विज्ञापन के लिए संपर्क करें - 8462072516
विज्ञापन के लिए संपर्क करें - 8462072516
October 3, 2022

खरगोन पुलिस द्वारा मेडिकल व्यापारी के अपहरण के फरार आरोपी इंदौर के निजी मेडिकल कॉलेज के छात्र का अपहरण करने के पूर्व ही पुलिस ने किया गिरफ्तार।

कबीर मिशन समाचार खरगोन जिला प्रतिनिधि विशाल भमोरिया मो.9399469910

मास्टर माइंड वकार सहित दो अन्य आरोपियों को किया गिरफ्तार

इंदौर मेडिकल छात्र का अपहरण कर 50 लाख की फिरौती मांगने की थी योजना

16 अगस्त पुलिस को सूचना प्राप्त हुई थी कि मेडिकल व्यवसायी के पुत्र आशय महाजन पिता संजय महाजन निवासी खंडवा रोड से अज्ञात आरोपियों द्वारा अपहरण कर लिया है।

सूचना पर पुलिस द्वारा त्वरित कार्यवाही करने एवं घटना के संबंध में तत्काल की गई नाकेबंदी और वाहन के संबंध में कई स्थानों पर प्राप्त किए गए सीसीटीवी फुटेज आदि चेक करने के कारण अज्ञात आरोपियों ने डर के कारण अपहृत आशय को छोड़कर इंदौर की तरफ फरार हो गए थे।

मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए पुलिस महानिरीक्षक इंदौर ग्रामीण झोन श्री राकेश गुप्ता व पुलिस उप महानिरीक्षक निमाड़ रेंज खरगोन श्री तिलक सिंह द्वारा मामले की लगातार मॉनिटरिंग की जाकर आवश्यक संसाधन उपलब्ध कराए गए।

साथ ही पुलिस अधीक्षक खरगोन श्री धर्मवीर सिंह द्वारा भी स्वयं घटना के संबंध मे अज्ञात आरोपिगणों की गिरफ़्तारी के लिए निर्देशित किया जा रहा था।

जिसके पालन मे अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक खरगोन श्री जितेन्द्र सिंह पंवार, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (शहर) श्री मनीष खत्री एवं अनुविभागीय अधिकारी (पुलिस) अनुभाग खरगोन श्री राकेश मोहन शुक्ला के मार्गदर्शन एवं थाना प्रभारी थाना मेंनगाँव श्री दिनेश कुशवाह व चौकी प्रभारी जेतापुर प्रवीण आर्य के नेतृत्व में थाना बल एवं सायबर सेल से उनि सुदर्शन व उनि दीपक यादव को शामिल कर घटना के जल्द से जल्द खुलासे के लिए निर्देशित किया गया।

विवेचना में नामजद आरोपिगनण वकार शेख, सोहेल खान, मुबस्सिर अली की गिरफ़्तारी के लिए पुलिस अधीक्षक द्वारा 30000 रुपये के इनाम की उद्घोषणा की गई थी। तरीका-ए-वारदात वकार व आशय महाजन दोनों बचपन के दोस्त थे जिन्होंने साथ मे पढ़ाई की थी।

पूछताछ मे वकार ने बताया कि वह अपने साथी सोहेल खान, मुबस्सिर और अकबर के साथ अपनी दुकान पर 4 अगस्त 2022 को प्लान बनाने के लिये इकठ्ठे हुए। योजना बनाई कि आशय के पिता मेडिकल का व्यवसाय करते है जिनके पास बहुत पैसा है। आशय को किडनेप करेंगे और उसके पिता से 50 लाख रूपयों की मांग करंेगे तो वह दे देगा उसके घरवाले डर से रिपोर्ट भी नहीं करेंगे। वकार को मालूम था कि आशय खाना खाने के लिए अक्सर अपने घर से इंडिगो होटल पर एक्टीवा स्कुटी से जाता है।

प्लान अनुसार तय हुआ कि उसको रोककर चाकू दिखाकर मोटर सायकल पर बिठा लेंगे और आगे लेजाकर गोपालपुर से जहा अपनी कार आगे खडी रहेगी उसमें बैठाकर ले जायेंगे। इस काम के लिए वकार के मामु का लडका मुबस्सीर जो इन्दौर किराये से रहता है तथा एक दोस्त सोहेल खान निवासी एनवीडीए कॉलोनी सुखपुरी खरगोन वाले को पैसों की जरूरत है दोनों को अपने साथ मिला लिया। गाड़ी चलाने के लिए एवं घटना कारीत करने के लिए अकबर को भी साथ ले लिया।

