शाजापुर

जय अदिवासी युवा शक्ति (जयस) संगठन शाजापुर के तत्वावधान में आदिवासी समाज के भगवान इंडियन रॉबिनहु टंट्या भील का 181वां जन्मदिन मनाया गया !

जय अदिवासी युवा शक्ति (जयस) संगठन शाजापुर के तत्वावधान में आदिवासी समाज के भगवान इंडियन रॉबिनहु टंट्या भील का 181वां जन्मदिन मनाया गया !

कबीर मिशन सामाचार,

जयस कार्यकर्ताओं ऒर पदाधिकारी ने मनाया जन्म उत्सव एवं गणतंत्र दिवस की दी बधाई , सुनील भिलाला (जयस जिलाध्यक्ष) ने कहा- भील आज भी ” मामा कहे जाने पर करते है गर्व महसूस “मालवा और निमाड़ के जननायक टंट्या मामा भील के 181 वें जन्मदिन के अवसर पर शाजापुर में बडे ही उत्साह के साथ जन्मोत्सव मनाया गया।

गुरुवार को जन्मदिन पर मनाया गयासमस्त समाज बंधु इस ऐतिहासिक आयोजन का हिस्सा बने हमें जल-जंगल-जमीन वापस दिलाने वाले, इस दुनिया में एक ऐसा क्रांतिकारी जो लगातार 35 वर्षों तक लगातार हथियार बन्ध लड़ाई लड़े हैं तो वह टंट्या भील थे आपके हिस्से में जो सरकारी नोकरी है वह टंट्या भील की देन है तो चलो आओ हम सब मिलकर हमारे पुरखे को नमन करेंगे सेल्यूट करेंगे…माल्यार्पण कर टंट्या मामा अमर रहे जयकार के नारेलगाये गये। सुनील भिलाला (जयस जिलाध्यक्ष) ने महानायक टंट्या मामा भील के जन्मदिन के अवसर कहा कि ‘आंदोलनों से बहुत पहले आदिवासी समुदायों और टंट्या भील जैसे क्रांतिकारी ने ब्रिटिश शासन के खिलाफ विद्रोह का झंडा बुलंद किया था। उन्हें सभी आयु वर्ग के लोगों मामा कहते थे। उनका यह संबोधन इतना लोकप्रिय हुआ कि भील आज भी ” मामा ” कहे जाने पर गर्व महसूस करते हैं।

जिसमें ÷ सुनील भिलाला (जयस जिलाध्यक्ष शाजापुर), देवेंद्र भिलाला (जयस जिला प्रभारी शाजापुर), राधेश्याम भिलाला (शाजापुर),अभिषेक भिलाला (निपानिया),अंकित भिलाला (निपानिया), हेमराज भिलाला (पचलाना), दीपक भिलाला (पीपलराव), संजू भिलाला (आला उमरोद), विक्रम घुलपुरे (शाजापुर) लीलाधर भिलाला (जयस के जिला मिडिया प्रभारी) आदि उपस्थित रहे

About The Author

Related posts