इंदौर कोषालय के आई.एफ.एम.आई.एस. सॉफ्टवेयर में हुआ बड़ा बदलाव

इंदौर कोषालय के आई.एफ.एम.आई.एस. सॉफ्टवेयर में हुआ बड़ा बदलाव

शासकीय सेवकों को बिना देरी होगा भुगतान।

आयुक्त, कोष एवं लेखा द्वारा वर्तमान में संचालित आई.एफ.एम.आई.एस. सॉफ्टवेयर में दूरदर्शी पहल करते हुए New Aspect of visioned Initiative थीम पर आधारित दो नवीन सुविधा विकसित की गई है।

वरिष्ठ कोषालय अधिकारी श्री टी.एस. बघेल ने बताया कि आई.एफ.एम.आई.एस. सॉफ्टवेयर में आधार आधारित भुगतान प्रणाली (AEPS) एवं कर्मचारियों के पदों की मेपिंग संबंधी नवीन सुविधा विकसित की गई है। आधार आधारित भुगतान प्रणाली (AEPS) द्वारा आई.एफ.एम.आई.एस. सॉफ्टवेयर के सर्वर से स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के सर्वर द्वारा आधार से सीधे बिना मानवीन हस्तक्षेप के शासकीय सेवक/वेंडर के खाते में राशि का भुगतान हो सकेगा। वहीं दूसरी ओर सॉफ्टवेयर में लोकल ऑफिस मेपिंग का कार्य भी किया जा रहा है, जिसमें आहरण एवं संवितरण अधिकारी कार्यालय के अधीन कार्य कर रहे कार्यालयों की एंट्री की जा रही है। मेपिंग में शासकीय सेवकों के पदों की मेपिंग होने के बाद शासन स्तर पर शासकीय सेवकों एवं उनके पदों की जानकारी आसानी से प्राप्त की जा सकेगी। साथ ही आई.एफ.एम.आई.एस. सॉफ्टवेयर से शासकीय सेवकों के स्थानांतरण भी किए जा सकेंगे।