आशय को उठाने के लिए गाड़ी वकार के घर किराये से रहने वाले रिटायर्ड कर्मचारी दिलावर ने अपनी स्विफ्ट कार वकार और अकबर को उपलब्ध कराकर वारदात में सहयोग किया। 08 अगस्त 22 को यह सूचना पर आशय इंडिगो होटल जाएगा आरोपी मुबास्सिर और सोहेल ने मोटर साइकल से आशय के घर के बाहर रेकी कर निकालने का इंतज़ार किया और दिलावर से ऑल्टो कार लेकर अकबर के साथ गोपालपुरा रोड पर खड़ी कर दी पर उस दिन पानी ज्यादा गिरने के कारण आशय नहीं निकला।

13 अगस्त 22 को आरोपी फिर घटना कारित करने के लिए एकत्रित हुए और आशय महाजन को पार्टी के लिए बाहर बुलाने का प्लान बनाया और प्लान के मुताबिक वकार ने आशय महाजन को दिनांक 13 अगस्त को शाम के समय फोन कर पार्टी के लिए बुलाया और दिलावर से ऑल्टो कार लेकर अकबर गोपालपुरा रोड पर तैयार खड़ी कर दी। लेकिन शाम तक शिवडोला होने से भीडभाड होने के कारण आशय महाजन ने मना कर दिया तो उनका यह प्रयास फेल हो गया फिर सभी सही समय के आने का इंतजार करने लगे।

15 अगस्त को वकार का जन्मदिन होने से वकार के द्वारा पार्टी के नाम पर 16 अगस्त को आशय महाजन को खंडवा रोड गायत्री होटल में अपने दोस्तों आशय गांगले, अजय गुप्ता और आशय महाजन को बुलाया। वकार और अकबर ने दिलावर द्वारा दी गई गाड़ी लेकर गोपालपुरा रोड पर लगा दी तथा अकबर की मोटरसायकल से सोहेल और मुबस्सिर ने रास्ते से आशय महाजन को उठाने के लिए निकले। वकार के सिग्नल मिलने के बाद रात लगभग 10.30 बजे प्लान के मुताबिक मुबस्सिर और सोहेल ने मोटर साइकल अड़ाकर आशय महाजन को रोका और मारपीट कर चाकू दिखाकर मो.सा. पर बिठाकर किडनैप करके गोपालपुरा रोड पर लेकर आयेे।

योजना अनुसार अकबर की मदद से दोबारा चाकू दिखाकर हाथ बांधकर आशय को आरोपी दिलावर द्वारा उपलब्ध कराई गई मारुति स्विफ्ट कार में बैठा दिया। फिर सोहेल मो.सा. चलाकर आगे-आगे खंडवा रोड से मोहम्मदपुर वाले रास्ते होते हुए गोगावा के पास पहुंचा। जहां वकार ने अकबर को फोन किया की तुम गाडी से उतर जाओं और आशय महाजन को मुबस्सिर व सोहेल को सौंप कर रवाना कर दिया।

आशय के अपहरण करने के बाद सबकुछ योजना अनुसार ही चल रहा था लेकिन पुलिस द्वारा त्वरित कार्यवाही करने एवं घटना के संबंध में तत्काल की गई नाकेबंदी और वाहन के संबंध मे कई स्थानों पर प्राप्त किए गए सीसीटीवी फुटेज आदि चेक करने के कारण वकार डर गया और फोन करके अकबर को कहा की आशय को छोड़कर इंदौर की तरफ चले जाओ। तब अकबर और उसके साथी मुबस्सिर व सोहेल ने आशय महाजन को इंदौर हाइवे पर हाथ बंधे हुए ही छोड़कर फरार हो गए एवं उसके बाद वकार भी फरार हो गया।

गठित पुलिस टीम द्वारा 21 अगस्त को मुखबिर सूचना पर से घटना में शामिल अकबर पिता अय्युब खान को सुखपुरी से पकड़ा। अकबर पिता अय्युब खान द्वारा घटना के संबंध मे बताया की वकार शेख, सोहेल खान, मुबस्सिर एवं अकबर द्वारा ही आशय महाजन के अपहरण की घटना को अंजाम दिया गया था। घटना दिनांक से ही वकार शेख, सोहेल खान और मुबस्सिर फरार चल रहे थे। जिनकी गिरफ़्तारी के लिए गठित पुलिस टीम वरिष्ठ अधिकारीगणों के निर्देशन मे लगातार प्रयास कर रही थी।

