विज्ञापन के लिए संपर्क करें - 8462072516
विज्ञापन के लिए संपर्क करें - 8462072516
October 6, 2022

पोरसा।छात्रों को परीक्षा में सफलता पाने के लिए गए टिप्स

पोरसा। प्राचार्य श्रीमती मीनाक्षी पुरोहित ने विद्यालय के छात्रों को आज बुलाकर परीक्षा में शत-प्रतिशत सफलता पाने के टिप्स दिए तथा अपने द्वारा पढ़ाए गए छात्र जो आज उच्च पदों पर हैं उनके बारे में भी विस्तार से बताया*पोरसा पंडित पुत्तूराम मेमोरियल हायर सेकेंडरी स्कूल की प्राचार्य श्रीमती मीनाक्षी पुरोहित ने अपने जीवन के बारे में विस्तार से बताया कि मेरी शैक्षणिक योग्यता B.Sc., B.Ed., M.A. L.L.B. है।

मेरी सभी प्रारंभिक और उच्च शिक्षा झांसी उत्तर प्रदेश से पूरी हुई है मैंने सन 1987 से पोरसा में शिक्षा के क्षेत्र में अपना कार्य प्रारंभ किया और अब मैं वर्तमान समय में इस विद्यालय में प्राचार्य पद पर पदस्थ हूं । मै जिस विद्यालय में प्राचार्य के पद पर पदस्थ हूं वह मेरा ही छात्र प्रदीप उपाध्याय जो कि शिक्षा क्षेत्र में कार्यरत है सन 1987 से वर्तमान समय तक मेरे द्वारा प्राप्त किए हुए 30 प्रतिशत छात्र चिकित्सा महाविद्यालय अपनी शिक्षा पूर्ण कर अलग-अलग क्षेत्रों में चिकित्सक रूप में कार्यरत है।

वर्तमान समय में ईसा गर्ग,आर्यन शर्मा, रजत गोयल, कुलदीप सिकरवार प्रदीप सिकरवार चिकित्सा महाविद्यालयों में अध्ययनरत हैं। इंजीनियर क्षेत्र में 30% छात्र अपने अपने क्षेत्र में महारत हासिल करके विभिन्न क्षेत्रों में राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय क्षेत्र में कार्यरत हैं 10% डिफेंस, आर्मी, नेवी में कार्यरत हैं।

वर्तमान समय में आशुतोष उपाध्याय, अंशु नीरज नेवी में कार्यरत है धर्मेंद्र सिंह वायु सेना में भर्ती है एवं खुशबू उपाध्याय स्टेट बैंक में फील्ड ऑफिसर के पद पर कार्यरत हैं चिकित्सा क्षेत्र में डॉ अमित गर्ग, डॉक्टर निशांत शर्मा, ने सराहनीय कार्य कार्य करके अपना, अपने परिवार, अपनी तहसील एवम अपने जिले का नाम रोशन कर रहे हैं।

मैं इस क्षेत्र में प्रयासरत हूं कि मेरे द्वारा शिक्षित छात्र संदीप उपाध्याय और अंजली उपाध्याय पीएमएस अंतरराष्ट्रीय स्कूल पचपेड़ा पोरसा में बहुत ही अग्रणी संस्था ने जो बच्चों को बहुत ही अच्छे संस्कार एवं अनुशासन सिखाने के लिए प्रयासरत रहें एवं छात्राएं अच्छी से अच्छी शिक्षा प्राप्त कर के विभिन्न क्षेत्रों में विद्यालय, अपने परिवार एवं जिले का नाम रोशन करें इसके लिए मैं सदैव प्रयत्न शील रहूंगी।