आगर-मालवा

लड़की को विवाह के नाम पर एक लाख 20 हजार में बेची और फिर भगवा दी, अब रुपये भी वापस नहीं कर रहे बिचोलिये

लड़की को विवाह के नाम पर एक लाख 20 हजार में बेची और फिर भगवा दी, अब रुपये भी वापस नहीं कर रहे बिचोलिये

कबीर मिशन – संतोष कुमार सोनगरा जिला ब्यूरो चीफ आगर मालवा

आगर – लड़कियों को दुल्हन बनाकर लोगों से रुपये ऐंठते है और फिर भगवा देता है ,यह गोरखधंधा आगर में देखने को मिला कुछ समय पहले पूरी गैंग कुछ खूबसूरत लड़कियों को लाकर दिखाते हैं और एक से दो लाख रुपए लेकर लड़कियों को कुछ दिन ठहरने के बाद फिर भगवा ले जाते है । ऐसा ही मामला कुछ समय पहले आया था । और कल भी इसी तरह का आवेदन पुलिस अधीक्षक आगर को दिया गया ।

आवेदनकर्ता करणसिंह मालवीय पिता कन्हैयालाल मालवीय निवासी ग्राम लटुरी गेहलोत जिला आगर मालवा का है यह कि रतनलाल पिता अमरसिंह जाति बलाई निवासी मो. बडोदिया जिला शाजापुर म.प्र. हाल मुकाम महराना तहसील सारंगपुर जिला शाजापुर मप्र के द्वारा मुझ पार्थी को कहा कि शादी के लिये मैंने तुम्हारे लिये लड़की देखी है । और उसको में अपने घर पर भी ले आया है तुम चाहो तो देख लो। रतनलाल के कहने पर मैं मेरे साथ नारायण मालवीय, प्रभुलाल मालवीय निवासी लटुरी उसके घर ग्राम मगराना गये तो मैंने आर्ती उर्फ आरती को देखा तथा उक्त लोगो द्वारा कहा कि ये लड़की अभी कुंवारी है ,तुम इससे शादी कर लो। इस पर मैंने उनसे पूछा कि ये लडकी किस गाँव की है तो रतनलाल ने बताया कि ये लडकी मेरे गांव दोबड़िया के भारत सिंह के रिश्तेदार की लड़की है। तथा उनके द्वारा कहा कि तुम्हे कुछ परेशानी होगी तो मैं रतनलाल बैठा हूँ । तथा कहा कि तुम्हे एक लाख बीस हजार रुपये देना पड़ेगा, तब ही तुम इस लड़की के साथ शादी कर सकोगे।यह कि उक्त शर्त पर मैने पुछा तो उक्त व्यक्ति रतनलाल ने कहा कि तुम्हारे पैसे का मैं जगाबदार रहूँगा ।

यदि ये लड़की आरती भाग जाती है तो तुम्हारे रुपये वापस कर दूंगा। तथा ये बात होने पर वहा पर मोहनलाल मालवीय ग्राम रामपुरिया खेड़ा तहसील सारंगपुर जिला राजगढ़ भरतसिह, सुनील निवासीगण दोबडिया व जयसिंह पिता रणजितसिंह निवासी सेमली जागीर तह जिला सिहौर म प्र. मोजूद थे। तथा मैने उनसे कहा कि मैं आपको कल रूपये लाकर दे दुगा तो उक्त लोगों ने कहा कि तुम्हारा विवाह भी कल ही हो जायेगा।यह कि दुसरे दिन में रुपये लेकर नारायण मालवीय ,प्रमूलाल मालवीय, देवसिंह मालवीय के साथ उक्त लोगों के कहे अनुसार शुजालपुर सुनिल निवासी दोबडिया के घर जो किराये पर रहता है गये और वहाँ जाकर उक्त समी लोग रतनलाल, मोहनलाल,भरतसिंह, सुनिन व जयसिंह भी मौजुद थे । तथा रूपये देने की बात पर मेरे द्वारा 1,20,000, -रुपये रतनलाल य मोहनलाल को सभी लोगों की उपस्थिती में दिये थे। उसके बाद उक्त लोग लड़की आरती को लेकर आये व सारंगपुर मे जाकर विवाह हेतु लिखा पढ़ी करवाई ।

तथा उक्त आरती मेरे साथ रहते हुये उसके द्वारा भागने की हर प्रकार से प्रयास किया। लेकिन यह भागने मे कामयाब नहीं हो पायी जिसकी जानकारी मेरे द्वारा रतनलाल को दी, जिससे उक्त रतनलाल ने कहा कि तुम लड़की को मत भगने देना तुम उसको अकेले मत छोडना तुम मेरे घर आकर लडकी को छोड़ देना यदि लड़की मेरे घर से भाग जाती है तो तुम्हारे पैसे मैं वापस कर दुगा। तब में व मेरे साथ प्रभुलाल ,नारायण, देवसिंह आरती को लेकर रतनलाल के घर गये व आरती को उसके घर छोड दिया।यह कि 15 दिन बाद जब में आरती को लेने गया तो वहा पर आरती नहीं थी, जिससे मैने रतनलाल से पूछा तो उसके द्वारा कहा कि लडकी तो उसके गाँव चली गई है ,मैं तुम्हारे यहां पर कैसे भी करके उस लड़की को पहुंचा दूंगा ।

या फिर रूपये वापस कर दूंगा। लेकिन उक्त व्यक्ति न तो लड़की आरती को पहुचा रहा है न ही मेरे रूपये वापस कर रहा है।यह कि मेरे द्वारा उस लड़की की जानकारी ली तो मुझे पता चला कि उक्त लोगो ने उसका फर्जी आधार कार्ड बनवा कर मेरे साथ विवाह करवाया गया है जो मैं श्रीमान के समक्ष प्रस्तुत कर रहा हूँ। करण मालवीय ने पुलिस अधीक्षक आगर को आवेदन प्रस्तुत कर निवेदन किया है, कि उक्त लोगों रतनलाल पिता मोहनलाल पर उचित कानूनी कार्यवाही करते हुवे मेरी राशि 1,20,000/- रूपये दिलवाई जाये तो कृपा होगी। आवेदनकर्ता करणसिंह मालवीय पिता कन्हैयालाल मालवीय निवासी लदूरी गेहलोत तह नलखेडा जिला आगर मालवा

About The Author

Related posts