अ.जा. वर्ग को प्रोत्साहन राशि के लिये आवेदन-पत्र 16 फरवरी तक आमंत्रित

उज्जैन 25 जनवरी। महर्षि वाल्मिकी प्रोत्साहन योजना अन्तर्गत शैक्षणिक सत्र 2022-23 के लिये अनुसूचित जाति वर्ग के अभ्यर्थियों को प्रोत्साहन राशि प्राप्त करने हेतु आवेदन-पत्र 16 फरवरी तक आमंत्रित किये जा रहे हैं।

जनजातीय कार्य विभाग के जिला संयोजक श्रीमती रंजना सिंह ने यह जानकारी देते हुए बताया कि उक्त योजना में आवेदन करने हेतु पात्रता एवं शर्तें निम्नानुसार हैं- आवेदनकर्ता मप्र का मूल निवासी होकर अनुसूचित जाति वर्ग का सदस्य होना चाहिये। जेईई एडवांस परीक्षा उत्तीर्ण कर आईआईटी में नीट से प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण कर एमबीबीएस व बीडीएस पाठ्यक्रमों में क्लेट प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण कर एनएलआईयू में एनडीए प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण कर राष्ट्रीय रक्षा कार्य तथा पाठ्यक्रमों में प्रवेश लेने पर प्रत्येक पात्र अभ्यर्थी जिनके माता, पिता, पालक या स्वयं की आय छह लाख रुपये वार्षिक तक है, उन्हें प्रोत्साहन राशि 50 हजार रुपये के मान से प्रदाय की जायेगी।

आय सीमा छह लाख से अधिक एवं 10 लाख से कम होने पर आईआईटी एम्स, एनएलआईयू एनडीए तथा नीट के लिये 25 हजार रुपये प्रोत्साहन राशि देय होगी। इसी तरह जेईई मेन्स प्रवेश परीक्षा के माध्यम से एनआईटी में प्रवेश लेने पर प्रत्येक पात्र अभ्यर्थी को 25 हजार रुपये के मान से प्रदाय की जायेगी। दस लाख रुपये से अधिक वार्षिक आय है, उन्हें प्रोत्साहन राशि की पात्रता नहीं होगी। उक्त योजना के तहत अभ्यर्थी अपने आवेदन-पत्र जिला संयोजक जनजातीय कार्य विभाग उज्जैन के कार्यालय में जमा कर सकते हैं। योजना के तहत वही विद्यार्थी आवेदन करें, जिन विद्यार्थियों ने शैक्षणिक सत्र 2022-23 में उक्त शैक्षणिक संस्थाओं में प्रवेश लिया हो। कार्यालय में आवेदन जमा करने की अन्तिम तिथि 16 फरवरी नियत की गई है।