उज्जैन : जैविक हाट बाजार सप्ताह में एक बार अवश्य लगाया जाये ताकि लोग अधिक से अधिक इसके प्रति जागरूक हों -कलेक्टर

एक दिवसीय जैविक हाट बाजार एवं कार्यशाला का आयोजन किया गया

उज्जैन 27 नवम्बर। रविवार को हरिफाटक ब्रिज स्थित नीलगंगा हाट बाजार में एक दिवसीय जैविक हाट बाजार और कार्यशाला का आयोजन जिला प्रशासन एवं उद्यानिकी तथा खाद्य प्रसंस्करण विभाग द्वारा किया गया। इस दौरान कलेक्टर श्री आशीष सिंह, सीईओ जिला पंचायत सुश्री अंकिता धाकरे, संयुक्त संचालक उद्यानिकी श्री आशीष कुमार कनेश, वरिष्ठ कृषि वैज्ञानिक एवं अन्य अधिकारीगण मौजूद थे।अतिथियों द्वारा दीप प्रज्वलित कर कार्यशाला का विधिवत शुभारम्भ किया गया।

इसके पश्चात कलेक्टर और अन्य अधिकारीगणों ने जैविक उत्पाद स्टाल का अवलोकन किया। कलेक्टर ने विभिन्न स्टालों पर पहुंचकर जैविक उत्पादों के बारे में जानकारी प्राप्त की। उन्होंने कहा कि सप्ताह में एक बार (प्रति रविवार) जैविक हाट बाजार अवश्य लगाया जाये, ताकि स्थानीय लोगों में इसके प्रति जागरूकता हो, जैविक उत्पादों की बिक्री बढ़े तथा इनका अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार हो सके।कलेक्टर ने उत्पादों में लगने वाले व्यय, उनकी पैकेजिंग तथा मार्केटिंग के बारे में स्टाल लगाने वाले किसानों से चर्चा की। उल्लेखनीय है कि कार्यशाला का मुख्य उद्देश्य वर्तमान में जैविक खेती में संलग्न कृषकों की आधारभूत जानकारी का संकलन कर क्षेत्र विस्तार एवं उत्पादन को बढ़ावा देना था, ताकि अधिक से अधिक कृषकों का रुझान रासायनिक खेती से जैविक खेती की ओर हो सके।कार्यशाला में वरिष्ठ कृषि वैज्ञानिकों द्वारा किसानों को जैविक खेती पर प्रशिक्षण, जैविक उत्पादों की विपणन, जैविक प्रमाणीकरण, बीजामृत, आच्छादन आदि के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई। किसानों ने कार्यशाला में अपने अनुभव भी सबके सामने साझा किये। उल्लेखनीय है कि इस कार्यशाला में लगभग 25 किसानों के द्वारा जैविक उत्पाद के स्टाल लगाये गये। कार्यशाला के अन्त में किसानों को प्रमाण-पत्र वितरित किये गये। आभार प्रदर्शन उप संचालक उद्यानिकी श्री पीएस कनेल द्वारा किया गया।