भाजपा जनप्रतिनिधियों को जगाने का काम कांग्रेस आईटी सेल ने किया, मध्यप्रदेश से भाजपा की विदाई तय

कबीर मिशन समाचार।

नीमच। कांग्रेस आईटी सेल व युवा कांग्रेस महासचिव अर्जुन धनगर ने जानकारी देते हुए बताया कि हाल ही में जिले में काफी बारिश हुई, किसानों के खेतों में पानी भर गया। किसानों की सोयाबीन, मूंगफली, मक्का एवं अन्य फसलें पूर्ण रूप से चौपट हो गई। किसानो को उनकी फसलो का उचित दाम नही मिल रहा है साथ ही बेतहाशा महंगाई दिन पे दिन बड़ रही है ओर अब फसल काटने का समय आया तब प्रकृति की मार झेलना पड़ रही है, किसानों के खेत मे पानी और आंखों में खून के आंसू देखने को मिल रहे है। किसानों की पीड़ा समझने वाला कोई नही है। भाजपा के जनप्रतिनिधियों ने किसानों को कोई खबर नही ली, ना ही खेतो में गए और ना ही फसलों का आंकलन किया, सिर्फ हवाई आदेश अधिकारियों को दे दिए। जबकि पूर्व में 2018 में जब मध्यप्रदेश में कमलनाथ सरकार थी तब भी प्राकृतिक आपदा आई थी और तत्कालीन मुख्यमंत्री कमलनाथ जी ने बिना सर्वे कर किसानों के खातों में मुआवजा राशि दी।
अर्जुन धनगर ने आगे कहा कि भाजपा सरकार को किसानों को बिना सर्वे किए शत प्रतिशत मुवाअजा देना चाहिए। यही मुहिम को नीमच आईटी सेल के माध्यम से कांग्रेस के सिपाहियों ने दिन भर किसानों के हक के लिए शिवराज सरकार को घेरा ओर क्षेत्र के विधायक, मंत्री व सांसद को जाग्रत करने का काम किया। कांग्रेस आईटी सेल की पुरी टीम ने किसानों के समर्थन में एक दिन मे 600 से भी ज्यादा पोस्ट डाल कर शिवराज सरकार के खिलाफ विरोध दर्ज किया। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने जिस तरह से किसानों को मुआवजा राशि दी थी उनके वीडियो आज राशि सहित सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर नज़र आ रहे है, यह वीडियो देख कर किसानों का गुस्सा ओर अधिक हो गया है, कही कही किसान यह कहते हुए भी नज़र आ रहे है कि मध्यप्रदेश से तानाशाह भाजपा सरकार की बिदाई तय है। नीमच जिले में कांग्रेस आईटी सेल के सिपाही सोशल मीडिया पर भाजपा को पछाड़ते हुए नज़र आने लगे है, लगता है मध्यप्रदेश में एक बार फिर कांग्रेस की सरकार बनती हुई दिखाई दे रही है।