नरसिंहगढ़। राजगढ़ जिले में पहली बार एक मंच पर बैठे एससी एसटी संघठनो के पदाधिकारी।

नरसिंहगढ़ राजगढ़ मध्यप्रदेश। कबीर मिशन समाचार

नरसिंहगढ़। आज दिनांक 25 दिसंबर 2022 को नरसिंहगढ़ के ग्राम सराना संत रविदास गुरुकुल आश्रम मे अनु. जाति/ जनजाति एकता मंच संजोया गया व जिले के सभी जातिगत व सामाजिक संगठनो के ज़िला व प्रदेश अध्यक्ष तथा अन्य पदाधिकारी एक मंच पर नज़र आये।

कार्यक्रम अनु. जाति जनजाति एकता मंच ज़िला अध्यक्ष जगदीश गनियारी व उनकी टीम द्वारा कार्यक्रम का आयोजन किया गया व सभी को आमंत्रित किया गया था।

कार्यकम में अजाक्स, भीम आर्मी, जयस, मेघवाल संगठन, ब्रज वासी (जाटव) संगठन, बलाई समाज संगठन, सपेरा समाज संगठन, अहिरवार जांगडा समाज संगठन, एवं अन्य सभी अनु. जाति जनजाति के सामाजिक संघठनो के ज़िला एवं प्रदेश पदाधिकारी शामिल हुए थे।

कार्यक्रम में सर्वप्रथम बाबा साहब डॉ अम्बेडकर जी, संत गुरु रविदास जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया गया। देखा जाय तो उक्त कार्यक्रम मे भीम आर्मी कि टीम सबसे पहले आकर पहुंची और अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। जिसमें भीम आर्मी संभाग वरिष्ठ उपाध्यक्ष अमन मकवाना, भीम आर्मी मुख्य प्रभारी राजकुमार आज़ाद ज़िला कौर कमेटी, मुकेश मालवीय, रामेश्वर मालवीय, दीपक वाल्मीकि सचिव, विशाल लावर, गोविन्द, एवं सैकड़ो भीम सैनिक उपस्थित हुए।

धीरे धीरे अन्य सभी मुख्य अतिथि उपस्थित होते गए जिनमें अजाक्स प्रांतीय सचिव बंशीलाल घनवाल जी, सपेरा समाज प्रदेश अध्यक्ष भाटी, बलाई समाज ज़िला अध्यक्ष जगन्नाथ मालवीय, अजाक्स ज़िला अध्यक्ष जगदीश वर्मा, जयस ज़िला अध्यक्ष कैलाश भीलाला, एवं अन्य सभी संगठनो के सैकड़ो कार्यकर्ता उपस्थित हुए।

सभी का उद्बोधन हुआ व सभी ने शिक्षा पर जोर देते हुए, जातिवाद पर कारारी चोट मारते हुए सामाजिक संघठन को नष्ट करने को लेकर अपने अपने विचार रखे और सबका एक ही संघठन आगे करने पर चर्चा कि, साथ ही सभी ने निर्णय लिया कि अब जब भी जहां भी अनु जाति जनजाति पर अत्याचार होगा हम सब एक साथ उपस्थित होकर न्याय कि आवाज बुलंद करेंगे।
चर्चा मे खेड़ावद एवं शाजापुर मे एससी वर्ग पर हुई घटनाओं का उदाहरण देकर बताया गया और इसका कारण जातिगत फुट बताया गया। जिसमें एक जाति का व्यक्ति दूसरे जाति को सपोर्ट न करना मुख्य कारण बताया।


वही धनवाल जी ने पेपर कटिंग के माध्यम से सरकार द्वारा एससी एसटी वर्ग के किये जा रहे संवेधानिक अधिकारों के हनन के बारे में बताया, किस प्रकार निजीकरण कर रोजगार खत्म किया जा रहा।
छात्र छात्राओं कि छात्रवृत्ति एवं आवास राशि को आए 2 – 2 साल हो गए बजट का कहीं अन्य जगह उपयोग कर लिया जा रहा है। एससी एसटी वर्ग के लोगो को एट्रोसीटी के तहत न्याय के लिए मिलने वाली सहायता राशि का बजट गायब कर दिया गया है एवं अन्य कई मुद्दों को विस्तार से रखा गया। एकता के साथ इन सब मुद्दों को उठाने कि अपील कि गई। वही भीम आर्मी कार्यकर्ताओ ने भी जातिवाद पर तीखी टिप्पणी करते हुए कहा कि पहले अपने अंदर के जातिवाद को खत्म करें और जाति को तोड़कर एक समाज का निर्माण करें व जातिवादी सभी संगठनो को नष्ट करें।


