विज्ञापन के लिए संपर्क करें - 8462072516
विज्ञापन के लिए संपर्क करें - 8462072516
September 25, 2022

रामकोला पंजाब फैक्ट्री में खतौली को लेकर, किसानों में बवाल हुआ…

रामकोला पंजाब फैक्ट्री में खतौली को लेकर, किसानों में बवाल हुआ...

कबीर मिशन समाचार पत्र तहसील संवाददाता योगेश गोविंदराव कप्तानगंज कुशीनगर उत्तर प्रदेश.

उत्तर प्रदेश 23 मार्च 2022 , प्रदेश बुधवार को रामकोला चीनी मिल के डोंगे पर किसानों ने घंटो धरना दिया । किसानो का आरोप था कि घटतौली पकड़ने के बाद भी कार्यवाही नही हो रही है। किसानो के भारी दबाव के बाद डीसीओ ने तहरीर लेकर मुकदमा पंजीकृत कराने का आदेश रामकोला (पी) के सचिव को दिया । रामकोला थाने में चीनी मिल के प्रधान प्रबंधक सहित चार लोगों पर मुकदमा दर्ज हो गया।गया।

रामकोला थाना क्षेत्र के रामबर बुजुर्ग निवासी पूर्व प्रधान व जिला पंचायत सदस्य प्रतिनिधि बलराम राव द्वारा दी गयी तहरीर के अनुसार उन्होने माता जिलेबा देवी के नाम की सप्लाई टिकट पर 22 मार्च को अपने गन्ने का धर्मकांटा करवाकर चीनी मिल में भेजा। 23 मार्च की सुबह जब उसका नम्बर आया तो चालक गन्ना लदा ट्रेलर लेकर कांटे पर पहुंचा। आरोप यह है कि चीनी मिल में तौल के बाद गन्ने का वजन धर्मकांटे से 2 क्विंटल 10 किलो का अंतर आया। चालक ने तौल लिपिक से इस वजन पर आपत्ति की और यह बात बलराम राव से बताई। आरोप है कि धर्मकांटे पर तौल की बात जानकारी होने के बाद चीनी मिल के कर्मचारियों ने ट्रैक्टर को कांटे से पीछे करवा दिया और दुबारा तौल करवाया। दुबारा तौल करवाने पर अंतर वजन 75 किलो कर दिया गया ।

बलराम राव इसकी सूचना डीएम व डीसीओ को सूचना दी और खुद चीनी मिल पहुंच गए। मौके पर पहुंचे डीसीओ ने तौल लिपिक को बुलाकर पूछताछ की। उसके बाद बलराम राव तौल कांटे के बाहर सड़क पर धरने पर बैठ गए और दोषियों पर मुकदमा दर्ज कराने की मांग करने लगे। करीब एक घण्टे तक जब डीसीओ मौके पर नही आये तो किसानों संग जिला पंचायत सदस्य प्रतिनिधि जाकर चीनी मिल के चलते डोंगे में कूद गए।

इसके बाद चीनी मिल में पेराई ठप हो गई। किसानों की मांग पर रामकोला केन यूनियन के सचिव भी डोंगे में बैठ गए।डीसीओ ने तहरीर लेकर रामकोला पी के सचिव अंगद शर्मा को मुकदमा पंजीकृत कराने का निर्देश दिया। बलराम राव की तहरीर पर रामकोला थाने में प्रधान प्रबंधक, मुख्य गन्ना प्रबंधक, कारखाना प्रबन्धक और आईटी सेल के प्रबन्धक पर आइपीसी के विभिन्न धाराओ के तहत मुकदमा दर्ज किया गया।