देश-विदेश राजनीति शिक्षा समाज स्वास्थ

छुआछूत। पानी की बॉटल रखी दूर-गंदा काम करने के बाद भी सफाईकर्मी जाति के लोगों को अपमान

छुआछूत। पानी की बॉटल रखी दूर-गंदा काम करने के बाद भी सफाईकर्मी जाति के लोगों को अपमान

सफाई कर्मचारियों के साथ जातिगत भेदभाव चरम पर

कबीर मिशन समाचार। भारत में प्रधानमंत्री एक तरफ समरसता बात करते है देश में इस देश में जातिवाद जातिगत भेदभाव चरम पर है। इसी का ताजा विडियो सामने आया है जिसमे दिख रहा है की केसे सफाई कर्मी महिलाओ को घर और अपने खुद से दूर हटा कर गंदी बात बोलकर पानी की बॉटल दूर रखकर पानी पिलाया जा रहा है।

विडियो शेयर करते हुए हिमांशु वाल्मीकि ट्विटर यूजर ने लिखा की – गंदा काम करने के बाद भी सफाई कर्मी जाति के लोगो को अपमान सहना पड़ता है, यही इस देश की सच्चाई है।मगर उनको पानी तक देने मे इनका धर्म नष्ट होता है।लोग कहते हैं कि अब ऊंच-नीच जात-पात नही रहा, मगर आज भी ऊंच-नीच बरकरार है। बधाई हो हिंदू राष्ट्र में आपका स्वागत है।

ट्विटर पर अभिषेक गोतम नाम के यूजर ने लिखा की ये आज की हकीकत है जो लोग समझते हैं कि जात पात ऊंच नीच खतम हो गई है ये तो दिखावा मगर असल जिंदगी में जो हम लोगो की गंधकी उठाते हैं ये लोग कम ना करे तो लोगो को पता चलेगा की एन्की कीमत क्या है।

वही दिपु सिंह बीएसपी नाम के एक यूजर ने लिखा की हमें लगता है इस महिला के घर गंदगी होगी क्योंकि जब ये एक महिला जो देश को साफ रखती है उसको नहीं छो सकती तो ये अपने घर की गंदगी को बिल्कुल नहीं छूटी होगी अब आरक्षण का विरोध करने वाले कहां हैं।

About The Author

Related posts