सीहोर। जिले में रासायनिक उर्वरकों की पर्याप्त उपलब्धता

सीहोर : जिले में रासायनिक उर्वरक की पर्याप्त उपलब्धता है। वर्तमान में जिले में रबी फसलों की बुआई का कार्य प्रगति पर है, जिससे बेसल डोज के रूप में डीएपी, एनपीके एवं एसएसपी तथा जिन किसानों द्वारा माह अक्टूबर में गेहूं की बोनी कर दी गई हैं, उन्हें प्रथम सिंचाई के साथ यूरिया की आवश्यकता होगी। कृषि विभाग के उप संचालक श्री केके पाण्डे ने जानकारी दी कि रबी वर्ष 2022-23 के लिए वर्तमान में जिले में कुल यूरिया 2813, डीएपी 5052, एसएसपी 2902 एवं 1346 मीट्रिक टन एनपीके उपलब्ध है। विपणन संघ के गोदाम में 1460 मीट्रिक टन यूरिया, 1892 मीट्रिक टन डीएपी उपलब्ध है। इसी प्रकार 108 सहकारी समितियों में 478 मीट्रिक टन यूरिया, 2499 मीट्रिक टन डीएपी, 609 मीट्रिक टन एनपीके शेष है।इस प्रकार जिले में पर्याप्त मात्रा में रासायनिक उर्वरकों की उपलब्धता हैं। आवश्यकतानुसार सभी सहकारी समितियों रासायनिक उर्वरक विपणन संघ द्वारा भंडारित कराया जा रहा है। जिले में किसानों को उचित दामों में सुगमता पूर्वक उपलब्ध कराने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाए जा रहे है, जिसमें सभी निजी एवं सहकारी उर्वरक विक्रय केन्द्रो पर राजस्व एवं कृषि विभाग के कर्मचारियों की ड्यूटी समक्ष में खाद वितरण के लिए लगाई गई है। डिफाल्टर किसानों को उर्वरक उपलब्ध कराने के लिए जिले में 20 नगद विक्रय केन्द्र स्थापित किये गये है। साथ ही विपणन संघ के गोदाम, कृषि उपज मंडी एवं मध्यप्रदेश राज्य उद्योग विकास निगम के वितरण केन्द्र के समक्ष जिले में निजी विक्रेताओं के 23 काउंटर भी खोले गये है।