आगर-मालवा देश-विदेश मध्यप्रदेश लेख समाज

प्रकृति और संस्कृति के रक्षक है आदिवासी वर्ग – मांगीलाल कुलश्रेष्ठ कबीर भजन गायक

प्रकृति और संस्कृति के रक्षक है आदिवासी वर्ग – मांगीलाल कुलश्रेष्ठ कबीर भजन गायक

नलखेड़ा। कबीर मिशन समाचार। जल जमीन जंगल और जानवर, नाच गान त्यौहार मान्यवर,, हमारे देश के महानायक संस्कृति के रक्षक पर्यावरण के रक्षक संपूर्ण भारत वर्ष ही नहीं विश्व पर राज करने वाले उन भाई बहनों को आओ मिलकर बधाइयां दे जिन्होंने आज तक अपने हक की बजाय अपने देश की संस्कृति प्रकृति पर्यावरण भौगोलिक ऐतिहासिक सांस्कृतिक बौद्धिक साहित्यिक नैतिक आध्यात्मिक जवाबदारी यों को बखूबी निभाया सोने की चिड़िया वाला देश जिसमें सभी भूमि गोपाल की

और विश्व का धर्म गुरु कहलाने वाला देश यदि आज भी विश्व में अपना सिर ऊंचा करता है तो उसका श्रेय केवल और केवल हमारे आदिवासी भाइयों को जाता है आज भी यदि हम उन विकट घाटियों पहाड़ियों तलछतियों जहां जहां जंगली जानवर जहरीले जानवर तथा कटीली झाड़ियां कोई आवागमन के साधन नहीं कोई भौतिक संसाधन नहीं वहां पर भी अपनी मस्ती में निवास कर कोई सरकार से आपत्ति नहीं कोई मांग नहीं बस अपना अस्तित्व कायम रखते हुए मस्त जीवन व्यतीत करते हैं।

वह हमारे आदिवासी भाई‌ इनका इतिहास स्वर्ण अक्षरों में भरा पड़ा है चाहे बिरसा मुंडा जी हो, टंट्या मामा जी हो, एकलव्य जी हो वाल्मीकि हो वाल्मीकि जी हो देवी शबरी मां हो हमारे देश की महामहिम राष्ट्रपति महोदया मुर्मू जी हो जिन्होंने संपूर्ण विश्व में हमारे भारत का भाल ऊंचा किया है। देशकाल और परिस्थिति के अनुसार आपने इस राष्ट्र में हर तरह से सहयोग प्रदान किया आज भी अपनी ही धुन में मस्त होकर अपने तीज त्योहार प्रकृति की गोद में इस प्रकार मनाते हैं।

चाहे उनके लोकनृत्य हो लोकगीत हो भगोरिया मेला हो जड़ी बूटियों का भंडार हो पेड़ पौधों की पत्तियों का भंडार हो उनके द्वारा बनाए गए मांडणा पशु पक्षियों के चित्र चांद सूरज चांद सूरज नदी पर्वत पशुओं के सींग यह हमारी प्रकृति उनकी देवता है।

धन्य हो मेरे देश के आदिवासी भाइयों बहनों आपकी सहनशीलता इस बात का द्योतक है कि इंसान किसी के सामने झोली फैलाने का मोहताज नहीं है हम समस्त देशवासी आपके साहस आपके कर्तव्य परायणता आप की मस्ती भरी जीवन एवं संस्कृति की रक्षा करने के लिए एक साथ धन्यवाद ज्ञापित करते हैं।

मैं नवाचारी शिक्षक सत्य मंगल मांगीलाल कुलश्रेष्ठ अमन आकाशवाणी दूरदर्शन कलाकार राष्ट्रीय गायक अध्यक्ष संगीत जन कल्याण संस्थान समिति कबीर कुटी नलखेड़ा धनोरा अध्यक्ष मध्य प्रदेश नलखेड़ा नाटककार लोक नृत्य कार एवं कवि होने से संपूर्ण भारत वर्ष में आपके बीच बैठकर जब प्रस्तुतियां देता हूं

तथा आप की प्रस्तुतियों का जीवन में मंगलमय आनंद लेता हूं तब देश और दुनिया को यह संदेशा दे रहा हूं कि हम किसी के सामने झोली ना फैलाकर प्रकृति की गोद में अपना जीवन बसर करें उसे सुरक्षित और संवर्धित करें मध्य प्रदेश आदिवासी लोक कला परिषद तथा राष्ट्रीय आदिवासी लोक संस्कृति एवं जनजाति संग्रहालय आदि ऐसे विभाग हमारी सरकारों ने विकसित किए हैं।

जिनके द्वारा हम अपने प्रतिभा को निखार सकते हैं। अनेकों अनेकों जन कल्याणकारी योजना हमारी भारत सरकार राज्य सरकार जिला कि शासन प्रशासन व्यवस्था वर्तमान में अग्रणी है हम सब उस से जुड़ कर हमारे इन भाई बहनों का साथ देकर सबका साथ सबका विकास करें।

About The Author

Related posts