उज्जैन देश-विदेश मध्यप्रदेश राजनीति

उज्जैन। युवा, बुजुर्ग एवं महिलाओं ने उमंग और उत्साह से किया मतदान

पहली बार मतदान करने वाले युवाओं के चेहरे पर दिखी मतदान की मुस्कान


जिले में शांतिपूर्वक और सुव्यस्थित रूप से मतदान संपन्न


सभी सातों विधानसभाओं में बेहतर व्यवस्थाओं के बीच संपन्न हुआ मतदान


कलेक्टर व एसपी ने की मतदान केंद्रों की सतत निगरानी


सुरक्षा व्यवस्था रही चाक चौबंद


उज्जैन 13 मई / लोकसभा निर्वाचन 2024 के तहत सोमवार 13 मई को जिले के सातों विधानसभा क्षेत्रों में शांतिपूर्वक मतदान हुआ। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री नीरज कुमार सिंह के निर्देशन में जिले के 1844 मतदान केंद्रों पर मतदाताओं की सुविधाओं के लिए बेहतर व्यवस्थाएं की गई।

कलेक्टर श्री सिंह एवं पुलिस अधीक्षक श्री शर्मा ने सुबह से ही मतदान केंद्रों पर पहुंचकर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। उन्होंने उज्जैन उत्तर, उज्जैन दक्षिण, घट्टिया विधानसभा क्षेत्रों का भ्रमण कर मतदान केंद्रों का बारीकी से निरीक्षण किया और अधिकारियों को स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण मतदान संपन्न कराने के लिए पाबंद किया। मतदान करने के लिए युवाओं सहित बुजुर्गों एवं दिव्यांगजनों में भारी उत्साह देखा गया। सभी विधानसभा क्षेत्रों में आदर्श मतदान केंद्र, महिला बूथ और दिव्यांग मतदाताओं के लिए केंद्र भी बनाए गए।

कलेक्टर एवं एसपी ने किया मतदान केंद्रों का सघन निरीक्षण

कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री नीरज कुमार सिंह एवं पुलिस अधीक्षक श्री प्रदीप शर्मा द्वारा सुबह से लेकर मतदान समाप्ति तक मतदान केंद्रों का सघन निरीक्षण किया गया। उन्होंने उज्जैन उत्तर व दक्षिण, घट्टिया आदि विधानसभाओं का सघन भ्रमण किया। इस दौरान उन्होंने मतदान सम्पन्न कराने वाले अधिकारी/कर्मचारियों को व्यवस्थित ढंग से कार्यवाही संपादित करने के निर्देश दिए। उन्होंने पीठासीन अधिकारी, सेक्टर अधिकारी तथा कार्यपालिक मजिस्ट्रेट्स को शांतिपूर्ण ढंग से मतदान सम्पन्न कराने के लिए आयोग के निर्देशानुसार सभी आवश्यक कदम उठाने के निर्देश दिए।

अधिकारियों ने भी किया मतदान केंद्रों का निरीक्षण

निर्वाचन के सुचारु संचालन के लिए जिला पंचायत सीईओ श्री मृणाल मीना, अपर कलेक्टर श्री अनुकूल जैन, कार्यकारी निदेशक एमपीआईडीसी श्री राजेश राठौर, सीईओ यूडीए श्री संदीप सोनी ने भी मतदान केंद्रों का सतत निरीक्षण किया। निर्वाचन प्रक्रिया सुव्यवस्थित ढंग से पूर्ण कराने में सभी सहायक रिटर्निंग अधिकारियों द्वारा भी सक्रिय भूमिका निभाई गई। कलेक्टर श्री सिंह द्वारा व्यवस्थाओं की निगरानी के लिए जिले में पदस्थ अपर कलेक्टर्स को विधानसभाएं आवंटित की गई थी।

नव-मतदाताओं, बुजुर्गों एवं दिव्यांगो ने उत्साह के साथ किया मतदान

लोकतांत्रिक व्यवस्थाओं को मजबूत बनाए रखने में घर के युवा, महिलाएं, वृद्धजन व दिव्यांगजन भी किसी से पीछे नहीं रहे। दिव्यांगजनों ने मतदान केंद्रों पर उपलब्ध व्हील चेयर की सुविधा का लाभ लेते हुए उत्साह से अपने मताधिकार का उपयोग किया। सभी मतदान केंद्रों पर वृद्ध एवं दिव्यांग मतदाताओं के लिए व्हील चेयर्स की व्यवस्था की गई थी।

