सुठालिया। डेढ़ साल से फरार 5000/- इनामी आरोपी को गिरफ्तार करने में पुलिस को मिली सफलता।

सुठालिया राजगढ़ मध्यप्रदेश। कबीर मिशन समाचार
पवन मेहरा

सुठालिया। जिला पुलिस द्वारा फरार आरोपियों की धरपकड़ हेतु चलाये जा रहे अभियान के तहत पुलिस अधीक्षक श्री अवधेश कुमार गोस्वामी (भापुसे) के कुशल नेतृत्व मे, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री मनकामना प्रसाद एवं श्रीमति नेहा गौर एसडीओपी ब्यावरा के निर्देशन मे सम्पति संबधित अपराधों की रोकथाम एवं आरोपियों को पकड़ने के लिए चलाये जा रहे अभियान के तहत दिनांक 04/12/22 को एक आरोपी रंजीत उम्र 21 साल निवासी जूनापानी, थाना चाचौड़ा, जिला गुना को विधिवत गिरफ्तार किया गया।

फरियादी प्रधान आरक्षक 491 विनोद यादव थाना सुठालिया ने रिपोर्ट किया कि दिनांक 13/07/2021 को मेरी ड्यूटी रात्रि प्रधान आरक्षक लेखक में थी तथा आरक्षक 869 लोकेंद्र रघुवंशी की संत्री पैहरा ड्यूटी थी कि थाने पर अपराध क्रमांक 277/21 धारा 457, 380 भा द वि में संदेही रंजीत भील निवासी जूनापानी व उसके साथी राम सिंह भील निवासी आमसेर नागपुरिया, थाना चाचौड़ा को अपराध के संदेही होने से थाना पूछताछ हेतु लाया गया था जिन्होंने पूछताछ में चोरी करना स्वीकार किया था।

जिन्हें पूछताछ के बाद हथकड़ी लगाकर खिड़की से जंजीर लगा कर बैठा दिया था सुबह करीब 5:00 बजे मैं टॉयलेट करने चला गया था और करीब 20-25 मिनट बाद आकर देखा तो उक्त दोनों आरोपी हथकड़ी के नहीं थे दोनों सदेही रात्रि का फायदा उठाकर सामने के दरवाजे से निकल कर भाग गए मैंने थाना स्टाफ को संदेही के भाग जाने के बारे में बताया जिसकी अभी तक आरक्षक 869 लोकेंद्र के साथ वहां थाने की फोर्स के साथ मिलकर ढूंढता रहा जो नहीं मिले बाद वापस थाने आया रिपोर्ट करता हूं कार्रवाई की जाए।

रिपोर्ट पर से थाना जावर अपराध क्रमांक 332/21 धारा 224 भादवी का कायम कर विवेचना में लिया गया विवेचना के दौरान मुखबिर द्वारा सूचना प्राप्त हुई की ग्राम जूनापानी का रंजीत भील ग्राम नाला जीरी के पुलिया के पास कहीं जाने के लिए खड़ा है। मुखबिर की सूचना से हमराह फोर्स को अवगत करा कर मुखबिर के बताए स्थान पुलिया के पास पहुंचे जहां उक्त हुलिये के व्यक्ति पुलिस को देखकर भागने लगा जिसे घेराबंदी कर पकड़ा नाम पता पूछा तो उसने अपना नाम रंजीत सिंह भील उम्र 21 साल निवासी ग्राम जूनापानी, थाना चाचौड़ा, जिला गुना का होना बताया।

आरोपी से हथकड़ी के बारे में पूछताछ करने पर उसने हथकड़ी को तोड़कर शामको जंगल में फेंकना बताया आरोपी का धारा 27 साक्ष्य अधिनियम का मेमो लेख कर आरोपी के बताए स्थान श्यामखो के जंगल मे पहुचे आरोपी के बताए स्थान नीम के पेड़ के नीचे पत्थर से दबी हुई हथकड़ी को मौके पर विधिवत जप्त किया गया व आरोपी को गिरफ्तार कर माननीय न्यायालय पेश किया।


उक्त कार्यवाही में थाना प्रभारी सुठालिया उपनिरीक्षक मोहरसिंह मंडेलिया, ASI शिवराज मीणा, ASI प्रेमनारायण कीर, ASI रघुवीर सिंह भिलाला, प्रधान आरक्षक 700 करतार सिंह, आरक्षक 687 सूरज, आरक्षक 156 रामस्वरूप, आरक्षक 259 जीतेंद्र, प्रधान आरक्षक चालक 162 चौधरी, सैनिक 258 भानुप्रताप का अहम महत्वपूर्ण योगदान रहा।