इंदौर क्राइम देश-विदेश मध्यप्रदेश राजनीति समाज

सागर हत्याकांड लिए मुखर हुआ दलित समाज दलितों ने घेरा कमिश्नर कार्यालय

दलित अत्याचार के खिलाफ सड़क पर उतरे दलित नेता परमार

इंदौर। पिछले दिनों सागर जिले के खुरई विधानसभा के ग्राम बरोदिया नोनागिर में एक ही दलित परिवार के तीन सदस्यों की निर्मम हत्या वहा के तथाकथित गुंडों द्वारा कर दी गई । 2019 में सागर जिले के गुंडों ने दलित परिवार की बेटी अंजना अहिरवार का रास्ता रोककर अश्लील हरकत की । अंजना अहिरवार की बेटी अंजना अहिरवार ने भाई नितिन अहिरवार के साथ जा कर थाने में एफआईआर दर्ज करवाई।

एफआईआर से बोखलाए गुंडों ने अंजना के भाई नितिन अहिरवार का रास्ता रोक कर राजीनामे के लिए धमकाते हुए लाठी और डंडों से पीट-पीट कर उसकी हत्या कर दी। अपने बेटे को बचाने आई मां को भी निर्वस्त्र कर पीटा । इस हत्याकांड की मुख्य गवाह अंजना अहिरवार और उसके चाचा राजेंद्र अहिरवार थे।आरोपियों ने नितिन हत्याकांड में पीड़ित परिवार से राजीनामे का कहा ।

राजेंद्र, अंजना द्वारा मना करने पर आरोपियों ने 25 मई 2024 को राजेंद्र अहिरवार को सरेराह पीट- पीट कर हत्या कर दी । इस घटना की भी चश्मदीद गवाह अंजना अहीरवार थी जिसे संग्धिग्ध परिस्थितियों में मार दिया गया । राजेंद्र अहिरवार के शव को एंबुलेंस के माध्यम से घर की ओर ले जाया जा रहा था। आरोपियों ने अंजना अहिरवार को भी एंबुलेंस से नीचे फेंक कर उसकी निर्मम तरीके से हत्या कर दी । एक ही दलित परिवार के तीन सदस्यों की हत्या के विरोध में अखिल भारतीय बलाई महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष मनोज परमार के नेतृत्व में दलित समाज के सैकड़ों की संख्या में समाजजनो ने कमिश्नर कार्यालय का घेराव कर महामहिम राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन प्रेषित किया ।

ज्ञापन में मुख्य रूप से दलित समाज पर हो रहे है अत्याचार और हत्याकांड में आरोपियों को फांसी की सजा, मृतक आश्रित परिवार को 50-50 लाख रुपए की आर्थिक सहायता और सीबीआई जाँच की माँग परिवार के किसी भी एक सदस्य को शासकीय नौकरी के साथ ही हत्या का केस को फास्ट्रैक कोर्ट में चलाने की मांग की । ज्ञापन आधिकारिक तौर से ज्वाइंट कमिश्नर श्री संजय जी सराफ ने लिया और सुरक्षा की दृष्टि से पुलिस बल मौजूद था। समस्त दलित समाज को कड़ी से कड़ी कार्यवाही करने के लिए आश्वस्त किया ।

ज्ञापन प्रदर्शन में मुख्य रूप से निर्मला वानखेड़े, रेखा सोलंकी, संगीता जैन, पार्षद प्रमिला सिरसोट,ललिता बोर्दिया, चिंटू मालवीय, पवन भावसार, सन्नी गवली, राजकुमार मालवीय, दिनेश कुलपारे, गोलू राठौर, मोहित मेहता, संतोष अलोने, लखन देपाले, रितेश परमार, रोहित आंजना, गौरव आंजना, लोकेश मालवीय, राजेंद्र साहू, दिलीप वर्मा, विकास पथरोड, उदय राठौर, धर्मेंद्र गुर्जर, रिक्कू सोनी, प्रशांत चौहान, ऋषित मालवीय, दिनेश हिरवे, लक्ष्मण खेड़े, सचिन कोचले, कान्हा बकावले, प्रशांत सावनेर, संदीप रायकवार, योगेश चौहान, विशाल सेन, पं. कमल शर्मा, पं. राजेश शास्त्री, पवन जोशी, राजेश सिसोदिया, राधेश्याम परमार, सुरेंद्र गाठिया, राज परमार, विक्की कायत, दीपक महंत, महेंद्र सुनेल, सचिन सिंदल, विशाल सारवान, सतीश सिंदल, सचिन मनसारे सहित सैकड़ों की संख्या में समाजजन उपस्थित हुए ।

About The Author

Related posts