क्राइम देश-विदेश भोपाल मध्यप्रदेश राजनीति समाज सीहोर

बीसूखेड़ी में मतदान बहिष्कार करने वाले ग्रामीणों के बीच पहुंचे सीईओ और तहसीलदार।

जावर से संजय सोलंकी की रिपोर्ट 9691163969।

कजलास। लंबे समय से रोड का निर्माण न होने से आक्रोशित बीसूखेड़ी गांव के ग्रामीणों ने बीते दिनों को लोकसभा चुनाव में मतदान के बहिष्कार का ऐलान किया था। शनिवार को मीडिया की सुर्खियां बनने के बाद तहसीलदार और जनपद सीईओ पुलिस बल के साथ गांव में पहुंचे और ग्रामीणों से वार्ता करते हुए समस्या के जल्द समाधान का आश्वासन दिया।

बता दें कि सिहोर और देवास जिले की बॉर्डर पर आष्टा विधानसभा का पहला गांव के ग्रामीणों ने सालों से जर्जर पड़ी रोड, शमशान घाट बिजली व कही मूलभूत सुविधाएं न होने पर मतदान के बहिष्कार की घोषणा कर दी थी। रविवार को बड़ी संख्या में रोड निर्माण न होने की सूरत में घर से बाहर निकले ग्रामीणों ने रोड नहीं तो वोट नहीं का बैनर लेकर सड़क पर पहुंचे और जनप्रतिनिधि व प्रशासनिक अधिकारियों पर अनदेखी का आरोप लगाते हुए नारेबाजी के साथ मूलभूत समस्या का समाधान न होने पर लोकसभा चुनाव में मतदान के बहिष्कार की बात कह डाली।

मामले को गंभीरता से लेते हुए रविवार को जावर तहसीलदार अविनाश ,और आष्टा जनपद के ceo अमित कुमार व्यास पुलिस बल के साथ गांव में पहुंचे और ग्रामीणों से वार्ता की। तहसीलदार अविनाश जी ने बताया कि गांव वालों को बिठाकर उनसे वार्ता की गई है।

उन्होंने बताया कि ग्रामीणों की रोड निर्माण समस्या उच्चधिकारियों के बीच रख समस्या के समाधान पर वार्ता जाएगी। तहसीलदार ने गांव वालों से मतदान में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेने की बात कही।

About The Author

Related posts