विधानसभा क्षेत्र उज्जैन उत्तर के बहादुरगंज निवासी 100 वर्षीय श्यामा बाई ने सोमवार को उनके क्षेत्र के मतदान स्थल क्रमांक 78 भाटी राजपूत धर्मशाला लक्कड़गंज में जाकर मतदान किया। इतनी आयु के बावजूद मतदान के प्रति उनके उत्साह में बिल्कुल भी कमी नहीं आई। श्यामा बाई स्वयं चलकर मतदान केंद्र तक गई और मतदान किया।

आदर्श मतदान केंद्र क्रमांक 103 सेठी नगर में मतदान करने के लिए आए दिव्यांग धनुष व्यास ने बताया कि वे पैरों से दिव्यांग हैं । आज वे अपने मत का प्रयोग करने के लिए यहां आए हैं। उन्होंने बताया कि मतदान केंद्र पर दिव्यांग जनों के लिए बहुत अच्छी व्यवस्था की गई है। मतदान केंद्र तक वे ट्राई साइकिल से आए उसके बाद उन्हें केंद्र में मौजूद कर्मचारियों द्वारा व्हील चेयर पर बैठा कर मतदान के लिए ले जाया गया। मतदान केंद्र पर दिव्यांग जनों के लिए रैंप की व्यवस्था की गई थी। श्री धनुष व्यास ने मतदान केंद्र पर की गई व्यवस्थाओं की प्रशंसा की और सभी से मतदान की अपील की।

बीमारी और अधिक उम्र भी नहीं रोक पाई मतदान केन्द्र पहुंचने से

उज्जैन दक्षिण मतदान केन्द्र क्रमांक 193 में सेना के रिटायर्ड अधिकारी 82 वर्षीय कर्नल हुकुमचंद जैन और उनकी पत्नी 78 वर्षीय श्रीमती वेरामनी जैन ने मतदान किया। कर्नल हुकुमचंद जैन और उनकी धर्मपत्नी विगत कई दिनों से बीमार हैं। मतदान दिवस पर उनकी मतदान करने की इच्छाशक्ति के आगे बीमारी भी उन्हें मतदान केन्द्र जाने से नहीं रोक पाई। इसी प्रकार पिपली नाका निवासी 67 वर्षीय गंगाबाई ने भी अपने बेटे के साथ पहुंचकर मतदान किया।

ढोल-बाजे के साथ मतदाताओं का स्वागत

अनेक मतदान केन्द्रों में मतदान केन्द्र में आने वाले मतदाताओं का स्वागत ढोज बाजे के साथ किया गया। मतदान केंद्रों पर तिलक लगाकर, तो कहीं फूल माला पहनाकर मतदाताओं का स्वागत किया गया।

अनेक मतदान केन्द्रों पर आकर्षक सजावट

अनेक मतदान केन्द्रों को फूल, रंगोली, पेंटिंग और तोरण से सजाया गया। मतदाताओं के स्वागत के लिए स्वागत द्वार बनाए गए। अनेक स्थान पर गर्मी को देखते हुए टेंट के साथ ही कारपेट भी बिछाया गया। मतदाताओं के बैठने के लिए कुर्सियों की भी व्यवस्था की गई तथा पीने के लिए ठन्डे पानी की व्यवस्था भी की गई।

कमिश्नर, कलेक्टर, एसपी सहित अन्य अधिकारियों ने किया मतदान

लोकसभा निर्वाचन 2024 के तहत 13 मई को उज्जैन संभागायुक्त श्री संजय गुप्ता, कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री नीरज कुमार सिंह और पुलिस अधीक्षक श्री प्रदीप शर्मा ने कृषि कार्यालय कोठी रोड मतदान केंद्र क्रमांक 204 पहुंचकर अपने मताधिकार का प्रयोग किया। मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री मृणाल मीना, उपायुक्त श्री रणजीत कुमार, निगम आयुक्त श्री आशीष पाठक सहित अन्य अधिकारियों ने भी मतदान दिया।

