इंदौर मध्यप्रदेश

इंदौर। आदिवासी का सबसे बड़ा संगठन जयस की प्रदेश स्तरीय बैठक संपन्न।

इंदौर। आदिवासी का सबसे बड़ा संगठन जयस की प्रदेश स्तरीय बैठक संपन्न।

इंदौर में संयुक्त जयस की प्रदेश स्तरीय बैठक रखी गई थी जिसमे जयस के सामाजिक युवा शामिल हुए जयस प्रदेश अध्यक्ष अंतिम मुझाल्दा, जयस प्रदेश महासचिव गेंदालाल रणदा, प्रदेश उपाध्यक्ष अंशुल शाह मरकाम, उज्जैन संभाग सचिव मनोजशाह उईके, हरदा जिला अध्यक्ष राकेश ककोडिया, प्रभारी परसोत्तम कलम, धनसिंह भलावी, धार जिला उपाध्यक्ष राजू मेहरा, खंडवा जिला अध्यक्ष पीयूष मोजले, प्रभारी संदीप पटेल, बेतूल जयस प्रचारक शिवानी धुर्वे, इंदौर उपाध्यक्ष शुभम सोलंकी, झाबुआ ज्योति भील, इंदौर आईटी सेल छोटू मुवेल, हर्षवर्धन मंडलोई, प्रीतम बामनिया देवास, बाला मोरी, विकास मंडलोई, मांगीलाल इकवाले, रूपेंद्र ठाकुर, सीताराम असके, जयकुमार, भीम गिरवाल, प्रवण भाभर, कमलेश मोहनीया, सारंगपूर राजेन्द्र श्रीलाला, सोनू पानसे, सत्यनारायण सुचार, प्राधश्याम मोरे, दीक्षा उईके, भीम गिरवाल, राहुल चन्देल, एवं प्रदेशभर से पधारे पदाधिकारी एवं जयस युवा साथी शामिल हुए एवं मुद्दों पर चर्चा की गई।

  1. बैकलॉग पद एवं अन्य विभागों में अभी तक भर्ती नहीं की गई उसको लेकर लेकर चर्चा की गई
  2. जयस युवा नेतृत्व 2023 एवं आगामी रणनीति को लेकर चर्चा की जाएगी
  3. शिक्षा, स्वास्थ्य, पालयन, बेरोजगारी की समस्या को लेकर ठोस कदम उठाया जाएगा
  4. प्रदेश स्तरीय कार्यालय एवं हेल्पडेस्क और इंदौर, भोपाल में जयस लाइब्रेरी खोलने को लेकर चर्चा की जाएगी।
  1. जयस संगठन कार्यकारिणी एवं हर साल अक्टूबर माह से दिसंबर माह तक सदस्य अभियान चलाने को लेकर चर्चा की जाएगी।
  2. संविधान में दिए गए अधिकार पांचवी छठी अनुसूची, पेशा कानून, वन अधिकार कानून, एवं अन्य मुद्दों पर तहसील, और जिले एवं प्रदेश स्तर पर अधिवेशन को लेकर चर्चा की जाएगी।
  3. मध्यप्रदेश में शोषण, अत्याचार, बेरोजगारी, किसानों एवं छात्रों के साथ शोषण आए दिन हो रहे हैं उस पर सरकार ठोस कदम नहीं उठाती है तो नवंबर माह के बाद विधानसभा घेराव को लेकर चर्चा की जाएगी।
  1. प्रदेश मे नेमावर हत्याकांड, नीमच (बांदा) हत्याकांड, देवास एलएनटी कंपनी हत्याकांड, खरगोन जेल हत्याकांड, गुना हत्याकांड, हरदा हत्याकांड, सागर हत्याकांड, इंदौर मानपुर हत्याकांड एवं प्रदेश भर में आए दिन बढ़ रहे अपराधिक मामले को लेकर चर्चा की जाएगी एवं आगे की रणनीति तैयार की जाएगी
  2. प्रदेश के आदिवासियों की संस्कृति, भाषा, रीति रिवाजों परंपराओं को सुरक्षित करने के लिए एवं सभी आदिवासी क्रांतिकारियों के बारे में जिले स्तर पर शिविर लगाया जाए एवं समाज में जन जागरूकता लाई जाए।
  1. आदिवासी विकास के लिए आर्टिकल 275 के अंतर्गत ट्रायवल सब प्लान का पैसा आदिवासियों के शिक्षा, स्वास्थ्य, बेरोजगारी, कुपोषण, बिजली पानी जैसे मूलभूत समस्याओं को दूर करने को लेकर जिला स्तर पर कैंप लगाया जाए और जयस की आगामी रणनीति को लेकर चर्चा की गई।

About The Author

Related posts