धार में छात्रों ने किया प्रदर्शन:नारेबाजी करते हुए कलेक्ट्रेट पहुंचे, कलेक्टर को सुनाई समस्याएं

धार में छात्रों ने किया प्रदर्शन:नारेबाजी करते हुए कलेक्ट्रेट पहुंचे, कलेक्टर को सुनाई समस्याएं

कबीर मिशन समाचार धार से मयाराम सोलंकी खास रिपोर्ट

नारेबाजी करते हुए कलेक्ट्रेट पहुंचे, कलेक्टर को सुनाई समस्याएं|धार,
धार में सोमवार दोपहर छात्र बड़ी संख्या में रैली निकालते हुए कलेक्ट्रेट पहुंचे। यहां उन्होंने अपनी समस्याओं को लेकर प्रदेश सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और कलेक्टर को अपनी समस्याएं बताई और ज्ञापन सौंपा। मप्र आदिवासी छात्र संगठन के बैनर तले छात्रों ने यह रैली निकाली।छात्र प्रदर्शन करते हुए जब कलेक्ट्रेट पहुंचे तब कलेक्टर प्रियंक मिश्रा कार लेकर कहीं जा रहे थे। नारेबाजी के आवाज सुनकर बाहर कार रुकवाई और छात्रों की समस्या सुनने के लिए पहुंच गए। अपने बीच कलेक्टर को देखकर छात्रों ने नारेबाजी बंद कर दी और अपनी समस्या बताई। छात्रों ने बताया कि एसटी वर्ग के छात्र-छात्राओं को आवास सहायता योजना भोपाल, इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर व उज्जैन संभागीय मुख्यालय में 4 हजार रुपए प्रति विद्यार्थी प्रतिमाह दी जा रही है। जबकि 47 जिला मुख्यालय 25 सौ रुपए प्रति विद्यार्थी तथा ब्लॉक मुख्यालय पर 2 हजार रुपए प्रति विद्यार्थी सहायता की गई।

ज्ञापन में बताया कि 16 अगस्त 2022 के पत्र क्रमांक एफ-12-25/2017/25-2 विभाग द्वारा पुन: सभांगीय मुख्यालय पर 2 हजार रुपए प्रति विद्यार्थी प्रतिमाह, जिला मुख्यालय पर 1250 रुपए प्रति विद्यार्थी प्रतिमाह व ब्लॉक मुख्यालय पर 1 हजार रुपए प्रति विद्यार्थी प्रतिमाह कर दिया गया। नए आदेश के तहत आवास भत्ते में कटौती कर दी गई। इसके चलते संगठन ने आवास राशि बढ़ाने के लिए ज्ञापन सौंपा। छात्र संगठन के प्रदेश उपाध्यक्ष महेश डामर ने बताया राशि कम करने से छात्रों में असंतोष है। हमारी मांगे गंभीरता से ली जाए, नहीं तो आदिवासी छात्र संगठन द्वारा पूरे मध्यप्रदेश में चरणबद्ध विद्यार्थी आंदोलन किया जाएगा। इसकी जिम्मेदारी शासन-प्रशासन की रहेगी। इस दौरान बड़ी संख्या में छात्रगण मौजूद थे।