संडावता। कल्याखेडी में भीम आर्मी, आजाद समाज पार्टी के विस्तार को लेकर रात्रि कालीन मीटिंग सम्पन्न।

राजगढ़ मध्यप्रदेश। कबीर मिशन समाचार

संडावता। राजगढ़ जिले में भीम आर्मी आजाद समाज पार्टी के विस्तार को लेकर मीटिंग रखी गई। ग्रामीण इलाकों में भी भीम आर्मी, आजाद समाज पार्टी का नेटवर्क लगातार बढ़ रहा है। संगठन एवं पार्टी के विस्तार को लेकर भीम आर्मी लगातार प्रयास कर रही जिसको लेकर जीरापुर टीम ने ग्राम काल्याखेडी में मीटिंग रखी। जिसमें लोगों को संविधान और डॉ बाबा साहब भीमराव अंबेडकर जी के बारे में विस्तार से जानकारी देकर लोगों को जागरूक किया। जिसमें सभी लोगों ने भीम आर्मी संस्थापक एड. चंद्रशेखर आजाद का साथ देने का वादा किया। जिसमें भीम आर्मी का मूल मंत्र बहुजन हिताय ,बहुजन सुखाय ,भीम आर्मी आजाद समाज पार्टी को घर-घर तक पहुंचाने का संकल्प लिया।


जिला प्रभारी ईश्वर सिंह आजाद ने बताया की हमारे लोगों पर सदियों से अन्याय अत्याचार होता रहा है कही जाति के नाम पर तो कही धर्म के नाम आखिर हम कब तक अत्याचार सहन करते रहेंगे आज वक़्त आ गया है। हम आपसे मनमुटाव को भुुुलाकर एक दूसरे से कंधे से कंधा मिलाकर अत्याचार के खिलाफ खड़े हो हम सब एक होकर अपने समाज को अपमानित होने से बचा सकते हैं जिसके लिए आप लोगो का साथ होना जरूरी है, ये लड़ाई किसी एक व्यक्ति की नहीं है इसलिए आप तैयार हो जाओ कुछ महीनों में चुनाव आने वाला है आप सभी बड़े भाई चंद्रशेखर आजाद जी को आपना समर्थन देकर उनके हाथों को मजबूत करे। और 14 अप्रैल को बाबा साहब की जन्मजयंती है जिसमें आप लोगों को आधिक संख्या में अम्बेडकर पार्क छापीहेड़ा आना है।

भीम आर्मी जिला महासचिव रमेशचंद्र आजाद ने बताया की बाबा साहब अम्बेडकर ने सबसे ज्यादा शिक्षा पर जोर दिया है हमें शिक्षित होकर समाज को बाबा साहब के विषय में अवगत करना है यदि हम लोग बाबा साहब को पूजने की वजह पड़ ले तो हमें किसी के आगे झुकने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

सारंगपुर टीम से उपस्थित पवन मेहरा ने कहा कि आज की युवा पीढ़ी मेहनत कस है हमें किसी के पीछे घूमने की जरूरत नहीं है आज बहुजनो की बुलंद आवाज बनकर भीम आर्मी मैदान खड़ी है हमारे लोगों ने कांग्रेस, भाजपा को वोट देकर देख लिया, लेकिन समय-समय पर संविधान में संशोधन कर हमारे हक अधिकारों को छीनने का काम किया है। आज हमें एक होने की जरूरत है क्यंकि संघठन में ही शक्ति है।न हमारे लोगों ने जाति के नाम पर अलग अलग संघठन बना रखे हैं हमें उन संगठनों को छोड़कर भीम आर्मी का साथ देना चाहिए क्योंकि भीम आर्मी कोई सामाजिक संगठन नहीं है ये हम सब बहूजनो का एक मात्र संघटन है जो आपके मान सम्मान की लड़ाई लड़ रहा है

बाबा साहब ने हमारे पैरों में पड़ी गुलामी की जंजीरों को बहुत पहले काट दिया था लेकिन हम उन जंजीरों को नहीं छोड़ पा रहे है। बाबा साहब ने हमें सदियों की गुलामी से आजाद किया है हमारे ऊपर उनके कई अहसान है जिसका बदला हम आपनी जान देकर भी नहीं चुका सकते बाबा साहब ने एक बात कही थी शिक्षित रहो, संगठित रहो, संघर्ष करो, लेकिन आज ना तो हम पूरी तरह संगठित हैं ना ही शिक्षित हैं हमें अभी और संघर्ष करना है हमें अपने बच्चों को शिक्षा देने की आवश्यकता है

जिसमें हमारी माता बहनों को आगे आना होगा क्योंकि कहा जाता है कि यदि घर में एक महिला शिक्षित होती है तो पूरा परिवार शिक्षित हो जाता है मैं बहनों से भी गुजारिश करूंगा की हम आर्थिक रूप से कमजोर जरूर है परंतु हमें सबसे ज्यादा जरूरत शिक्षा की है इसलिए दो रोटी कम खाएं लेकिन शिक्षा प्राप्त करें और लोगों को शिक्षा का महत्व बताएं। आज हम जातियों के नाम पर इतना बट गए हैं की हम एक दूसरे को नीचा दिखाने में लगे हैं हमें एक दूसरे की टांग ना खींचकर जो व्यक्ति रात दिन आपके मान सम्मान की लड़ाई लड़ रहा है उसका साथ देना होगा तभी हम एक हो पाएंगे।

जिला उपाध्यक्ष कनीराम मेघवाल, जिला महासचिव बंटी मेघवाल, जीरापुर तहसील अध्यक्ष भेरूलाल चावड़ा, ब्रजमोहन वर्मा मलकाना, राकेश मेघवाल ग्राम अध्यक्ष कालियाखेड़ी, अमृत वर्मा कायथा सहित आजाद समाज पार्टी भीम आर्मी के सभी कार्यकर्ता एवं पदाधिकारी मौजूद रहे।