सेगांव आजा सहकारी संस्था की उचित मूल्य दुकान विक्रेता सोलकी के खिलाफ एफआईआर दर्ज

स्टॉक भौतिक सत्यापन में अंतर के साथ हितग्राहियों को नहीं दिया जा रहा था समय पर राशन

कबीर मिशन समाचार। खरगोन 23 दिसम्बर 22/ जिले के सेगांव तहसील के ग्राम सांगवी में संचालित हो रही आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था की उचित मूल्य दुकान संचालक श्यामलाल सोलकी के खिलाफ शुक्रवार को पुलिस ने एफआईआर दर्ज कि है। यह एफआईआर कनिष्ठ खाद्य अधिकारी तहसील सेगांव के हेमंत मंडलोई ने लिखित आवेदन सौंपकर की है। मंडलोई ने बताया कि उक्त राशन दुकान संचालक सोलंकी के खिलाफ राशन दुकान पर अनियमितताएं बरतने एवं समय पर राशन वितरण नहीं करने की शिकायत पर सहकारिता विस्तार अधिकारी महेंद्र सिंह ठाकुर, जिला सहकारी केंद्रिय बैंक सेगांव के शाखा प्रबंधक रमेश यादव द्वारा कि गई

जांच प्रतिवेदन एसडीएम खरगोन के समक्ष प्रस्तुत करने के बाद एसडीएम न्यायालय से जारी आदेश क्रमांक रा.प्र. क. 0742/बी -121/2022-23 के आदेश दिनांक 16.11.22 के अनुसार दर्ज कराई है। राशन दुकान विक्रेता श्यामलाल के खिलाफ आदेश में अपराध धारा 3/7 आवश्यक वस्तु अधिनियम 1995 का पाया जाकर शुक्रवार को एफआईआर दर्ज कराई गई।

उक्त प्रकरण में न्यायालय का संदर्भ देते हुए बताया कि 23.9.2022 को खाद्य विभाग के कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी सेगांव, सहकारिता विस्तार अधिकारी सेगांव, जिला सहकारी केंद्रिय बैंक सेगांव परिवेक्षक आ.जा, सेवा सहकारी संस्था भडवाली की वार्षिक सभा में शामिल हुए थे। संस्था की उचित मूल्य दुकान सांगवी की शिकायत सीएम हेल्पलाईन, जिला कलेक्टर तथा संस्था सदस्यों की आमसभा में भी उपभोक्ताओं द्वारा विक्रेता श्यामलाल सोलंकी की शिकायत की गई थी।

ग्रामसभा में प्रस्ताव किया पारित सभा के दौरान उपभोक्ताओं ने शिकायत की थी कि विक्रेता सोलंकी द्वारा एक माह से नियमित दुकान संचाति नहीं कि जा रही, कुछ हितग्राहियों को 3 से 4 माह का राशन नहीं दिया गया। कनिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इस संबंध में जब संस्था प्रबंधक भडवाली के चेतराम चौधरी से जानकारी ली गई तो उन्होंने सोलंकी पर सांगवी दुकान कार्यालय पर बगैर सूचना के कर्तव्य स्थल से अनुपस्थित रहने की जानकारी दी, दुरभाष पर भी कोई बात नहीं कि गई।

उक्त लापरवाही पर ग्राम आमसभा में 23.9.2022 को श्यामलाल की सेवाएं समाप्त करने प्रस्ताव पारित किया गया। निरीक्षण में स्टॉक में मिली कमीसभा के बाद अधिकारियों ने सांगवी राशन दुकान का स्टॉक का पीओएस मशीन से एवं स्टॉक पंजी से भौतिक सत्यापन किया, जिसमें दुकान का स्टॉ सांगवी एवं उप दुकान सांगवी (बेडे) में स्टॉक अभिलेख संधारण की सूची ठीक नहीं पाई गई । 4 बिंदूओं की रिपोर्ट के आधार पर श्यामलाल के खिलाफ विभिन्न धाराओं में एफआईआर दर्ज कराई गई है।

कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम ने विक्रेता द्वारा बरती गई लापरवाही पर नाराजगी जताते हुए निर्देश दिए है कि गरीबो को मिलने वाले अनाज वितरण में किसी भी तरह की कोताही, लापरवाही बर्दाश्त नही की जाएगी। सस्ते अनाज की आस में गरीब लोग दिहाड़ी छोड़ दिनभर कतार में न खड़े इसलिये घर, घर राशन वितरण व्यवस्था भी शुरू की गई है। कर्मचारियों का दायित्व है कि वह किसी भी हितग्राही को बेवजह राशन के लिये दुकानों का चक्कर न लगवाए।