पन्ना शिक्षा

शासकीय कन्या महाविद्यालय में विधिक साक्षरता शिविर आयोजित

शासकीय कन्या महाविद्यालय में विधिक साक्षरता शिविर आयोजित

पन्ना : शनिवार, दिसम्बर 

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा महिला रोजगार प्रशिक्षण एवं शिक्षण संस्थान के समन्वय से शासकीय कन्या महाविद्यालय पन्ना में विधिक साक्षरता शिविर आयोजित किया गया। इस मौके पर अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस के उपलक्ष्य में बाल विवाह एक अभिशाप  विषय पर निबंध प्रतियोगिता भी आयोजित की गई। प्रतियोगिता के विजेताओं को शील्ड व प्रमाण पत्र वितरित किए गए। शिविर का शुभारंभ जिला न्यायाधीश एवं प्राधिकरण के सचिव राजेन्द्र कुमार पाटीदार ने दीप प्रज्जवलन कर किया। महाविद्यालय की छात्रा काजल मिश्रा एवं रेशू मिश्रा ने सरस्वती वंदना व स्वागत गीत प्रस्तुत किया।जिला न्यायाधीश श्री पाटीदार ने शिविर में कहा कि बेटियां अच्छी शिक्षा प्राप्त कर समाज में व्याप्त बाल विवाह, दहेज प्रथा, घूंघट प्रथा आदि कुरीतियों को समाप्त करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती हैं।

उन्होंने महिलाओं से संबंधित अपराध व कानूनी उपचार से संबंधित विधिक प्रावधानों व अपराध पीड़िताओं को पुर्नस्थापना के लिए कार्यालय द्वारा दी जाने वाली अपराध पीड़ित प्रतिकर योजना 2015 व नालसा योजना 2018 के प्रावधानों के बारे में विस्तार से बताया।महिला रोजगार प्रशिक्षण एवं शिक्षण संस्थान के अध्यक्ष व किशोर न्याय बोर्ड के सदस्य आशीष बोस ने बोर्ड के गठन, उसकी प्रक्रिया व बोर्ड द्वारा विधि का उल्लंघन करने वाले बालकों के सुधार के लिए लागू विभिन्न प्रावधानों, बाल कल्याण समिति के गठन व कार्य आदि के बारे में बताया और संस्था द्वारा समाज सेवा की गतिविधियों को जारी रखने का संकल्प दोहराया। जिला विधिक सहायता अधिकारी देवेन्द्र सिंह परस्ते द्वारा विधिक सेवा प्राधिकरण अधिनियम 1987 के महत्वपूर्ण प्रावधानों, नालसा व सालसा की योजनाओं एवं निःशुल्क विधिक सहायता के लिए पात्रता व विधिक साक्षरता क्लब के कार्य आदि के बारे में विस्तार से जानकारी प्रदान की।शिविर का संचालन डॉ. राजेश पाठक ने किया व आभार प्रदर्शन महाविद्यालय के प्रभारी प्राचार्य नरेश पटेल द्वारा किया गया।

प्राचार्य द्वारा सभी बच्चियों से आह्वान किया गया कि वह विधिक साक्षरता शिविर में दी गई विधिक सहायता का संदेश समाज में फैलाएं और आम व्यक्ति की मदद करने के लिए सदैव तत्पर रहें। शिविर में क्रीड़ा अधिकारी नाहिद अख्तर, सहायक प्राध्यापक डॉ. फरीद अहमद, डॉ. विवेक मिश्रा, डॉ. धीरेन्द्र साकेत एवं साक्षी भट्ट, पीएलबी वैशाली लखेरा, पुष्पेन्द्र कुशवाहा, प्राधिकरण के कर्मचारी लोकेन्द्र सिंह व खुर्शीद अहमद तथा महाविद्यालय की सभी छात्राएं व कर्मचारी उपस्थित रहे। शिविर के दौरान महाविद्यालय में विधिक जागरूकता उत्पन्न करने के आशय से निरंतर गतिविधियां संचालित करने के लिए विधिक साक्षरता क्लब के गठन पर भी चर्चा की गई।

About The Author

Related posts