मंच संचालक रिटायर्ड फौजी जी ने बार बार भीम आर्मी संगठन कि सराहना करते हुए यह भी कहा कि न्याय की आवाज उठाने के लिए डायल 100 से पहले भीम आर्मी के कार्यकर्ता पहुंचते है।
सभी वक्ताओ ने अपने उद्बोधन मे कहा कि, जो समाज के लिए जमीनी स्तर पर लड़ाई लडते है ऐसे समाज के नव यूवाओ को आर्थिक सामाजिक व राजनैतिक रूप से सहयोग करना चाहिए, बाबा साहब के सपने शिक्षित बनो, संगठित बनो संघर्ष करो तथा कांशीराम साहब के सूत्र टाइम, टेलेंट, टेजरी को समाज मे देना होगा।

तत्पचात समाज के लिए दिन रात कार्य करने वाले समाज में सक्रिय कार्यकर्ताओ को सम्मान पत्र वितरित कर सम्मानित किया गया। आभार गोविन्द मेघवाल ने माना।

कार्यक्रम में उपस्थित अतिथि गण, मुख्य अतिथि, मा श्री बंशीलाल घनवाल, संभागीय अध्यक्ष म. प्र. अजाक्स, मा. श्री मोहन जादम साहब राष्ट्रीयअध्यक्ष राष्ट्रीय मेघवाल परिषद ,श्री केलाशचन्द्र जाटव पण्डाजी प्रदेश अध्यक्ष ब्रजवासी जाटव समाज चोरासी म. प्र.
श्री नारायण सिंह वर्मा प्रदेश कार्यवाहक अध्यक्ष अहिरवार समाज संघ म. प्र., श्री रामाकृष्ण वर्मा जी प्रदेश सचिव म. प्र.
श्री बनवारी लाल खींची संभागीय सचिव म. प्र. ,रंगलाल भाटी प्रदेश अध्यक्ष घुमक्कड़ समाज म. प्र.
रामबाबू वाल्मिकि, देवकरण वाल्मिकि, जगदीश वर्मा जिला अध्यक्ष अजाक्स राजगढ़ मांगीलाल सहरीया जिला अध्यक्ष, केलाश वर्मा जिला अध्यक्ष राष्ट्रीय मेघवाल परिषद, कैलाश भिलाला जिला अध्यक्ष जयस संगठन राजगढ़, सुरेश सपेरा जिला अध्यक्ष सपेरा समाज, भीम आर्मी मुख्य प्रभारी राजकुमार आज़ाद ज़िला कौर कमेटी,अमन मकवाना संभाग वरिष्ठ उपाध्यक्ष, दीपक नरवाले संभागीय सचिव भीम आर्मी, रामेश्वर मालवीय, कोमल वर्मा, अरुण मालवीय, रामसिंह मालवीय, मुकेश मालवीय, राजकुमार वर्मा, डॉ राजेश वर्मा, डॉ गोपाल वर्मा, हुमायु, रामप्रसाद वर्मा, विशाल लावर, बलाई समाज ज़िला अध्यक्ष जगन्नाथ मालवीय, पवन मालवीय, दिनेश जोनवाल, अनोखी लाल, बालमुकन्द मेघवाल, रोड़मल ठेकेदार, रमेश जादम, फूलसिंह सूर्यवंशी, राजेश आटेरिया, राधेश्याम मालवीय, भागीरथ पाण्डव, जानकीलाल जाटव, नितेश कटारिया, हरिओम जाटव, रामसिंह वर्मा, लखन वर्मा गोलियापुरा ,शिवनारायण फोजी, गोविन्द मेघवाल, डॉ गोपाल वर्मा, अनुसूचित जाति जनजाति के समस्त पदाधिकारी गण एवं भीम आर्मी के समस्त कार्यकर्ता, समाज के वरिष्ठ समाजसेवी लोग उपस्थित हुए।