नीमच मंदसौर मध्यप्रदेश

त्रिलोक पाटीदार मित्र मण्डल द्वारा जन आक्रोश यात्रा व प्रभारी जीतु पटवारी का किया जोरदार स्वागत

कबीर मिशन समाचार।

भानपुरा। प्रदेश कांग्रेस महासचिव त्रिलोक पाटीदार मित्र मण्डल व क्षेत्र के सैकड़ों कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने आज कांग्रेस कि जन आक्रोश यात्रा व इस क्षेत्र के यात्रा प्रभारी प्रदेश के पुर्व मंत्री जीतु पटवारी का गरोठ भानपुरा मार्ग पर मादंलिया परिसर में आयोजित एक स्वागत समारोह में जोरदार स्वागत किया जीतु पटवारी भानपुरा आगमन पर सबसे पहले त्रिलोक पाटीदार द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में पहुंचे यहां उन्होंने सबसे पहले 90 वर्षीय इस क्षेत्र के वरिष्ठ कांग्रेस नेता सतीश चन्द जोशी का फुलमाला से स्वागत किया और आशीर्वाद लिया और साथ ही वहां उपस्थित अन्य कांग्रेस जनों का भी स्वागत किया उसके बाद ही अपना स्वागत कराया। इस अवसर पर अपने संबोधन में जीतु पटवारी ने कहा कि कांग्रेस जन एकजुट होकर लग जाए और इस भ्रष्ट सरकार को उखाड़ फेंके सभी गुटबाजी से उपर उठकर केवल कांग्रेस के पंजे के निशान के लिए काम करें पार्टी जिसको भी उम्मीदवार बनाए उसे जिताना है।

ओर प्रदेश में कांग्रेस कि सरकार बनाना है और कमलनाथ को मुख्यमंत्री बनाना है आपने कहा कि मतदाता कांग्रेस को सत्ता में बिठाना चाहता है उनका भरोसा केवल कांग्रेस व कमलनाथ पर हे इसे हम सबको साकार करना है। इस अवसर इस क्षेत्र से कांग्रेस के प्रबल दावेदार त्रिलोक पाटीदार, वरिष्ठ कांग्रेस नेता सतीश चन्द जोशी, पुर्व ब्लांक कांग्रेस अध्यक्ष जगदीश चतुर्वेदी, जिला कांग्रेस महासचिव दिनेश मादंलिया, जिला सचिव आलम भाई, अनिल शर्मा, कमल राठौर पार्षद सुमित पाटीदार, राहुल पाटीदार, सहित सैकड़ों कांग्रेस जन उपस्थित थे। इस अवसर पर जिला कांग्रेस अध्यक्ष विपिन जैन, जिला कांग्रेस प्रभारी श्रीमती अर्चना जायसवाल भी उपस्थित थीं। साथ ही आयुष मादंलिया, मोनु बेरा, शुभम सोनी, पुर्व सरपंच राजेन्द्र जैन, राजाराम मेघवाल, गोरधन सेन, किशोर पाटीदार, अमित पाटीदार, दीपक, रोहित नाथ, राम सरकार, शाहरुख़ ख़ान, रोकी गुर्जर, गोपाल सिंह, रोनक मादंलिया, बद्रीलाल विश्वकर्मा, अनिल पाटीदार, बलराम राठौर, रघुनाथ माली, सहित अनेक कांग्रेस कार्यक्रता उपस्थित थे। सभी अतिथियो का त्रिलोक पाटीदार व अन्य कांग्रेस जनों ने स्वागत किया। पुर्व मंत्री जीतु पटवारी ने भी त्रिलोक पाटीदार का फुलमाला पहनाकर स्वागत किया। आभार जगदीश चतुर्वेदी ने माना।

About The Author

Related posts