सभी बीएमओ एएनसी रजिस्ट्रेशन के कार्य में प्रगति लाएं

रिपोर्ट पवन सावले। कबीर मिशन समाचार

खलघाट (धार) जहां पर सीएचओ ,एएनएम कार्य नहीं कर रहे हैं उन पर कार्यवाही कर उनका वेतन रोका जाए। यह निर्देश कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने शुक्रवार को कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित जिला स्तरीय स्वास्थ्य समिति की बैठक में दिए। बैठक में उन्होंने गर्भवती महिलाओं के पंजीयन कम होने पर गहन नाराजगी व्यक्त करते हुए निर्देशित किया कि पिछले माह की तुलना में 2 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है। एएनसी पंजीयन में किसी भी स्थिति में गिरावट दर्ज नहीं होनी चाहिए ।

मोडरेट अनीमिया में कम चिन्हांकन होने पर विकासखण्ड द्वारा बताया गया कि आयरन , सुक्रोस उपलब्ध नहीं थे । जिस पर उन्होंने स्टोर कीपर पर नाराजगी व्यक्त करते हुए जिला चिकित्सालय से आयरन सुक्रोस लेने के निर्देश दिए । साथ ही समस्त विकासखण्ड में भी भेजा जाए । जहाँ पर एएनएम के पास गर्भवती की जानकारी होने पर भी पंजीयन नहीं किया जा रहा है। किसी भी क्षेत्र में अगर गर्भवती बिना पंजीयन पाई जाती है ,तो संबंधित पर दंडात्मक कार्यवाही करें। धार शहरी एरिया में एक माह में एएनसी पंजीयन अधिक से अधिक करवाये । जो संस्था रिपोर्ट नहीं करती उन पर तत्काल कार्यवाही करें । अगले एक माह में पंजीयन की स्थिति में सुधार आए। उन्होंने कहा कि किसी भी विकासखण्ड में अगर उपस्वास्थ्य खाली पाया जाता है तो संबंधित बीएमओ की जवाबदेही होगी। टीकाकरण में निसरपुर कि स्थिति खराब होने पर रिक्त उपस्वास्थ्य केंद्रों पर एमपीडब्ल्यू को चार्ज दिया जाय तथा समस्त विकासखंड में जिन उपस्वास्थ्य केन्दों पर पद रिक्त है । वहाँ पर एमपीडब्ल्यू एवम दल गठित कर कार्य योजना तैयार कर टीकाकरण एवं अन्य कार्य करवाएं ।

उन्होंने कहा कि जिले में प्रसव उपरांत डेलीवरी उपडेशन की स्थिति बहुत ही निराशा जनक स्थिति में है साथ ही फैसिलिटी मॉड्यूल प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर पदस्थ चिकित्सक द्वारा जांच उपरांत एंट्री नहीं की जा रही है । समस्त संस्थाओं पर चिकित्सक/ओपरेटर के माध्यम से जांच को आने वाली गर्भवती महिलाओं की एंट्री फेसिलिटी मोड्यूल से संस्था की लॉग इन आईडी से 3 दिवस में डाटा इंद्राज किया जाना सुनिश्चित करें।परिवार कल्याण अंतर्गत हर माह समीक्षा कर सभी बीईई, एएनएम, आशा, एमपीडब्लू को पृथक से जवाबदेही दी जाए। जिनके द्वारा लक्ष्य की उपलब्धि नहीं की जाती है तो उन पर अनुशासनात्मक कार्यवाही करें।टीकाकरण में बीसीजी की रिपोर्ट कम होने पर सभी को रिपोर्ट करने के निर्देश दिये ।

निजी चिकित्सल्य में लगने वाले टीको की रिपोर्ट शत प्रतिशत एकत्र की जाए । मातृ मृत्यु रिपोर्टिंग में सभी को फील्ड से शत प्रतिशत रिपोर्टिंग करें । मिशन सेहत के अंतर्गत समस्त सिविल कार्य समय सीमा में गुणवत्ता पूर्ण करें। जिसकी मॉनिटरिंग बीएमओ एवं संस्था प्रभारी द्वारा समय समय पर की जाए। बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री के एल मीणा सहित स्वास्थ्य विभाग का अमला मौजूद रहा।