विज्ञापन के लिए संपर्क करें - 8462072516
विज्ञापन के लिए संपर्क करें - 8462072516
October 6, 2022

रतलाम/ताल। नगर परिषद अध्यक्ष पद पर मुकेश परमार, एवं उपाध्यक्ष पद पर अर्चना कमलेश राठौर निर्वाचित

गोवर्धन परमार कबीर मिशन जिला ब्यूरो चीफ (रतलाम) 9009559097

ताल नगर परिषद के अध्यक्ष पद के आरक्षण अनुसार चुनाव निर्वाचन अधिकारी द्वारा ताल परिषद कार्यालय पर 10 अगस्त को निर्धारित समय अनुसार संपन्न कराये गये जिसमे अध्यक्ष पद के भाजपा उम्मीदवार मुकेश परमार के पक्ष मे 11 मत पडे ,एवं कांग्रेस प्रत्याशी बंकट राठौर ,के पक्ष मे 04 मत पडे जिसमे निर्वाचन अधिकारी ने मुकेश परमार ,को विजयी घोषित करने की घोषणा की व कुछ समय पश्चात उपाध्यक्ष पद पर भाजपा की श्रीमति अर्चना कमलेश राठौर ,को निर्विरोध विजयी धोषित किया गया ।

नगर परिषद कार्यालय के बाहर समर्थको की भीड उमड पडी थी जैसे ही मतदान कक्ष से बाहर आकर मुकेश परमार, ने अपने समर्थकों को विजयी होने का वी चिन्ह का ईशारा किया तो उनके ,समर्थकों ने आतिशबाजी कर खुशी का ईजहार किया ,चुनाव संपन्न होने के बाद पुलिस की सुूरक्षा व्यवस्था मे विजयी उम्मीदवार अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष का विजयी जुलुस निकाला गया । प्राप्त जानकारी के अनुसार ताल नगर मे 15 वार्ड पार्षदो का चुनाव संपन्न हुवा था जिसमे चुनाव परिणाम मे भारतीय जनता पार्टी के 04 पार्षद एवं कांग्रेस के 5 पार्षद एवं 06 निर्दलिय पार्षद विजय हुवे थे।

जनता ने किसी भी पार्टी को स्पष्ट बहुमत नहीं दिया था परंतु अध्यक्ष पद मे वार्ड पार्षदो मे से ही आरक्षण अनुसार नगर परिषद का अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष चुनना था जिसमे भाजपा उम्मीदवार मुकेश परमार, के पक्ष मे 11 मत प्राप्त हुवे ,व कांग्रेस के प्रत्याशी बंकट राठौर ,के पक्ष मे 04 चार मत मिले और आपको पराजय का सामना करना पडा ।

कांग्रेस का एकमत क्रास वोटिंग हुआ। भाजपा की आपसी गुटबाजी होने के कारण पार्षदों के चुनाव मे वार्ड पार्षद प्रत्याशीयों के चयन से ही भाजपा में कहीं न कहीं असंतोष उभर रहा था। जिसमें भारतीय जनता पार्टी के असंतुष्ट संभावित उम्मीदवारों ने भाजपा उम्मीदवारों की मुश्किले बढाते हुवे वार्ड पार्षद पद पर खडे हुवे जिसमे अधिकांश भाजपा के बागी उम्मीदवार जो भाजपा पहले टीकट मांग रहे थे उनको भाजपा से टीकट नही मिलने के बाद भी वे निर्दलिय स्वतंत्र उम्मीदवार के रूप मे विजयी हुवे

और भारतीय जनता पार्टी के अधिकृत प्रत्याशीयों मे से मात्र भाजपा चार पार्षदों पर आकर सीमट गई वही राजनीतिक सुत्रों एवं जानकारो की मानें तो कांग्रेस अंतिम समय के एक -दो दिन पुर्व तक पुरे जोश मे होकर कांग्रेस समर्थीत पार्षद बंकट राठौर जो कांग्रेस के टीकट से वार्ड क्रमांक 01 से विजयी हुवे है,वे पुरी तरीके से नगर परिषद के अध्यक्ष पद पर काबिज होने को लेकर आश्वस्त नजर आ रहे थे ,क्योंकि उनके सपंर्क मे कांग्रेस पार्षदो सहित अन्य निर्दलिय आदि पार्षदों का भी कहीं न कहीं समर्थन मिलने की संभावना बनने की जन चर्चा बनी हुई थी ।

