आगर-मालवा मध्यप्रदेश

श्मशान में फिरा पानी, लोगों की बढ़ जाती है चिता जलाने की चिंता 3 महीने निकालने पढ़ते हैं परेशानी में।

श्मशान में फिरा पानी, लोगों की बढ़ जाती है चिता जलाने की चिंता 3 महीने निकालने पढ़ते हैं परेशानी में।

कबीर मिशन :- संतोष कुमार सोनगरा आगर जिला प्रतिनिधि

आगर :- ग्राम पंचायत रणायरा राठौर के ग्राम रणायरा राठौर में शमशान में पानी फिर जाता है। भारी बारिश होते ही नवीन तालाब के भर जाने के बाद श्मशान घाट के पास पानी पहुंच जाता है। तो लोगों की चिंताएं बढ़ने लगती है। गांव के नजदीक बना शमशान घाट पहले तो भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गया था, लेकिन जैसे तैसे बना वह भी अब नवीन तालाब की भेंट चढ़ गया। जैसे-जैसे बारिश का पानी नवीन तालाब में भरने लगता है । लोगों की परेशानी भी बढ़ने लगती है । आए दिन लोगों के साथ कुछ ना कुछ घटनाएं होती रहती है । जिसके कारण लोगों के जाने भी चली जाती है। लोगों की चिता को जलाने की चिंता लोगों में एक बड़ा विषय बना रहता है। बता दें 2019 में बड़ा तालाब का नवीन टेंडर पास होकर आया और उसका कार्य भी लगभग लगभग पूरा हो गया । लेकिन तभी से सर्वे टीम एवं ग्राम पंचायत मैं लोगों ने श्मशान घाट को ऊंचा उठाने या इसे दूसरे स्थान पर बदलने का प्रस्ताव रखा।

लेकिन पंचायत वालों ने सुनी अनसुनी कर दी। क्योंकि बारिश के दिनों में तालाब में पानी भर जाने के कारण दो शासकीय कुंए भी डूब जाते हैं, उसके साथ ही श्मशान घाट भी जलमग्न हो जाता है। पूरे शमशान में पानी भर जाता है ऐसी हालत में अगर किसी की मृत्यु हो जाती है तो उसे जलाने की परेशानी हो जाती है। हालांकि इस विषय में लोगों ने नवीन सरपंच को भी इस विषय से अवगत करा दिया गया है । नवीन सरपंच श्याम सिंह चौहान ने भी अपनी आंखों देखी समस्या को स्वीकारा है । और लोगों को इस समस्या से जल्द ही छुटकारा दिलाने का आश्वासन भी दिया है। हालांकि गांव में शासकीय भूमि पर बहुत जगह खाली पड़ी है जिससे शमशान बनाने में उपयोग लिया जा सकता है जिसका गांव वाले भी समर्थन करने के लिए राजी हैं।

About The Author

Related posts