मध्यप्रदेश राजनीति सीहोर

एक तरफ रघुनाथ मालवीय तो दूसरी तरफ कैलाश बगाना बीच में टिकट लेकर फंसे गोपाल इंजीनियर

एक तरफ रघुनाथ मालवीय तो दूसरी तरफ कैलाश बगाना बीच में टिकट लेकर फंसे गोपाल इंजीनियर

कोन निकलेगा बीजेपी को इस संकट से

कबीर मिशन समाचार जिला सीहोर।

आष्टा से संजय सोलंकी की रिपोर्ट।
आष्टा। लगता है मध्य प्रदेश की राजनीती अब आष्टा में आकर रुक गई है। जिसको नाव में हमने जगह दी उन्होंने हमारे नव छीन ली यह शब्द हो सकते है आष्टा के पूर्व विधायक रघुनाथ सिंह मालवीय के क्योंकि आष्टा की राजनीति में बहुत ही गंभीर चर्चा चल रही हैं आपको बता दें कि आष्टा से बीजेपी के पूर्व विधायक रघुनाथ सिंह मालवीय के टिकट कट जाने के बाद में गोपाल सिंह इंजीनियर को टिकट दिया गया है आपको बता दें कि इससे पूरी विधानसभा में भाजपा कार्यकर्ताओं में बहुत ही रोष देखने को मिल रहा है गोपाल सिंह इंजीनियर को टिकट मिलने के बाद में एक तरफ पूर्व विधायक रघुनाथ सिंह मालवी तो दूसरी तरफ संघ के कार्यकर्ता कैलाश बगाना ने अपना मोर्चा खोल दिया है 22 तारीख को आष्टा की जैन धर्मशाला में कैलाश बगाना ने अपना दुख जाहिर किया

और बीजेपी के कार्यकर्ताओं के सामने अपनी बात रखी।वही रघुनाथ सिंह मालवीया ने भी मीटिंग बुलाकर गोपाल सिंह इंजीनियर और बीजेपी के प्रदेश कार्यकारिणी को संकट में डाल दिया है रघुनाथ सिंह मालवीया एक मीटिंग में भाउक हो गए और अपनी आंखो से आंसू बहाने लगे,मालवीय ने कहा कि हमने क्या गलती की जनसंघ से लेकर आजतक हम सिर्फ भाजपा के कार्यकर्ता बनकर आष्टा विधान सभा के लोगो की सेवा ही की है और कुछ दिन पार्टी में पहले आए कांग्रेसी को बीजेपी से टिकिट मिल गई यह हमारे साथ कहा का न्याय है अगर रघुनाथ मालवीय ने कहा कि पार्टी को इस पर विचार करना चाहिए अगर फिर भी पार्टी ध्यान नहीं देती है तो हम 5000 कार्यकर्ताओं के साथ अपना निर्दलीय नामांकन दर्ज करेंगे और इसकी जिम्मेदारी बीजेपी की प्रदेश कमेटी की रहेगी

एक दिन पहले आष्टा सीट के लिए भाजपा ने गोपाल इंजीनियर को अपना प्रत्याशी घोषित किया था। गोपाल इंजीनियर कांग्रेस से भाजपा में आए थे। ऐसे में भाजपा कार्यकतां और पदाधिकारियों में इसका विरोध शुरू हो गया। रविवार को गीतांजलि गार्डन में विधायक रघुनाथ मालवीय और कैलाश गाना अलग-अलग अपने समर्थकों और कार्यकताओं के साथ चर्चा करते नजर आए।

कैलाश बगाना ने जैन धर्मशाला में की समर्थकों से चर्चा : भाजपा के दावेदार कैलाश बगाना ने भी रविवार को पुराना बस स्टैंड स्थित जैन धर्मशाला में अपने समर्थकों से चर्चा की। यहां बैठक का नेतृत्व पूर्व भाजपा जिलाध्यक्ष ललित नागौरी ने किया। इस दौरान उन्होंने भाजपा प्रत्याशी गोपाल सिंह इंजीनियर का खुलकर विरोध किया। साथ ही 25 अक्टूबर तक टिकट बदलने मांग की है। भाजपा नेताओं का कहना है कि यदि संगठन टिकट नहीं बदलता है तो कार्यकर्ता रणनीति बनाकर विरोध करेंगे।

जैन धर्मशाला में हुई बैठक में नाराज कार्यकर्ता । रघुनाथ मालवीय विधायक रघुनाथ मालवीय कार्यकर्ताओं से चर्चा करते हुए भावुक हो गए, और नम आंखों से बोले कि उन्होंने एक ही पार्टी में रहते हुए जनसंघ से लेकर अभी तक सेवा की है, लेकिन फिर भी बाहरी व्यक्ति को लाकर टिकट दिया इससे बहुत दुखी हूं। पार्टी के निर्णय से मुझे आघात पहुंचा। उन्होंने कहा कि इस बार पार्टी ने ऐसे व्यक्ति को टिकट दिया है जो हमारी विचारधारा से मेलजोल नहीं खाता है। संगठन को इस पर दोबारा विचार करना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि पांच हजार कार्यकर्ताओं को साथ लेकर वे जल्द ही नामांकन फार्म भरेंगे।

About The Author

Related posts