उत्तरप्रदेश

भुगतान में त्रिवेणी चीनी मिल अग्रणी, भेजा किसानों के खाते में 26 मार्च तक का भुगतान।

जिला ब्यूरो चीफ योगेश गोविन्द राव कबीर मिशन समाचार पत्र कुशीनगर उत्तर प्रदेश।

रामकोला नगर स्थित त्रिवेणी चीनी मिल बकाया मूल्य के भुगतान को जनपद मे अग्रणी रखते हुए आज 26 मार्च तक के खरीदे गए गन्ने का भुगतान किसानों के खाते में भेज दिया है। उक्त आशय की जानकारी प्रधान प्रबंधक यशराज सिंह व कारखाना प्रबंधक मानवेंद्र राय ने संयुक्त रूप से एक प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से दी ।

उन्होंने बताया कि चीनी मिल ने पूर्व में 19 मार्च तक किसानों के खाते में गन्ना मूल्य का भुगतान भेजा जा चुका है और आज 20 मार्च से लेकर 26 मार्च तक खरीदे गए गन्ने का मूल्य 11.12 करोड़ रुपए किसानों के खाते में भेजा जा रहा है । उन्होंने कहा कि चीनी मिल के लिए किसान हित सर्वोपरि है। नए सत्र में अभी तक चीनी मिल द्वारा 224.68 करोड़ रूपये का गन्ना मूल्य भुगतान किया जा चुका है । चीनी मिल 5 अप्रैल तक 70 लाख कुंतल गन्ने की पेराई कर 7.35 लाख कुंतल चीनी का उत्पादन की है।

प्रधान प्रबंधक ने गन्ना किसानों से अपील करते हुए कहा है कि गन्ना प्रजाति 0238 वृहद एवं गंभीर रूप से रोक ग्रस्त हो गई है और तेजी से सूख भी रही है इस गन्ने को किसान कदापि न बोयें।बसंत कालीन बुवाई में नई प्रजाति सीओ 0118 ,सीओपी 9301, सीओ 98014 ,सीओ 15023 एवं सीओएल के 94184 , 14201 गन्ने की प्रजाति की बुवाई करें। वर्तमान परिदृश्य में मिल द्वारा सुझाए गए गन्ने की प्रजातियो को बसंत कालीन बुवाई में आपूर्तिकर्ता किसानों को ₹25 प्रति कुंतल प्रीमियम दिया जाएगा ।

मिल क्षेत्र के अंदर ही गन्ना ढलाई हेतु किसानों को अनुदान दिया जाएगा। गन्ना बीज उपचार हेतु हेक्सास्टाप 50 प्रतिशत अनुदान पर तथा ट्राइकोडरमा 75 प्रतिशत अनुदान पर उपलब्ध कराया जाएगा। ट्रेंच या बाइडर विधि से बुवाई करने वाले किसानों को अनुदानित दर पर उर्वरक भी उपलब्ध कराया जाएगा।

About The Author

Related posts