मध्यप्रदेश राजनीति

पेयजल संबंधी समस्याओं के त्वरित निराकरण के लिए टोल फ्री नंबर जारी करें : पीएचई मंत्री श्रीमती उइके

पेयजल संबंधी समस्याओं के त्वरित निराकरण के लिए टोल फ्री नंबर जारी करें : पीएचई मंत्री श्रीमती उइके

भोपाल : शनिवार, जनवरी 27, 2024, हर घर तक नल के माध्यम से शुद्ध एवं स्वच्छ पेयजल पहुंचाने के उद्देश्य से संचालित जल जीवन मिशन योजना का मैदानी स्तर पर बेहतर क्रियान्वयन किया जाए। मिशन से जुड़े विभागीय अधिकारी जन-प्रतिनिधियों से समन्वय बनाकर योजना को मूर्तरूप देने का कार्य करें, यह निर्देश लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री श्रीमती संपतिया उइके ने सिवनी जिले में विभागीय समीक्षा बैठक में दिये। बैठक में सिवनी विधायक श्री दिनेश राय, बरघाट विधायक श्री कमल मर्सकोले उपस्थित थे।

श्रीमती संपतिया उइके ने जिले में संचालित एकल एवं समूह नल जल योजनाओं की विकासखण्डवार विस्तृत समीक्षा करने के साथ-साथ उन्होंने उपस्थित जनप्रतिनिधियों से भी नल जल योजनाओं की गुणवत्ता एवं प्रगति को लेकर चर्चा कर अधिकारियों को निर्देशित किया। जल जीवन मिशन के सभी कार्य पूरी गुणवत्ता के पूर्ण किए जाएं। मैदानी अमला अपने क्षेत्र में प्रगतिरत सभी कार्यों का निरंतर अवलोकन करें। मंत्री श्रीमती उइके ने अधिकारियों को भविष्य की आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए योजना तैयार करने के निर्देश दिए। उन्होंने ऐसे सभी ग्राम जिन्हें स्रोत न होने से एकल नल जल योजना का लाभ नहीं दिया जा रहा है, उनमें समूह नल जल योजना तैयार करने के निर्देश दिए। उन्होंने समूह नल जल योजनाओं के क्रियांवयन के लिए जल संसाधन विभाग के छोटे-बड़े टैंकों को स्रोत के रूप में उपयोग करके बरघाट, कुरई, लखनादौन जैसे क्षेत्रों के ग्रामों को लाभांवित करने के निर्देश दिए। उन्होंने इस कार्य के लिए नवीन डीपीआर तैयार कर शासन को भेजने निर्देशित किया।

मंत्री श्रीमती उइके ने विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया कि आमजन को पेयजल संबंधी कोई भी समस्या न हो, इसका ध्यान रखा जाए। पेयजल संबंधी समस्याओं का त्वरित निराकरण किया जाए। उन्होंने जिला एवं विकासखण्ड स्तर पर समस्याओं के समाधान के लिये कंट्रोल रूम बनाकर टोल फ्री नंबर जारी करने के निर्देश दिए। मंत्री श्रीमती उइके ने बैठक में उपस्थित अनुबंधकर्ताओं को भी निर्देशित किया कि सभी कार्यों को पूरी गम्भीरता एवं गुणवत्ता के साथ समय सीमा में पूर्ण किया जाए। आगामी ग्रीष्म ऋतु में कहीं भी पेयजल संबंधी समस्या न आए। उन्होंने अनुबंधकर्ताओं को पूरी क्षमता एवं पर्याप्त मानव संसाधन के साथ कार्य करने के निर्देश दिए।

About The Author

Related posts