भोपाल मध्यप्रदेश

संत शिरोमणि गुरु रविदास बालक छात्रावास का शुभारंभ

संत शिरोमणि गुरु रविदास बालक छात्रावास का शुभारंभ

मूलचन्द मेधोनिया पत्रकार भोपाल


भोपाल।

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में जिंसी चौराहा संत रविदास मंदिर अहिरवार समाज का ऐतिहासिक स्थल है। जहां पर मध्यप्रदेश के विभिन्न जिलों के बालक भोपाल में पढ़ने आते है, जो कि महंगे कमरों में रहने के लिए मजबूर थे।तथा बडे़ बडे़ छात्रावास में भी रहना होता है, जिनकी भी शुल्क बहुत अधिक रहती है।इस कारण गरीब लड़के अपनी पढा़ई नहीं कर पाते नतीजा रह रहता है कि फीस न देने के कारण बीच में ही पढा़ई छोड़ कर जाना पड़ता है।
जहांगीराबाद भोपाल के जिंसी चौराहा पर रविदास समाज का विशाल मंदिर है। जहां पर हाल इत्यादि है जहां पर गरीब और वंचित समाज के भोपाल पढाई करने वाले बच्चों के लिए संत शिरोमणि गुरु रविदास बालक छात्रावास का अहिरवार समाज के द्वारा शुभारंभ किया जा रहा है।मंदिर समिति के अध्यक्ष श्री सीताराम पटैल एवं श्री माधव सिंह अहिरवार जो कि मंदिर समिति के सचिव है।जिनके द्वारा बताया गया है कि हमारी समाज के बालक अधिक फीस के कारण यहां के छात्रावास में प्रवेश तक नहीं ले पाते इस कारण वह अपनी पढा़ई पूरी नहीं कर पाते। यही
प्रमुख समस्या को देखकर मंदिर समिति के द्वारा बालक छात्रावास का शुभारंभ किया है। जो कि बच्चों को उत्तम से उत्तम व्यवस्था देकर बच्चों को सुविधा उपलब्ध कराने के लिए सेवा प्रदान करेंगे।श्री सीताराम पटैल, श्री माधव सिंह अहिरवार, श्री कुंजी लाल सा
बामने ने अपील की है कि अहिरवार समाज के जो भी भोपाल राजधानी पढा़ई हेतु आये बालकों को छात्रावास शुरू कर प्रवेश है। मंदिर समिति सदस्यों को बहुत-बहुत बधाई शुभकामनाएं । जिन्होंनेअहिरवार समाज के बालकों के लिए छात्रावास शुरू किया है और मध्य प्रदेश की राजधानी निर्धारित शुल्क पर बच्चों का रहने और खाने की व्यवस्था करने पर समिति का बहुत-बहुत आभार अहिरवार समाज संघ मध्य प्रदेश बालक छात्रावास की हर संभव मदद करेगा ।
रविदासिया धर्म संगठन के प्रदेश अध्यक्ष श्री माधव सिंह अहिरवार जी ने बताया है कि छात्रावास में रहने ठहरने की व्यवस्था के साथ ही सामाजिक और व्यवहारिक शिक्षा भी छात्रावास में निशुल्क शिक्षा दी जायेगी। इसके अलावा समय समय इतिहास व महान क्रांतिकारी, वीर, शहीदों के योगदान शिक्षा सम्बंधित जानकारी भी बिषय विशेषज्ञों प्रदान करने की भी कोशिश की जायेगी।

About The Author

Related posts