राजगढ़। मेघवाल समाज को राजस्व रिकार्ड में इंद्राज करवाने जिले विधायकों ने लिखे सीएम शिवराज को पत्र

सारंगपुर। कबीर मिशन समाचार।राजगढ़ जिले के मेघवाल समाज के जिलेभर से मांग उठी कि राजस्व खाता खतौनी में मेघवाल मेंजाति अंकित हो गत दिनांक 20 11 2022 को मेघवाल समाज का प्रांतीय अधिवेशन खुजनेर में आयोजित किया गया था जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में केंद्रीय मंत्री माननीय अर्जुन राम मेघवाल के साथ-साथ राजगढ़ संसदीय क्षेत्र के सांसद रोडमल नागर एवं संसद क्षेत्र के पांचों विधायक के साथ राजस्थान प्रदेश के विधायक गण सम्मिलित हुए थे।

जिसमें समाज द्वारा केंद्रीय मंत्री जी के समक्ष सभी जनप्रतिनिधियों को एक मांग पत्र सौंपा गया था उक्त जानकारी देते हुए बालू सिंह वर्मा कूपा प्रदेश संयुक्त सचिव राष्ट्रीय मेघवाल परिषद द्वारा बताया कि मेघवाल समाज द्वारा जिले भर से नहीं अपितु पूरे मध्यप्रदेश में मेघवाल समाज प्रमुखता से मांग करते हुए समाज की ओर से यह मांग की गई थी कि मेघवाल जाति के जाति प्रमाण पत्र जारी होने में बड़ी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है क्योंकि पिछले 2019 में मेघवाल जाति प्रमाण पत्र बनवाने हेतु मध्यप्रदेश शासन से आदेश भी चुका है राजस्व रिकॉर्ड में गलत जाति अंकित होने की वजह से अनेकों जगह समस्या उत्पन्न होती है।

इसलिए मेघवाल जाति के राजस्व रिकॉर्ड खाता खतौनी में चमार जाति अंकित है उक्त जाति के स्थान पर मेघवाल जाति इंद्राज की जाए ऐसी प्रमुख मांग करते हुए आयोजक समिति के द्वारा केंद्रीय मंत्री के साथ साथ सभी विधायक गणों को मांग पत्र सौंपा था उक्त मांग पत्र के तारतम्य में जिले के सभी विधायक गणों द्वारा मध्यप्रदेश शासन माननीय मुख्यमंत्री जी को अपने-अपने विधानसभा वार मांग पत्र के दृष्टिगत सारंगपुर विधायक कुंवर जी कोठार द्वारा एक पत्र लिखकर मेघवाल समाज की मांग को प्रमुखता के साथ मध्यप्रदेश शासन को पत्र लिखा गया।

जिसमें चमार जाति के स्थान पर राजस्व रिकॉर्ड में मेघवाल जाति अंकित की जाने का अनुरोध अनुरोध कर जल्द आदेश पारित करने का अनुरोध किया जिले से लगभग लगभग सभी माननीय विधायकों के द्वारा इस प्रकार लेटर पैड लिखकर मेघवाल समाज की समस्या का समाधान करने का अनुरोध मध्यप्रदेश शासन से किया जिससे जिले भर में मेघवाल समाज में हर्ष का विषय है।