पक्षकारों को न्याय देने की साधारण प्रक्रिया है लोक अदालत-कलेक्टर श्री वर्मा

बड़वानी 12 नवंबर 2022/नेशनल लोक अदालत के माध्यम से पक्षकारों के आपसी मन-मुटाव दूर होकर उन्हे सुलह एवं समझौते के आधार पर साधारण प्रक्रिया के तहत न्याय मिल जाता है। साथ ही पक्षकार को अपनी कोर्ट फीस भी वापस मिल जाती है। इसके साथ ही दोनों पक्ष कोर्ट केस के मानसिक तनाव से भी मुक्त हो जाते है।

कलेक्टर श्री शिवराजसिंह वर्मा ने उक्त बाते शनिवार को जिला न्यायालय बड़वानी में नेशनल लोक अदालत का शुभारंभ करते हुए कही। इस दौरान कलेक्टर श्री वर्मा ने उपस्थितों को प्रदेश में चल रहे नशा मुक्ति अभियान की जानकारी देकर नशे के दुष्प्रभावों की जानकारी देते हुए कहा कि सामाजिक ताना-बाना तोड़नपे में कही न कही नशा जिम्मेदार है। कोई भी व्यक्ति अगर किसी भी प्रकार का नशा करता है तो वह इसे छोड़कर स्वस्थ्य एवं सुखी जीवन जीये।

इस दौरान पुलिस अधीक्षक श्री दीपक कुमार शुक्ला, विशेष न्यायाधीश श्री जाकिर हुसैन, अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष श्री सोहनलाल पाटीदार सहित जिला न्यायालय के न्यायाधीशगण, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव श्री अमितसिंह सिसोदिया, अधिवक्ता, पैरालीगल वालियंटर्स उपस्थित थे।

इस दौरान विशेष न्यायाधीश श्री जाकिर हुसैन ने बताया कि लोक अदालते त्वरित, सुलभ न्याय के अच्छे माध्यम है। इन अदालतों में निराकृत प्रकरणों से पक्षकारों के मध्य आपसी सौहार्द बना रहता है। क्योंकि विवाद का निराकरण आपसी समझौते से किया जाता है। उन्होंने बताया कि बड़वानी जिले में लगने वाली नेशनल लोक अदालते अपने उद्देश्य में पूरी तरह से सफल सिद्ध हो रही है।

क्योंकि इन अदालतों में शासकीय विभागों के पदाधिकारी भी बढ़-चढ़कर सहयोग करते हैं वही बार एसोसिएशन के सदस्यगण भी उत्साह से सहयोग करते हैं। जिसका लाभ पक्षकारों को मिल रहा है।