आगर-मालवा किसान- खेतीबाड़ी रोजगार

जैविक खेती के प्रति जागरुकता की किसान संगोष्ठी आयोजित

जैविक खेती के प्रति जागरुकता की किसान संगोष्ठी आयोजित

आगर मालवा। आगर मालवा जिले के ग्राम शिवगढ़ में नव भारत फर्टिलाइजर कंपनी द्वारा शनिवार को जैविक खेती के लिए किसान गोष्ठी का आयोजन किया गया। कंपनी के कृषि अधिकारी रितिक कुर्मी द्वारा किसानों को जैविक खेती के लाभ के बारे में जानकारी दी। उन्होनें बताया जिस तरह हम रासायनिक खादों और दवाइयों का उपयोग लगातार कर रहें हैं उससे हम अपनी जमीन की उपजाऊ शक्ति को नुकसान पहुंचा रहे हैं तथा इनसे बचने के लिए हमे जैविक खादों और गोबर की खाद का उपयोग करना चाहिए।

जैविक खाद के फायदे

1- बीजों के अंकुरण और अंकुरण की गति को तेज करता है, जिससे बीज पर होने वाले अतिरिक्त व्यय में कमी आती है।
2- पौधों की जड़ों को विकसित करता है जिससे पौधे अधिक गहराई से पोषक तत्व ग्रहण कर पाते।
3- पौधों के लिए मुख्य पोषक तत्व के साथ साथ आवश्यक सूक्ष्म पोषक तत्वों की भी पूर्ति करता है।
4- जैविक खाद के प्रयोग से अनाज, दालें, सब्जी व फलों की गुणवत्ता में सुधार होता है।
5- फसल की वृद्धि एवं विकास के साथ साथ फसल की प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाता है।
6- मृदा में कार्बनिक पदार्थ की मात्रा, ह्यूमस व सूक्ष्म जीवाणुओं की गतिविधि में वृद्धि करता है जिसके परिणामस्वरूप मृदा के वायु संचार और उसकी जल धारण क्षमता में वृद्धि होती है।
7- जैविक खाद मिट्टी को नरम बनाने के साथ साथ पोषक तत्वों की उपलब्धता को लंबे समय तक बनाये रखता है।
8- जैविक खाद समस्याग्रस्त मृदाओं में भी प्रभावी रूप में काम करता है जबकि अन्य रासायनिक उर्वरक ऐसी मृदाओं में प्रभावी रूप से काम नहीं करते हैं।
9- किसान जैविक खाद को DAP और SSP के पूरक के तौर पर फसल उत्पादन हेतु प्रयोग कर सकते हैं, जो खेत की उर्वरा शक्ति को लम्बे समय तक बनाये रखते हैं। जिससे वह आने वाली नई पीढ़ी के किसानों को स्वस्थ भूमि प्रदान कर सकें।

जैविक खेती करने के लिए नवभारत फर्टिलाइजर कंपनी किसानों को खाद दवाई उपलब्ध कराती हैं और कंपनी के प्रोडक्ट्स सभी जैविक पद्धति से बनाए गए हैं जो किसानों को अच्छी पैदावार बढ़ाने और मिट्टी में पोषक तत्वों की पुर्ति करता है। सभी किसान गोष्ठी में उपस्थित किसान श्री अर्जुन सिंह राजपूत, दूलेसिंह राजपूत, विक्रम सिंह राजपूत, ईश्वर सिंह राजपूत, भरत बैरागी जी आदि गांव के किसान उपस्थित रहें।

About The Author

Related posts