जिसे लेकर वे आश्वस्त नजर आ रहे थे परंतु चुनाव के ऐन वक्त पर एक दिन पुर्व ही आपसी भाजपा की आपसी गुटबाजी के कारण भाजपा के संभावित प्रत्याशी ने भी भाजपा के मुकेश परमार, को समर्थन देने की जनचर्चा सामने आने पर सारे राजनीतिक समीकरण अचानक बिगड गये और जिसके लिये सारी ताकत लग रही थी वही व्यक्ति दुसरे गुट मे जाने के कारण सभी के राजनीतिक समीकरण बिगड गये

और बुधवार को प्रातः सारी स्थिती आईने की तरह साफ हो गई कि नगर परिषद अध्यक्ष पद पर मुकेश परमार, काबिज होकर नगर के प्रथम नागरीक होने का गौरव पा्रप्त करेगें एवं उपाध्यक्ष पद को लेकर भी स्थिती आईने की तरह स्पष्ट हो गई थी‌ और चुनाव होने के बाद उक्त सभी जनचर्चाओं का प्रमाणीकरण हो गया और भाजपा ने बाजी मारते हुवे अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष पद पर कब्जा कर लिया।

उपाध्यक्ष पद पर निर्विरोध भाजपा समर्थित विजय नगर परिषद के उपाध्यक्ष पद पर श्रीमति अर्चना ,पति कलेश राठौर, निर्विरोध विजयी हुवी ।वहीं कांग्रेस पार्टी अपना उपाध्यक्ष पद के लिये उम्मीदवार तक खडा न कर पाई जिस कारण नगर परिषद अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष दोनेा ही पदो पर भाजपा का कब्जा हो गया।कांग्रेस की और से उपाध्यक्ष पद के लिये कांग्रेस अपना प्रत्याशी भी नहीं उतार पाई कहीं न कहीं अध्यक्ष पद मे जो चार मत मिले उसे लेकर कांग्रेस मे निराशा रही जिसका फायदा भाजपा को मिला और वह उपाध्यक्ष को निर्विरोध जिता दिया।

उपाध्यक्ष पद की प्रत्याशी श्रीमति अर्चना राठौर ,ताल नगर के राठौर समाज के समाजसेवी एवं कृषक नानालाल ,राठौर की पुत्रवधु है वही पराजित प्रत्याशी कांग्रेस पार्षद बंकट राठौर, ने कबीर मिशन समाचार से चर्चा करते हुवे उक्त चुनाव को लेकर बताया कि यह नगर परिषद अध्यक्ष का चुनाव मे जनता की हार हुवी है नेता की जीत हुवी है ,प्रेम हार गया है व पैसा जीत गया है

वहीं पराजित प्रत्याशी के आरोपो को लेकर नवनिर्वाचित नगर परिषद अध्यक्ष मुकेश परमार, ने कहा कि कांग्रेस प्रत्याशी हार की बोखलाहट मे बोल रहे है नगर परिषद के चुनाव मे भाजपा के 4 प्रत्याशी चुनाव जीते थे और भाजपा के ही 6 बागी पार्षद चुनाव जीते थे।

जिसमें 6 और 4 मिला कर 10 मत होते है और मुझे 11 मत मिले हैं,जो भी आरोप लगाये वे गलत है और कांग्रेस के एक पार्षद का भी मत मुझे नगर के विकास के नाम पर मिला है। वहीं नवनिर्वाचित प्रत्याशी श्री परमार ने नगर परिषद की जनसमस्याओं एवं जनचर्चाओं को लेकर प्रमुखता से प्रमाशित खबर पर संज्ञान लेते हुवे बताया कि मेने कबीर मिशन मे प्रकाशित समाचार पढा हैं।

उसमे तीन चार ज्वंलंत समस्याऐ है उसका त्वरीत निराकरण करेंगे नगर परिषद अध्यक्ष का पदभार ग्रहण करते ही कुछ सुधारने की कोशीश करेगें और नगर का विकास पहली प्राथमिकता रहेगा।नवनिर्वाचित नगर परिषद अध्यक्ष मुकेश परमार मीसाबंदी मांगीलाल परमार के सुपुत्र हैं एवं जिला पंचायत के पूर्व उपाध्यक्ष राजेश परमार के छोटे भाई है।

बरहाल कई दिनों से चल रही चुनावी अटकल बाजिओ को विराम लगते हुए अब नगर परिषद की पूरी स्थिति स्पष्ट हो गई है. नगर की कई जन समस्याओं का सामना नई परिषद को करते हुए उन समस्याओं का हल करना सबसे बड़ी चुनौती है जो समय की गर्त में है