नीमच

बीते दिनों देवीलाल का अपहरण कर मारपीट करने का पर अपहरणकर्ता गोविंद पाटीदार व दोषियों पर कार्यवाही की मांग, मीणा समाज ने एसपी कार्यालय में दिया ज्ञापन

बीते दिनों देवीलाल का अपहरण कर मारपीट करने का पर अपहरणकर्ता गोविंद पाटीदार व दोषियों पर कार्यवाही की मांग, मीणा समाज ने एसपी कार्यालय में दिया ज्ञापन

कबीर मिशन समाचार।

नीमच। बीते दिनों सिटी थाना क्षेत्र में देवीलाल पिता बंशीलाल रावत का अपरहण कर रात भर मारपीट करने का मामला सामने आया था जिसके बाद पीड़ित घायल अवस्था मे जिला अस्पताल पहुँचा जहाँ से परिजनों द्वारा पुलिस को सूचना दी गई। इस पुरी घटना में आक्रोशित मीणा समाज ने एकत्रित होकर शनिवार को एसपी कार्यालय पहुंचे। जहाँ पुलिस अधीक्षक के नाम ज्ञापन सौपा गया। जिसमें बताया कि देवीलाल पिता बंशीलाल रावत निवासी ग्राम पिपलिया चारण अपनी फर्म रावत इलेक्ट्रीकल्स सरवानियां महाराज की दूकान में था। तभी गोविन्द पिता रमेश पाटीदार निवासी मालखेड़ा एवं अन्य साथी जो 5 व्यक्ति थे जो कि दूकान में घुसकर तोड़ फोड़ की एवं देवीलाल के छोटे भाई घनश्याम रावत जो दूकान चलाता है उसके साथ मारपीट की गाली गलौच व जान से मारने की धमकी देकर दूकान का सामान बाहर फेंक दिया। दूकान में ताला लगाकर चाबी साथ लेकर चले गए थे।जिसका आवेदन पीड़ित द्वारा सरवानियाँ महाराज चौकी पर दिया उसके बाद भी कोई कार्यवाही नहीं होने की वजह से इन बदमाशों के हौंसले बुलन्द हो गए। उसके 15 दिन बाद देवीलाल मोटर साईकल से नीमच आ रहा था रास्ते में गोविन्द पाटीदार ने फिर रोक कर अपने अन्य साथियों के साथ देवीलाल के साथ हाथापाई की व कार में बिठाकर अपहरण कर लिया जिसके बाद पेड़ से बांधकर रात भर मारपीट की गई और जान से मारने की धमकी दी। मौका पाकर देवीलाल रावत आरोपियों के चंगुल से भाग गया और परिजनों को सूचना दी जिसके बाद नीमच सिटी थाना में रिपोर्ट लिखवाने गया तो पुलिस ने बिना रिपोर्ट दर्ज किए वहाँ से भगा दिया। पूर्व में भी अरनिया मामादेव निवासी बालकंवरी बाई एवं बहन पूजा के साथ भी इसी प्रकार की घटना हुई थी जिसमें पुलिस प्रशासन द्वारा कोई ठोस कार्यवाही नहीं की गई थी जिससे दोषी लोग बाहर घुम रहे है और निर्दोष हमारी बहन-बेटी जेल में है। जिससे ऐसा प्रतीत होता है कि पुलिस प्रशासन चन्द नेताओं एवं गुण्डों की कठपुतली बन रह गया है। आवेदन देकर मांग की गई कि उक्त व्यक्ति आपराधिक किस्म होकर गुण्डा गर्दी करते हैं। जिन्हें गिरफ्तार कर कठोर कार्यवाही की जाए।

About The Author

Related posts