देवास

बगैर मान्यता के संचालित हो रहे स्कूल पर शिक्षा विभाग ने जड़ा ताला।

बगैर मान्यता के संचालित हो रहे स्कूल पर शिक्षा विभाग ने जड़ा ताला।

कबीर मिशन समाचार
जिला ब्यूरो चिफ़ पवन परमार
जिला देवास

सोनकच्छ। मंगलवार को स्थानीय शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने समिपस्थ ग्राम गंधर्वपुरी रोड पर शासन की मान्यता के बिना संचालित हो रहे एक निजी स्कूल के विरुद्ध कार्यवाही करते हुए स्कूल भवन पर ताला जड़ दिया है। अवैधरुप से संचालित इस स्कूल संचालक द्वारा अभिभावकों को गलत जानकारी देकर करीब 72 बच्चों को एडमिशन दिया गया। जिन्हे 5 शिक्षक व शिक्षिकाएं पढ़ाने का कार्य कर रहे थे। आश्चर्य तो इस बात को लेकर हुआ जब पता चला की स्कूल में प्राचार्य कक्ष ही नही है, ना ही कोई स्टोर रुम। कक्षों में लहसून प्याज के बौरे भरे हुए थे। ना खेल का मैदान, ना ही बच्चों के लिए लेटबाथ की समुचित व्यवस्था थी। स्कूल का नाम पुछने पर संचालक इस सत्र में बंद हो चुके एक स्कूल का नाम बताते रहे।

बता दें की नगर व क्षेत्र में इस प्रकार के दर्जनो स्कूल संचालित हो रहे हैं जो नियम विरुद्ध होकर बच्चें व उनके अभिभावकों के भविष्य एवं जानमाल के साथ खिलवाड़ कर रहे है।

जानकारी देते शिक्षा विभाग के संतोष शर्मा बीआरसी ने बताया कि, जानकारी मिलने पर मंगलवार सुबह करीब पौने 12 बजे सोनकच्छ गंधर्वपुरी मार्ग पर मकान में संचालित एक निजी स्कूल की जब जांच की गई तब वहां मिले स्कुल संचालक ने अपना नाम हितेश कुशवाह बताया। संचालक कुशवाह से जब स्कुल मान्यता व अन्य दस्तावेज मांगे तो वे बताने में असर्थ रहे, और फालतु की बाते करते रहे। मकान के 5 कमरों में कक्षा पहली से 8 वीं तक के करीब 72 विद्यार्थीयों को 5 शिक्षक-शिक्षिकाओं द्वारा अध्यापन कार्य कराया जा रहा था, जो कि शासन के नियम व आटीई एक्ट के तहत कानुन का उलंघन है। अवैधरुप से संचालित स्कूल संचालक द्वारा क्षेत्रिय जनपद शिक्षा केंद्र को भी सूचना नही दि गई थी। स्कूल परिसर में एक निजी वाहन मारुती वैन भी खड़ी मिली जिसे लेकर संचालक का कहना था कि, यह उनका स्कूल वाहन है जिससे वह बच्चों को लाने और ले जाने का कार्य करते है। बच्चों के 11 हाजरी रजिस्टर जब्त किए है। बीआरसी शर्मा ने आगे बताया कि कार्यवाही के दौरान संचालक का रवैया असहयोगात्मक रहा। उच्चअधिकारी से चर्चा उपरांत स्कूल के तीन कक्षों पर ताले लगा दिए है। आगामी कार्यवाही के लिए प्रतिवेदन बनाकर उच्चअधिकारीयो को भेजे जावेंगे। जहां से उचित कार्यवाही की जावेगी। मौके पर शिक्षा विभाग के जीवनसिंह सोलंकी, दुर्गेश जाजू, संजय निगम, प्रविण पारस संकुल प्राचार्य श्याम नायक सहित मिडियाकर्मी उपस्थित थे।

About The Author

Related posts