मध्यप्रदेश राजगढ़ राजनीति

दलित युवक की अमानत हड़पने के लिए हत्या का प्रयास करने वालों की नहीं हो रही गिरफ्तारी।

दलित युवक की अमानत हड़पने के लिए हत्या का प्रयास करने वालों की नहीं हो रही गिरफ्तारी।

थाना प्रभारी के केबिन में भाजपा नैता विश्राम सिंह मीणा पचोर फरियादी को दे रहा धमकी

कबीर मिशन समाचार | राजकुमार मालवीय स्टेट रिपोर्टर मध्यप्रदेश

तलेन – राजगढ़ | दलित युवक मनोज मालवीय को राजगढ़ जिले के तलेन थाने में थाना प्रभारी कक्ष में भाजपा नैता विश्राम सिंह मीणा ने रिपोर्ट लिखवाने पर की गाली गलौज व अनहोनी करने की दी धमकी। युवक ने कार्यवाही करने वा स्वयं की तथा परिवार की सुरक्षा को लेकर थाना प्रभारी को दिया आवेदन। साक्षी स्वयं थाना प्रभारी,बावजूद इसके अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। युवक के उपर हुए जान लेवा हमले में भी अभी तक सहयोगी अपराधियों की गिरफ्तारी भी नहीं हुई है।

मामला राजगढ़ जिले के तलेन थाना का है जिसमें जमीन दिलाने का झांसा देकर 20 लाख रुपए हड़प लिया तथा जमीन की रजिस्ट्री करवाने या पैसे देने का कहकर युवक को दिनेश मीणा, रामस्वरूप मीणा व रामेश्वर मीणा निवासी अबाडा थाना तलेन ने सुनियोजित तरीके से युवक को घर बुलाया और खाली स्टाम्प पेपर पर साइन करने को बोला गया युवक के मना करने पर उसे जहर पिलाकर जान से मारना चाहा। युवक के अनुसार वह वहां से गांव की और भागा जहां से उसे अस्पताल ले जाया गया। जिसकी रिपोर्ट बयान दर्ज कराने थाने गये युवक को थाना प्रभारी के केबिन में बुलाकर जान से मारने तथा परिवार के साथ अनहोनी करने की धमकी देते हुए गाली गलौज की। आखीर भाजपा नैताऔ की इतनी गुंडागर्दी दलितों पर कब तक चलेगी।

भाजपा नेता विश्राम सिंह मीणा का रुतबा इतना है कि 07 जुन से 19 जुन तक रिपोर्ट दर्ज नहीं होने दी गनीमत रही कि सामाजिक कार्यकर्ता और भीम आर्मी के सक्रिय कार्यकर्ताओं तक यह खबर पहुंची सुचना मिलते हि भीम आर्मी ज़िला संरक्षक व पत्रकार रामेश्वर मालवीय, पूर्व ज़िला मुख्य प्रभारी राजकुमार आज़ाद, उपाध्यक्ष मुकेश मालवीय, ज़िला प्रभारी गोकुल मालवीय, तह. अध्यक्ष सारंगपुर डॉ राजेश वर्मा, एवं अन्य साथी देर रात को हि थाने पहुंचे, तथा देर रात रिपोर्ट दर्ज हो पाई फिर भी 307 जेसी धारा नहीं लगाई एमएलसी रिपोर्ट पर टाल दी।

घटना का मास्टर माइंड रामेश्वर मीणा जिसका युवक के पास आए काल में जिक्र है जो मीडिया और सोशल मीडिया पर खुब वायरल है बावजूद इसके उसका नाम दर्ज नहीं किया और 22 जुन तक आरोपीयों की गिरफ्तारी तक नहीं होने दे रहा है। आरोपीयों में एक भाजपा नेता विश्राम सिंह मीणा का भानेज भी शामिल बताया जा रहा है। अब आगे क्या प्रशासन भाजपा गुंडों का समर्थन करेगी या युवक को न्याय दिलाने में मदद करती है।

About The Author

Related posts