खरगोन में रैली का आयोजन सम्पन्न


मूलचन्द मेधोनिया पत्रकार भोपाल मोबाइल 8878054839


खरगोन।

मप्र के खरगोन जिले के महेश्वर में पेंशन विहीन
कर्मचारियों की आक्रोश रैली में लाखों लोग जुटे।
सरकार को नौकरियों के नाम पर लोगों का वर्तमान, भविष्य, बुढापा बर्बाद करने वाली नीतियों को बदलना ही होगा?
पेंशन राजनीतिक मुद्दा है, यह बात समझनी होगी, तभी इस लडाई को जीता जा सकता है।


भाजपा की राजनीति है अस्थाई नौकरियां देना, पेंशन विहीन कर्मचारी रखना, सरकारी क्षेत्र के समाप्त करना। पं. अटल बिहारी वाजपेयी ने भाजपा की वैचारिक राजनीति को आगे बढाते हुए पेंशन बंद की, स्थाई नौकरियां समाप्त की। 25 साल पहले के भाजपा के राजनीतिक फैसले की पीडा आज भुगत रहे हैं।


कांग्रेस की राजनीति है सरकारी क्षेत्र को मजबूत बनाकर लोगों को आर्थिक रूप से ताकतवर बनाना, नेहरूजी ने पेंशन देकर यही काम किया और इंदिरा जी ने राष्ट्रीयकरण करके सरकारी क्षेत्र का विस्तार किया, जिनमें मिली नौकरियां स्थाई, सम्मानजनक वेतन और पेंशनवाली थीं, कांग्रेस की नीतियों ने ही लोगों को आर्थिक ताकत दी है, यह बात जितनी जल्दी समझ जाएंगे, उतना लोगों के लिए, देश के लिए बेहतर होगा।
आईए,
कांग्रेस की ओर वापस लौटें,
आउटसोर्स प्रथा बंद कराएं,
लोगों को आर्थिक ताकत दे।
6 नवंबर को पीसीसी भोपाल आएं।