108 एंबुलेंस बना लेबर रूम, बच्चे का हुआ जन्म हुआ

रिपोर्टर योगेश गोविन्द राव तहसील संवाददाता कप्तानगंज कुशीनगर

ग़ाज़ीपुर। जनपद में तार निजी अस्पतालों के द्वारा मरीजों का शोषण करने के साथ ही साथ प्रसव के मामले में मोटी रकम लेने के लगातार मामले सामने आ रहे हैं। दूसरी तरफ इन सभी को धता बताते हुए 102 और 108 एंबुलेंस निशुल्क सेवा देने के साथ ही साथ अब एंबुलेंस को लेबर रूम बना डाला है। जिसका नजारा आए दिन देखने को मिल रहा है।

ऐसा ही एक मामला शनिवार को सैदपुर ब्लॉक के भीखमपुर गांव का है। जहां से फोन कॉल आया और गर्भवती के प्रसव पीड़ा के बारे में जानकारी दी गई। जिसके बाद बताए गए लोकेशन पर पायलट और ईएमटी क्विक रिस्पांस करते हुए पहुंचे। गर्भवती को लेकर स्वास्थ्य केंद्र के लिए चले लेकिन रास्ते में प्रसव पीड़ा बढ़ जाने के कारण एंबुलेंस के अंदर ही प्रसव कराया.।108 एंबुलेंस के ब्लॉक प्रभारी अखंड सिंह ने बताया कि शनिवार को सैदपुर ब्लॉक के भीखमपुर गांव से दोपहर करीब 12 बजे एक कॉल आया।

बताया गया कि एक गर्भवती जिसे प्रसव पीड़ा है। जिसके लिए एंबुलेंस का डिमांड किया गया। फिर बताए गए लोकेशन पर क्विक रिस्पांस करते हुए इमरजेंसी मेडिकल टेक्नीशियन सुनील कुमार यादव और पायलट विशाल यादव 108 एंबुलेंस को लेकर पहुंचे। और फिर वहां से गर्भवती अनीता देवी पत्नी हरिलाल उम्र 23 वर्ष को लेकर स्वास्थ्य केंद्र के लिए चलें।

लेकिन रास्ते में प्रसव पीड़ा बढ़ जाने के कारण एंबुलेंस को सड़क किनारे लगा कर परिवार की महिलाओं और इमरजेंसी मेडिकल टेक्नीशियन के सहयोग से एंबुलेंस के अंदर ही सुरक्षित प्रसव कराया गया। जहां पर गर्भवती ने बच्चे को जन्म दिया। इसके पश्चात जच्चा और बच्चा को सब सेंटर माहपुर में भर्ती कराया गया। जहां पर वहां पर तैनात टेक्निकल स्टाफ ने जच्चा और बच्चा को सुरक्षित बताया।