Tech खेल दतिया दिल्ली देश-विदेश धार मध्यप्रदेश शिक्षा

अन्तर्राष्ट्रीय खेल दिवस के उपलक्ष्य पर हुआ विज्ञान मेले में सांस्कृतिक प्रोग्रामों का आयोजन

अन्तर्राष्ट्रीय खेल दिवस के उपलक्ष्य पर हुआ विज्ञान मेले में सांस्कृतिक प्रोग्रामों का आयोजन

अन्तर्राष्ट्रीय खेल दिवस के उपलक्ष्य पर हुआ विज्ञान मेले में सांस्कृतिक प्रोग्रामों का आयोजन केरला कॉन्वेट हायर सेकण्ड्री स्कूल धार में विज्ञान एवं प्रौधोगिकी विभाग भारत सरकार नई दिल्ली के सहयोग से परमात्मा सेवार्थ ग्रुप द्वारा आयोजित तीन दिवसीय दिनांक 4 से 6 अप्रैल 2024 को विज्ञान जागरूकता कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में बोलते हुये डॉ. बल्लू सिंह ने अपने उद्यबोधन में कहा कि अंतर्राष्ट्रीय ओलिंपिक कमेटी के संस्थापक सह आधुनिक ओलिंपिक खेलों के जनक फांसीसी इतिहासकार पियरे फेडे बैरोन डि कूबर्टिन के प्रयास से 6 अप्रैल 1896 को एथेस में पहला आधुनिक ओलिंपिक खेल शुरू हुआ था, इसलिए इस दिन को अंतर्राष्ट्रीय खल दिवस मनाने का फैसला लिया गया।

संयुक्त राष्ट्र संघ ने 2014 में 6 अप्रैल को अंतर्राष्ट्रीय खेल दिवस घोषित किया और दुनिया के विभिन्न देशों ने इस दिन अंतर्राष्ट्रीय खेल दिवस मनाने की अपील की। अंतर्राष्ट्रीय ओलिंपिक कमेटी के संस्थापक खेलो के जनक के एसोसिएशन की ओर से रांची में ओपन स्पोर्टस क्विज का आयोजन किया गया इसमें विभिन्न स्कूल के बच्चों ने हिस्सा लिया दोपहर 2.30 बजे से क्विज का आयोजन बिरसा मुण्डा फुटबाल स्टेडियम मारहाबादी में किया गया है। डॉ. सोवरन राणा ने विज्ञान जागरूकता मेल में कहा कि हम सब जानते है कि शरीर को चुस्त रखना कितना जरूरी है आज की भाग दौड भरी जिन्दगी में दिमागी गतिविधियां तो काफी बढ गया है लेकिन शारीरिक गतिविधियां रोज की भागदौड भीर जिन्दगी में मुश्किल हो जाती है

अब क्योकि डॉक्टरों की सलाह यह है कि हमे रोज शरीर को चलाने वाला कोई काम करना चाहिए। इसके लिए सबसे वेहतरीन उपाय किसी खेल को चुनना जो बहुत लाभदायक है। बहुत से देशों में खेलो को बहुत अधिम महत्व दिया जाता है। क्योकि वे एक व्यक्ति के जीवन में खेल के वास्तविक लाभ और व्यक्तिगत व पेशेवर जीवन में इसकी आवश्यकता को जानते है। खिलाडी के लिए शारीरिक गतिविधियों बहुत महत्वपूर्ण होती है जो उनकी माँसपेशियों को मजबूत और सक्रिय बनाती है। यह उनके पेशे और उनके जीवन के लिए बहुत मायने रखती है। डॉ. ओमेश्वरी सोलंकी ने कहा कि इस दिन अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर बहुत से खेलो का आयोजन करते है हमारे खिलाडी दूसरे देश के खिलाडियों के साथ प्रतिस्पर्धा करते है।

जिससे अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर दूसरे राष्ट्र के साथ हमारे संबध मजबूत होते है। कुछ देशों में कुछ अवसरों कार्यक्रमों और त्यौहारों के आयोजन पर स्पोर्टस और खेल गतिविधियाँ आयाजित की जाती है।तीन दिवसीय विज्ञान मेले में छात्र-छात्राओ ने फिल्म शो, इक्स्टेम्परी, वाद विवाद प्रतियोगिता, क्विज प्रतियोगिता स्ट्रीट प्ले (नुक्कड नाटक), साइंस मॉडल प्रतियोगिताओं में भाग लिया जिसमें सभी विजयी प्रतियोगिताओं को पुरुस्कृत किया गया जिसमें साइंस मॉडल प्रतियोगिता में कान्हा यादव ने प्रथम पुरूस्कार, योतिक शर्मा ने दूसरा पुरूस्कार, एवं नन्दनी किरार ने तीसरा पुरुस्कार प्राप्त किया।

डिवेट प्रतियोगिता में अर्चित राजपूत ने प्रथम पुरुस्कार प्राप्त किया व कुनाल रजक ने दूसरा पुरुस्कार प्राप्त किया एवं रोविन परमार न तीसरा पुरूस्कार प्राप्त किया। क्विज प्रतियोगिता में कृष्णा ठाकुर ने प्रथम पुरुस्कार प्राप्त किया व आर्यन सिकरवार ने दूसरा पुरुस्कार प्राप्त किया एवं हिना रामपुरे ने तीसरा पुरुस्कार प्राप्त किया। स्ट्रीट प्ले (नुक्कड नाटक) प्रतियोगिता में स्नेहा सिकरवार ने प्रथम पुरुस्कार प्राप्त किया व स्नेहा धाकड ने दूसरा पुरूस्कार प्राप्त किया एवं तनू व्यास ने तीसरा पुरुस्कार प्राप्त किया।

उपरोक्त के अतिरिक्त सभी छात्र-छात्राओं को फिल्म शो दिखाकर सभी छात्र-छात्राओं को विज्ञान के महत्व को समझाया व इक्स्टेम्परी के माध्यम से किसी भी विषय का विश्लेषण कैसे करते है अवगत कराया एवं उपरोक्त के अतिरिक्त अन्य प्रतियोगिताओं में सामूहिक रूप से विजयी प्रतिभागियों को पुरूस्कार एवं मेडल प्रदान किये गये।

कार्यक्रम की अध्यक्षता धमेन्द्र सिंह यादव ने की तथा कार्यक्रम का संचालन बालसुधा तोमर ने किया कार्यक्रम में विशिष्ठ अतिथि के रूप में संगीता राजपूत, जगदीश मैकाले, विनोद कुमार, व देवेन्द्र कुमार उपस्थित थे।

About The Author

Related posts