंगे । उन्होंने कहा कि हम सब मिलकर संकल्प लें कि हमें देश को और आगे बढ़ाना है, ऊचाईयों पर लेकर जाना है। कुलपति प्रो. सुरेश ने कहा कि यदि हम सब मिलकर ऐसा करते हैं तो हमारे देश को आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक पाएगा । कुलपति प्रो केजी सुरेश ने खचाखच भरे गणेश शंकर विद्यार्थी सभागार में कहा कि पूरा विश्वविद्यालय जल्द ही बिशनखेड़ी में शिफ्ट में होगा।

प्रो. सुरेश ने कहा कि इसकी शुरुआत उन्होंने 14 अगस्त को स्वयं यहां शिफ्ट होकर कर दी है । उन्होंने कहा कि नए परिसर में स्थानांतरण होगा तो कुछ नए मानक भी हम स्थापित कर पाएंगे । हमें कुछ ऐसा करना होगा कि दूसरे विश्वविद्यालय हमारे द्वारा बनाए गए मानकों को फॉलों करें। उन्होंने कहा कि हमारे विश्वविद्यालय द्वारा एनईपी के तहत 7 नए पाठ्यक्रम शुरु किए गए हैं ।

हमारे यहां डिप्लोमा से लेकर पीएचडी तक प्रदान की जा रही है। इस तरह विश्वविद्यालय का कद पूरे देश में लगातार बढ़ रहा है। प्रो. सुरेश ने कहा कि कहा कि हमने सिनेमा अध्ययन विभाग भी शुरु किया गया है, जिसमें आठवां नया पाठ्यक्रम शुरु किया गया है । प्रो. सुरेश ने कहा कि नए पाठ्यक्रमों की शीट पूरी तरह से भर गई है । इसके साथ ही उन्होंने कहा कि सकारात्मक सोच होती है तो कैंपस प्लेसमेंट बढ़ते हैं, और हम हमेशा सकारात्मक सोच के साथ इस दिशा में लगातार आगे बढ़ रहे हैं ।

इस अवसर पर पत्रकारिता विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ. राखी तिवारी, प्रो. शिवकुमार विवेक के मार्गदर्शन में विद्यार्थियों द्वारा निकाले गए “विकल्प” अमृत महोत्सव के विशेषांक का विमोचन मान. कुलपति प्रो. केजी सुरेश, कुलसचिव डॉ. मनीष माहेश्वरी, आजादी के अमृत महोत्सव समिति के अध्यक्ष डॉ. श्रीकांत सिंह ने किया । इस अवसर पर संस्थाओं एवं विश्वविद्यालय में आयोजित विभिन्न् प्रतियोगिताओं में विश्वविद्यालय के विजेता विद्यार्थियों अनुकुमारी, गगन परमार, सचीन आनंद, अभिनव शुक्ला, रुचि टिक्कू, अरुणिमा, अनुपम तिवारी, शुभम कुमार आदि को पुरस्कृत किया गया।विश्वविद्यालय के संबंद्ध अध्ययन केंद्रों में भी स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर तिरंगा फहराया गया एवं संस्थाओं में भी सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया । विश्वविद्यालय में आयोजित कार्यक्रम में पूर्व विद्यार्थी भी शामिल हुए।

सांध्यकालीन पाठ्यक्रमों के योग प्रशिक्षण श्री देवेंद्र शर्मा एवं उनके विद्यार्थियों द्वारा इस अवसर पर योग भी किया गया । स्वतंत्रता दिवस के अवसर विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ. मनीष माहेश्वरी, आजादी के अमृत महोत्सव समिति के अध्यक्ष डॉ. श्रीकांत सिंह, सभी विभागों के विभागाध्यक्ष, अधिकारी, कर्मचारी, शिक्षक, अतिथि शिक्षक, उनके परिजन एवं विश्वविद्यालय के विद्यार्थी बड़ी संख्या में उपस्थित हुए।