जिसके परिणाम स्वरूप गत दिवस मंगलवार को रात्री में पुलिस टीम को विश्वसनीय मुखबिर द्वारा सूचना मिली की आशय महाजन का अपहरण करने वाले आरोपिगण इंदौर के इंडेक्स मेडिकल कॉलेज के एक छात्र के अपहरण करने की योजना बनाकर खलघाट हाइवे से इंदौर की ओर जाने वाले है। सूचना से वरिष्ठ अधिकारीगणों को अवगत कराया गया जिनके द्वारा आदेशित किया गया कि बिना समय गवाये हाइवे पर नाकाबंदी कर आरोपियों को पुलिस हिरासत में लिया जाए। गठित पुलिस टीम द्वारा तत्काल रवाना होकर खलघाट हाइवे पर नाकाबंदी की गई।

कुछ देर बाद मुखबिर के बताए अनुसार एक सफेद रंग की स्विफ्ट गाड़ी इंदौर की ओर जाती ही दिखाई दी। जिसे पुलिस नाकाबंदी मंे रोका गया तो उसमे फरार आरोपी वकार शेख, सोहेल खान, मुबस्सिर तीनों मिले। जिनकी तलाशी में तीन मोबाईल एवं फर्जी नंबर प्लेट लगी मारुति स्विफ्ट कार को जप्त किया गया। आरोपी सोहेल से पूछताछ में बताए जानकारी अनुसार बलवाडा के पास से झाड़ियों से घटना में प्रयुक्त चाकू जप्त किया गया।

तत्पश्चात आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि आशय महाजन के अपहरण की प्लानिंग फेल हो जाने के कारण हम कई दिनों तक फरार रहे फिर पुनः योजना बनाई गई कि इंदौर के मेडिकल कॉलेज मे कई रईसों के लड़के पढ़ते है जिनके घरों से अच्छे खासे पैसे मिल सकते है। इसलिए इन लोगों ने इंडेक्स मेडिकल कॉलेज इंदौर के छात्र के अपहरण की योजना बनाई और छात्र के अपहरण के लिए निजी कॉलेज जाकर उसके आने जाने के संबंध मे रैकी कर विस्तृत योजना बनाई थी।

4 आरोपियों को किया गिरफ्तार

पुलिस द्वारा वकार शेख पिता अनवर शेख,उम्र 32 साल, नि. 23, ज्योति नगर बिस्टान रोड खरगोन, सोहेल खान पिता जनाब खान, उम्र 26 साल, जाति मुसलमान, निवासी- केन्द्रीय विघालय के सामने एनवीडीए रेस्ट हाउस बी.के.नगर कालोनी खरगोन थाना मेनगांव, मुबस्सिर पिता अजमत अली, उम्र 22 साल, जाति मुसलमान, नि. 435 अलकापुरी देवास म.प्र. हाल मुकाम दृमोहम्मद खान पुलिस वाले का मकान सुपर पैलेस खजराना इंदौर तथादिलावर पिया नियाज मोहम्मद निवासी ज्योति नगर खरगोन को गिरफ्तार किया है।आरोपियों के पास से जप्त की सामग्रीपुलिस द्वारा आरोपियों के पास एक सफेद रंग की मारुति स्विफ्ट कार, तीन एंड्रॉइड मोबाईल फोन और घटना में उपयोग किया गए एक चाकू जप्त किया है।

कार्यवाही के दौरान अनुभाग अनुविभागीय अधिकारी (पुलिस) अनुभाग खरगोन श्री राकेश मोहन शुक्ला के मार्गदर्शन एवं थाना प्रभारी थाना मेंनगाँव श्री दिनेश कुशवाह व चौकी प्रभारी जैतापूर श्री प्रवीण आर्य के नेतृत्व मे उनि दीपक तलवारे, सउनि दिलीप ठाकरे, सउनि रेखा भलराई, प्रआर विकास, आर श्याम पँवार, आर राजेन्द्र बघेल, आर अर्जुन आर 693 सचिन चौधरी, आर दीपक तोमर, आर सुमित भदौरिया, आर सतीश शर्मा, आर. तवर, आर विजय कनोजे व थाना स्टाफ।

पुलिस अधीक्षक कार्यालय से उनि सुदर्शन कुमार, उनि दीपक यादव, प्रआर आशीष अजनारे, आर.275 अभिलाष डोंगरे, आर 10 मगन अलावा, आर 238 विजयेन्द्र वासकेल, आर. 847 सोनू वर्मा का विशेष योगदान रहा तथा आईजी ऑफिस इंदौर से उनि प्रशांत उपाध्याय, आर. 129 आकाश कलमे, आर 2140 पिंटू जाट, आर रवि मनसोरे आर संजय, आर. 165 आकाश जादोन, आर. 750 भूपेन्द्र सिंह ठाकुर, आर. 673 रोहित लाहिया, राजेन्द्र लोड़वाल का महत्वपूर्ण योगदान रहा।