अंधाधुंध फायरिंग कर युवक की हत्या बवाल

अंधाधुंध फायरिंग कर युवक की हत्या, बवाल प्रदीप कुमार नायक स्वतंत्र लेखक एवं पत्रकार- मधुबनी-जिले के राजनगर प्रखंड के रामपट्टी मुख्य सड़क मार्ग पर बुधवार सुबह हुई घटनाको बाइक सवार अपराधियों ने दिया घटना को अंजाम।- मृतक दीपक कुमार यादव मोहनपुर का है रहने वाला – पांच से छह की संख्या में थे बदमाश – घटना के बाद आक्रोशित लोगों ने फूंका घर – पुलिस ने कहा रोहित यादव गैंग ने दिया घटना को अंजामबेखौफ बदमाशों ने बुधवार सुबह मधुबनी-रामपट्टी मुख्य सड़क पर महीनाथपुर गांव में दीपक कुमार यादव 32 वर्ष पर अंधाधुंध फायरिंग कर उसकी हत्या कर दी। अपराधी पांच से छह की संख्या में थे।प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार अपराधी दो बाइक पर सवार होकर आए थे। घटना की सूचना पर राजनगर थानाध्यक्ष अरविंद कुमार दल बल के साथ मौके पर पहुंचे और अपराधियों का पीछा किया हालांकि अपराधी पकड़ में नहीं आ सका। मृतक दीपक कुमार पास के ही मोहनपुर गांव का रहने वाला था। मौत से आक्रोशित लोगों ने पचास हजार के इनामी कुख्यात अपराधी रोहित यादव के घर को निशाना बनाया। तोड़फोड़ के बाद घर में आग लगा दिया। अस्पताल में भी घंटों बवाल मचाया। पुलिस मौके पर पहुंचकर स्थिति संभाला। घटना के बाद से गांव में तनाव की स्थिति है। कई थानों की पुलिस वहां कैंप कर रही है। समाचार प्रेषण तक परिजनों ने पुलिस में लिखित शिकायत नहीं दिया था। परिजन का बयान आने के बाद मामला अधिक साफ होगा। जानकारी के अनुसार मृतक दीपक कुमार गांव में रहता था। अन्य कार्यों के साथ-साथ जमीन खरीद बिक्री का काम करता था। बुधवार सुबह महीनाथपुर में खरीद की गई एक जमीन के टुकड़ा का नापी करने के सिलसिले में उसी गांव के संतोष राम से मिलने गया था। सुबह करीब साढ़े आठ बजे संतोष राम के घर के बाहर वह खड़ा था तभी अपराधी वहां आ पहुंचे और उस पर अंधाधुंध फायरिंग कर दी। अपराधी लोगों में दहशत फैलाने के लिए दो किलोमीटर तक फायरिंग करते हुए भाग निकला। लोगों ने दीपक को सदर अस्पताल लाया लेकिन सिर, सीना एवं शरीर के अन्य हिस्सों में गोली लगने के कारण पहले ही उसकी मौत हो चुकी थी।बोले अधिकारी मुख्यालय डीएसपी प्रभाकर तिवारी ने बताया कि प्रारंभिक जांच में 50 हजार के इनामी कुख्यात अपराधी रोहित यादव एवं उसके गैंग के लोगों द्वारा घटना कारित करने की बात सामने आई है। रोहित और दीपक के बीच पुरानी रंजिश था। पूर्व में रोहित यादव कि भाई कमलेश यादव की हत्या मामले में मृतक दीपक कुमार अभियुक्त था। मृतक के परिजन का बयान आने के बाद स्थिति स्पष्ट होगी।