भोपाल रोजगार

रोजगार सृजन के लिए डिक्की करेगा मध्यप्रदेश के 313 ब्लॉक को-ऑर्डिनेटर्स का प्रशिक्षण

रोजगार सृजन के लिए डिक्की करेगा मध्यप्रदेश के 313 ब्लॉक को-ऑर्डिनेटर्स का प्रशिक्षण

डिक्की के भोपाल ऑफिस में होगा यह बिजनेस लीडरशिप डेवलपमेंट प्रोग्राम

डिक्की मध्यप्रदेश के ब्लॉक कॉर्डिनेटर साझा करेंगे अपनी सफलता की कहानियां
कबीर मिशन – संतोष कुमार सोनगरा जिला ब्यूरो चीफ आगर

22 दिसंबर 2023, भोपाल.


दलित इंडियन चैम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (DICCI) मध्यप्रदेश चैप्टर की ओर से बिजनेस लीडरशिप डेवलपमेंट प्रोग्राम एवं प्रशिक्षण की शुरुआत की जा रही है। इसमें मध्यप्रदेश के सभी विकासखंडों में मौजूद डिक्की के 313 ब्लॉक को-ऑर्डिनेटर्स शामिल होंगे। प्रशिक्षण के लिए 45-45 को-ऑर्डिनेटर्स के 7 बैच बनाए गए हैं। इस दौरान डिक्की के ब्लॉक कॉर्डिनेटर अपनी सफलता की कहानियां साझा करेंगे। बता दें कि डिक्की प्रदेश में बीते 6 वर्षों से एससी-एसटी वर्ग में उद्यमिता विकास और स्व-रोजगार के लिए निरंतर कार्य कर रहा है। संस्था की हैंडहोल्डिंग से राज्य में हजारों एससी-एसटी युवा अपना व्यापार-व्यवसाय स्थापित कर नौकरी मांगने की बजाए नौकरी देने वाले बने हैं।

तीन दिवसीय प्रशिक्षण में यह होगा खास

डिक्की मध्यप्रदेश चैप्टर के प्रेसिडेंट डॉ.अनिल सिरवैयां ने बताया कि प्रदेश में उद्यमिता विकास और स्व-रोजगार की गतिविधियों को विकासखंड स्तर पर क्रियान्वित कर रोजगार के अवसर सृजित करने के लिए ब्लॉक लेबल बिजनेस लीडरशिप डेवलपमेंट प्रोग्राम एवं प्रशिक्षण शुरू किया जा रहा है। 23 दिसम्बर को पहले बैच, 24 दिसम्बर को दूसरे बैच और 25 दिसम्बर को तीसरे बैच का प्रशिक्षण होगा। इस दौरान एससी-एसटी उद्यमियों और युवाओं को अपने ब्लॉक में ही व्यापार-व्यवसाय और उद्यमिता के अवसर, सफल बिजनेस फ्रेचाइजी मॉडल, लघु और मध्यम उद्योगों के क्लस्टर निर्माण, एमएसएमई इकाईयों की स्थापना, महत्वपूर्ण योजनाओं के लाभ लेने की प्रक्रिया, आसान और सब्सिडाइस बैंक ऋण से अधिक से अधिक युवाओं को लाभान्वित करने के टिप्स दिए जाएंगे।

डॉ. सिरवैयां ने बताया कि डिक्की का लक्ष्य प्रत्येक विकासखंड में प्रत्येक माह में 10 से अधिक उद्यमी तैयार करना है। साथ ही प्रत्येक विकासखंड में एक एमएसएमई कलस्टर का निर्माण करना है। उन्होंने बताया कि औद्योगिकीकरण से वंचित और पिछड़े जिलों सहित प्रत्येक जिले में विनिर्माण, सर्विस सेक्टर के स्टार्टअप और नए उद्यम तथा ट्रेडिंग कारोबार के लिए डिक्की ने विशेष प्लान तैयार किया है। अगले दो साल में इसे शत-प्रतिशत क्रियान्वित करने का लक्ष्य रखा गया है। इसी उद्देश्य से डिक्की द्वारा प्रत्येक विकासखंड में प्रशिक्षित एससी-एसटी व्यापारियों, उद्यमियों और युवाओं की टीम तैयार की जा रही है जो स्थानीय स्तर पर गांव-गांव में आर्थिक गतिविधियों का क्रियान्वयन करेंगे।

कार्यशाला में विशेषज्ञ देंगे प्रशिक्षण

वर्तमान समय में व्यापार और रोजगार को बढ़ाने के लिए ब्लॉक को-ऑर्डिनेटर्स को एक्सपर्ट्स द्वारा डिजिटल तकनीक और सोशल मीडिया का प्रशिक्षण भी दिया जाएगा। इससे वे व्यापार विस्तार के लिए ऑनलाइन माध्यमों का भरपूर उपयोग कर पाएंगे। इसके साथ ही उन्हें अपनी सफलता की कहानियों से दूसरों को स्वरोजगार के लिए प्रेरित करने संबंधी टिप्स भी दिए जाएंगे। कार्यशाला में डिक्की के अनुभवी उद्यमी,बैंकों के अधिकारी और इंडस्ट्री और उद्यमिता के क्षेत्र के विशेषज्ञ प्रशिक्षार्थियों को प्रशिक्षण देंगें।

2005 में रखी गई थी डिक्की की नींव

उल्लेखनीय है कि दलित इंडियन चैम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (DICCI) की नींव 17 साल पहले पद्मश्री डॉ. मिलिंद कांबले ने रखी गई थी। इसका उद्देश्य अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के युवाओं और उद्यमियों के बीच उद्यमशीलता की भावना पैदा की जा सके। डिक्की निरंतर बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर के आर्थिक सशक्तिकरण के दृष्टिकोण को लेकर कार्य कर रहा है। उद्यमिता के क्षेत्र में आगे बढ़ने की चाह रखने वाले युवाओं को डिक्की द्वारा सपोर्ट सिस्टम मुहैया कराया जा रहा है।

कार्यक्रम का विवरण
दिनांक: 23 दिसम्बर 2023
समय: सुबह 10.30 बजे
स्थान: डिक्की स्टेट ऑफिस, आर्यवर्त कमर्शियल बिल्डिंग, एमएलए क्वाटर्स, जवाहर चौक, भोपाल

सादर
डॉ.अनिल सिरवैयां, प्रेसिडेंट
दलित इंडियन चैम्बर ऑफ़ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (डिक्की),मध्य प्रदेश
संपर्क: 9424455625

About The Author

Related posts