मध्यप्रदेश राजगढ़

नगर परिषद पचोर का, बिल पास करने के एवज में मांगी रिश्वत

नगर परिषद पचोर का, बिल पास करने के एवज में मांगी रिश्वत

कबीर मिशन समाचार
पचोर/राजगढ़
देवेंद्र सिंह भिलाला

राजगढ़ – धारा 10ऐ के तहत अनुसूचित जनजाति आयोग भोपाल में की शिकायत l मामला नगर परिषद पचोर जिला राजगढ़ का पहले काम करवाते हैं फिर बिल पास करवाने के नाम पर रिश्वत मांगते हैं l यह कहना है मोटर बाईडिंग संबंधित कार्य करने वाले समुदर सिंह भिलाला का कई बार चक्कर लगाने के बाद भी मेरे बिलों का भुगतान आज तक नहीं हुआ l जबकि में श्रीमान 2017 से नगर परिषद पचोर का मोटर बाईडिंग का कार्य कर रहा हूं l मैंने इसके एवज में ₹5000 (पॉच हजार रूपये) मार्जिग मनी भी जमा की है, इसकी रसीद मैं नगर परिषद कार्यालय में जमा कर चुका हूं, वो रुपए भी मेरे को आज तक नहीं मिले l मैंने एक आवेदन जनसुनवाई कलेक्टर राजगढ़ में भी दिया था l मगर मेरे को न्याय नहीं मिलने से में अनुसूचित जाति आयोग भोपाल की शरण लेनी पड़ी l भिलाला ने पत्रकार वार्ता में बताया कि मैंने लेखापाल श्री दुर्गा शर्मा को ₹5000 रिश्वत मुख्य नगरपालिका अधिकारी श्री पवन जी मिश्रा के नाम से दिया थे l मेरे पास नगर परिषद कर्मचारियों के हस्ताक्षर करे हुए आवेदन भी है उसी के आधार पर मैं कार्य करता रहा l कर्मचारी ने कहा कि मोटर बना दो सीएमओ साहब ने कहा है, मैं मोटर बनाता रहा l मेरे 23 बिल बकाया के कुल रुपए 82435 (ब्यासी हजार चार सों पेतीस) बकाया थे जिसमें से श्रीमान जी ने 10 बिलों का भुगतान रु31500, (इक्तीस हजार पॉच सों रूपये) कर दिया l

तथा मेरे 13 (तेराह) बिल के रुपए 50535 (पॉचास हजार पॉच सों पेतीस रूपये) बाकी है साथ में ₹5000 (पॉच हजार रूपये) मार्चिंग मनी जमा है दोनों मिलाकर रुपए 55935 (पॉचपन हजार नो सों पेतीस रुपये) है, भिलाला का कहना है कि मैं रुपए मांगने नगर परिषद जाता हूं, तो मेरे को डरा धमका कर भगा दिया जाता है और सीएमओ साहब कहते हैं तेरे ऊपर मानहानि का दावा कर देंगे l मैं एक भील आदिवासी निर्धन गरीब परिवार से हूं, जैसे तैसे मैं मोटर वाईडिंग का काम कर में अपने परिवार का गुजर-बसर करता हूं श्रीमान मैंने भयंकर कोराना काल में (दुकान) घर पर रहकर नगर परिषद पचोर का मोटर बाईडिग संबंधित कार्य किया l ऐसा ही एक आवेदन मैंने जनजाति आयोग भोपाल में दिया है ।

About The Author

Related posts