10 हजार से अधिक कर्मचारियों ने 2097 केंद्रों पर शान्तिपूर्वक कराया मतदान

उज्जैन आलोट संसदीय क्षेत्र में मतदान सम्पन्न कराने के लिए कुल 2097 मतदान केन्द्र बनाए गए, जिनमें 10000 से अधिक कर्मचारियों ने शांतिपूर्वक और सुचारु रूप से मतदान करवाया। 342 माइक्रो आब्जर्वर्स ने भी क्रिटिकल मतदान केंद्रों पर पैनी नजर रखी। सभी मतदान केंद्रों पर शांतिपूर्वक मतदान संपन्न हुआ।

4000 से अधिक सुरक्षा जवानों ने मतदान प्रक्रिया को सफल बनाने में निभाई सक्रिय भूमिका

जिले की सातों विधानसभा में निर्धारित कुल 1844 मतदान केंद्रों पर 2088 मतदान दल नियोजित किए गए थे, जिनमें 456 मतदान केंद्रों पर पुरुष और महिला और 347 मतदान केंद्रों पर केवल महिलाओं द्वारा मतदान संपन्न कराया गया।

जिले में शांतिपूर्ण मतदान सम्पन्न कराने के लिए 4000 से अधिक सुरक्षा कर्मियों की ड्यूटी लगाई गई। इनमें सीएपीएफ के 300 जवान, एसएएफ के 450, होमगार्ड के जवान 1221, 1175 हेड कांस्टेबल और कांस्टेबल, 236 सहायक पुलिस निरीक्षक सहित अन्य पुलिस अधिकारी सुरक्षा व्यवस्था के लिए लगाए गए। 1844 शासकीय कर्मचारियों को विशेष पुलिस अधिकारी भी बनाया गया। साथ ही 450 से अधिक पुलिस मोबाइल द्वारा सम्पूर्ण जिले का भ्रमण कर व्यवस्थाओं की निगरानी की गई। ड्रोन के माध्यम से भी एरियल सर्वेलेंस किया गया।

240 सेक्टर अधिकारी और सेक्टर पुलिस अधिकारी रहे मुस्तैद

उज्जैन संसदीय क्षेत्र में कुल 240 सेक्टर अधिकारी बनाए गए थे। इनमें नागदा खाचरोद में 34, महिदपुर में 31, तराना में 26, घट्टिया में 31, उज्जैन उत्तर में 32, उज्जैन दक्षिण में 37, बड़नगर में 29 एवं आलोट में 20 सेक्टर अधिकारी और 240 ही सेक्टर पुलिस अधिकारी मुस्तैद रहे, जिनकी सतत निगरानी में निर्वाचन शांतिपूर्ण संपन्न हुआ एवं मतदान दलों से सतत समन्वय बनाकर मतदान संपन्न कराया गया।

1105 मतदान केंद्रों की गई वेब कास्टिंग

उज्जैन संसदीय क्षेत्र के कुल 2097 मतदान केंद्रों में से लगभग 1105 मतदान केंद्रों पर वेब कास्टिंग (लाइव स्ट्रीमिंग) की गई। जिसकी कलेक्ट्रेट कार्यालय स्थित कंट्रोल रूम से मतदान केंद्रों पर निगरानी की गई। मतदान के दिन सूचनाओं के त्वरित आदान-प्रदान के लिये जिला स्तर व विधानसभा स्तर पर कम्यूनिकेशन टीम तैनात रही। इस टीम में नियुक्त अधिकारी/कर्मचारियों ने मतदान केन्द्रों तक मतदान दलों के पहुँचने की जानकारी, मॉकपोल होने की जानकारी, उसके बाद मतदान शुरू होने व मतदान का प्रतिशत जैसी जानकारियां मतदान केन्द्रों पर नियुक्त कर्मचारियों से चर्चा कर संकलित की और सूचनाओं का त्वरित रूप से आदान-प्रदान किया। साथ ही केन्द्रों पर व्यवस्थाओं की निगरानी भी की गई।

About The Author

Related posts